loading...

सुंदर भान्जी के साथ चुदाई- Sundar Bhanji Ke Saath Chudai

प्रेषक : गोलू …

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम गोलू है और में छत्तीसगढ़ का रहने वाला हूँ। मेरी हाईट 5 फीट 7 इंच है और में दिखने में एकदम ठीक-ठाक हूँ। दोस्तों में आज आप सभी को अपनी एक कहानी सुनाने जा रहा हूँ और यह एक सच्ची घटना है जो मेरे साथ 2012 में घटित हुई थी। में उस समय वहां एक कम्पनी में नौकरी कर रहा था तो उस समय संगीता की माँ से मेरी जान पहचान हो गई और धीरे धीरे वो मुझे अपना भाई मानने लगी और में अपनी छुट्टियों के दिन शनिवार और रविवार वहीं पर रहता था और में जो कहानी सुनाने जा रहा हूँ वो संगीता और मेरे बीच की है। संगीता की उम्र 18 साल थी और उसके फिगर का साईज 32-28-32 था और वो दिखने में भी बहुत सुंदर थी। दोस्तों संगीता की चाल बहुत ही मस्त थी और जब वो चलती है तो गजब ढाती थी और इसी तरह हम दोनों में जान पहचान हो गई और वो और में एक दूसरे को चाहने लगे और जब कभी भी में उसके घर पर जाता तो हम एक दूसरे को गले मिलकर आई लव यू बोलते थे।

फिर धीरे धीरे हमारी बात किस तक जा पहुंची और उसे किस करने से भी लिप किस करना ज्यादा पसंद है तो हम लिप किस करते थे। उसे चॉकलेट खाना बहुत ज्यादा पसंद था इसलिये में हमेशा उसके लिए चॉकलेट लेकर जाता था। वो चोकलेट तभी लेती थी जब में चोकलेट अपने लिप्स में पकड़कर उसके लिप्स में देता था। यह सिलसिला कुछ दिन तक ऐसे ही चलता रहा और फिर में जब भी उसके घर रुकता तो वो मुझे गुड नाईट कहकर अपने रूम में चली जाती थी। संगीता कभी कभी मेरे ऊपर सो जाती थी और अपनी कुरती को ऊपर कर लेती थी ताकि दोनों के शरीर टच हो और फिर हम लिप किस करते थे। हमारा यह सिलसिला कुछ दिनों तक जारी रहा फिर लिप किस करना बूब्स को दबाना, मसाज करना आम बात होने लगी। में उसके नरम मुलायम बूब्स को आम बोलता था।

एक बार जब में उसके यहाँ पर रात रुका तो उसकी माँ, संगीता और में हम तीनों ही थे और तब यह घटना घटी। उस रात को वो मेरे रूम में गुड नाईट बोलने के लिए आई तो मैंने उससे पूछा कि क्या कुछ करना है? तो वो बोली कि क्या करना है? मैंने कहा कि सेक्स, तो वो बोली ठीक है, लेकिन ऐसा करने से कोई समस्या तो नहीं होगी ना? फिर मैंने कहा कि नहीं कुछ नहीं होगा और अगर तुम्हे दर्द भी होगा तो मेरे पास उसका भी इलाज है और फिर वो सेक्स के लिए तैयार हो गई। फिर हमने लिप किस किया और में उसके बूब्स को दबाने लगा फिर हम एक दूसरे के होंठो को चूसने लगे और वो मोन कर रही थी जो मुझे और भी ज्यादा गरम कर रहा था। फिर में उसके बूब्स को सक करने लगा तो उसने मुझसे कहा कि वाह मुझे बहुत मज़ा आ रहा है और फिर 15 मिनट सक करने के बाद हमने एक दूसरे के कपड़े उतारे। उसने पहले से ही अपनी चूत को और जिस्म के हर एक हिस्से के बालों को साफ किया हुआ था, शायद वो भी पहले से ही मेरे साथ सेक्स करना चाहती थी और मैंने देखा कि उसकी चूत बहुत मस्त थी। मैंने उससे कहा कि मेरे लंड को छुओ। फिर उसने मेरे लंड को छुआ तो मुझे ऐसा लग रहा था जैसे कि में स्वर्ग में पहुंच गया हूँ और थोड़ी ही देर बाद लंड को हिलाने के बाद मेरे कहने पर उसने मेरे लंड को किस किया और अपने मुहं में ले लिया। दोस्तों में आपको बता नहीं सकता कि मुझे कैसा लग रहा था। जब उसने मेरे खड़े लंड को अपनी जीभ घुमाते हुए अपने मुहं में ले लिया तो ऐसा अहसास मुझे आज तक कभी भी नहीं हुआ जैसा उस दिन हुआ था। फिर वो 15 मिनट तक सक करती रही और जब वीर्य निकलने वाला था तो उसने वीर्य को नीचे गिरा दिया।

फिर में भी उसे खुश करने के लिय उसकी चूत को चाटने लगा, उसका स्वाद बहुत ही स्वादिष्ट था और वो एकदम पागल हुए जा रही थी। उसे यह इतना अच्छा लग रहा कि जब वो झड़ी तब थोड़ी देर आराम करने के बाद मैंने उससे कहा कि मुझे तुम्हे चोदना है। फिर वो बोली कि ठीक है चोद लो। मैंने उससे कहा कि आगे नहीं पीछे से तो पहले तो उसने बहुत मना किया और कहा कि मैंने इसके बारे में सुना नहीं है कि ऐसा भी होता है, लेकिन मेरे समझाने पर वो मान गई और उसने कहा कि पहले कंडोम लगा लो। फिर मैंने वेसा ही किया, मैंने कंडोम लगाया और उसे झुककर खड़े होने को कहा तो वो खड़ी हो गई। फिर में लंड को उसकी गांड पर धीरे धीरे दबाने लगा, लेकिन मेरा लंड अंदर नहीं जा रहा था और मुझे दर्द हो रहा था क्योंकि यह मेरा पहला टाईम था। फिर उसने मेरे लंड को पकड़ा और मैंने एक ज़ोर से धक्का मारा तो मेरा लंड 5 इंच अंदर चला गया और वो दर्द के कारण ज़ोर ज़ोर से रोने लगी और चीखने चिल्लाने लगी और कहने लगी कि प्लीज बाहर निकालो नहीं तो में मर जाऊँगी। फिर में लंड को बाहर निकालकर उसे लिप किस करने लगा और जब उसका दर्द थोड़ा कम हुआ तो मैंने फिर से चोदना शुरू किया और इस बार भी उसे दर्द हुआ, लेकिन थोड़ा कम और उसकी गांड से थोड़ा खून निकल रहा था। फिर थोड़ी ही देर में उसे भी मज़ा आने लगा और वो अपनी गांड को उठा उठाकर मेरा साथ देने लगी और करीब 20 मिनट की चुदाई के बाद में झड़ने वाला था और वो दो बार झड़ चुकी थी। दोस्तों ये कहानी आप AntarVasnaSEX.Net पर पड़ रहे है।

मजेदार कहानी:  धोखेबाज गर्लफ्रेंड की माँ को चोदा

फिर में मेरी उंगली से उसे चोदने लगा था और जब में उसकी गांड में झड़ा तो उसके बाद हम दोनों ने थोड़ी देर बेड पर लेटकर आराम किया और वो मुझसे कहने लगी कि गोलू तुम बहुत अच्छे हो तुमने आज मुझे जन्नत में पहुंचा दिया और मुझे आज मेरी गांड को चुदवाने में बहुत मजा आया और फिर वो सोने चली गई। फिर दूसरे दिन सुबह हमने फिर से किस किया और मैंने उसके बूब्स दबाए और फिर में उसके घर से चला गया क्योंकि मुझे ऑफिस जाना था। फिर उसके बाद जब में अगले शनिवार को उसके घर पर गया तो वो दरवाजे पर ही लिप किस करने लगी और हमने एक दूसरे के मुहं से चॉकलेट खाई। उस रात हमने ज्यादा कुछ नहीं किया क्योंकि उसकी माँ सोई नहीं थी तो हमने लिप किस किया और मैंने थोड़ी देर उसके बूब्स चूसे और उसके बाद वो मुझे पिछले सप्ताह के लिए धन्यवाद बोली और सोने चली गई। फिर अगले दिन फिर हमने किस किया और वो बोलने लगी कि प्लीज आज मुझे चोदना नहीं और आज उसकी आवाज़ इतनी सेक्सी थी कि मेरा मन कर रहा था कि उसके कपड़े फाड़कर उसे वहीं पर चोद दूँ, लेकिन उसकी मम्मी दूसरे रूम में थी। फिर हमने कुछ नहीं किया और दोस्तों जब भी में उसके घर पर जाता था तो वो ब्रा नहीं पहनती थी क्योंकि कभी भी मुझे मौका मिलने पर वो मुझे अपने बूब्स को सक करने देती थी। फिर दिन भर तो किस और बूब्स को चूसने में निकल गया और जब रात हुई तो वो मेरे रूम में आई और बोली कि मम्मी सो गई है, आज रात मुझे चोदो ना प्लीज। फिर मैंने कहा कि आज में सामने से चोदूंगा तो वो मना करने लगी और कहने लगी कि जब मुझे तुम उंगली से चोदते हो तो मुझे उतना मज़ा नहीं आता जैसा पिछले शनिवार को आया था, प्लीज एक बार फिर वैसे ही पीछे से चोदो ना। फिर मैंने कहा कि मेरी रानी मेरे लंड से एक बार आगे से चुदकर तो देखो अगर तुम्हे मज़ा नहीं आए तो बोलना। फिर हमने एक दूसरे के कपड़े उतारे, लिप किस, बूब्स सक किए हमे ऐसा करते हुए एक घंटा हो गया और फिर वो मेरे लंड को 5 मिनट तक चूसती रही और फिर थक गई और बोली कि प्लीज अब मुझे चोदो ना, में अब और इंतजार नहीं कर सकती, प्लीज जल्दी से चोदो ना मुझे।

मजेदार कहानी:  शादी की सालगिरह बेटे के साथ: Saadi ki salgirah bete ke sath

दोस्तों मुझे उसका यह सब मुझसे कहना और अपनी चुदाई के लिए आमन्त्रित करने का अंदाज़ बहुत अच्छा लगा और आज भी मेरे कानों में उसकी वही आवाज़ आती है। फिर में उसकी कामुक चूत को अपनी एक उंगली और जीभ से चोदने लगा और वो अपनी गांड को उठा उठाकर मेरा लंड अपनी चूत की गहराईयों में लेने की कोशिश करने लगी और में बहुत मज़े से उसकी चूत को चोदने लगा और कुछ देर के बाद वो बोली कि प्लीज अब मेरी इस प्यासी चूत के अंदर अपना लंड डालो ना, मुझे तुम्हारा लंड अपनी चूत के अंदर महसूस करना है और थोड़ी देर उसे परेशान करने के बाद जब वो झड़ गई तो फिर उसने कहा कि प्लीज चोदो ना मुझे और अब मुझसे उसकी सेक्सी आवाज़ सुनकर रहा नहीं गया और जैसे ही में लंड को उसकी चूत के पास लेकर गया तो वो बोली कि रूको पहले कंडोम लगा लो। फिर मैंने कंडोम लगाया और एक ज़ोर का धक्का मारा तो मेरा आधा लंड फिसलता हुआ अंदर चला गया और उसकी आँखों से आंसू बाहर आने लगे। फिर में एकदम से रुका और उससे पूछने लगा कि क्या हुआ? तो उसने कहा कि कुछ भी नहीं, प्लीज तुम तो मुझे लगातार चोदो। दोस्तों तो फिर क्या था? मैंने फिर से एक ज़ोरदार धक्का लगाया तो मेरा पूरा लंड अंदर चला गया और उसकी आँख से और भी तेज़ी से आँसू बाहर आने लगे।

तो वो मुझसे बोलने लगी कि प्लीज रूको मत, चोदते रहो और फिर करीब एक मिनट चोदने के बाद में अचानक से रुक गया तो वो बोलने लगी कि क्या हुआ अब क्यों रुक गये? तो मैंने कहा कि तुम्हारी चूत से खून निकल रहा है और जब मैंने लंड को चूत से बाहर निकालकर देखा तो कंडोम पर भी खून लगा हुआ था फिर क्या था कंडोम को उसने निकालकर फेंक दिया और मुझसे कहा कि मुझे चोदो ना प्लीज बहुत मजा आ रहा है और फिर 20 मिनट तक लगातार बिना रुके चोदने के बाद में झड़ने वाला था और तब तक वो तीन बार झड़ चुकी थी। फिर उसने मुझसे कहा कि अपना वीर्य अंदर मत निकालना। फिर वो लंड को चूत से बाहर निकालकर हाथ में लेकर ज़ोर ज़ोर से हिलाने लगी और मुझसे कहने लगी कि वाह मुझे बहुत मज़ा आया, हम ऐसा रोज़ नहीं कर सकते क्या? तो मैंने कहा कि मेरी रानी मुझे ऑफिस जाना होता है, अगर में यहाँ पर रहूँगा तो लेट हो जाऊंगा। फिर हम सो गये और हमारी यह लव स्टोरी कुछ सालों तक चलती रही। फिर में वहां से करीब दो साल के बाद अपनी नौकरी छोड़कर छत्तीसगढ़ आ गया, लेकिन अभी भी हमारे बीच बातचीत होती रहती है ।।

मजेदार कहानी:  अंकल ने मुझे अपने दोस्त से चुदवाया

धन्यवाद …