loading...

किरायेदार को अपने बच्चे की माँ बनाया

प्रेषक : नितिन

सभी भाई और उनकी बहनो को मेरा सादर नमस्कार। दोस्तों मेरा नाम नितिन है और मेरी उम्र 27 साल हाईट 6 फीट 3 इंच, कलर गौरा, वजन 80 किलो और में कुवांरा हूँ और दिल्ली का रहने वाला हूँ। दोस्तों में आज एक अपनी स्टोरी आप सभी से शेयर कर रहा हूँ जो की आज से 18 महीने पहले की है। हमारा घर दिल्ली में है लेकिन में भुवनेश्वर में बिजनेस करता हूँ। यहाँ पर मेरा एक तीन कमरों का फ्लेट है जहाँ पर में अकेला रहता था।

मुझे बड़े घर में अकेले रहना अच्छा नहीं लगता था इसलिए मैंने एक बेडरूम छोड़ कर बाकी घर रेंट पर दे दिया। किराए में एक फेमिली रहने आई जिसमे हसबेंड, वाईफ और बच्चे थे। हसबेंड एक कम्पनी में काम करता है बच्चा 1st क्लास में पढ़ता है और बीवी हाउस वाईफ है। वो लोग उत्तर प्रदेश के रहने वाले हैं एक समान उम्र होने के कारण हम सब लोग आपस में जल्दी घुल मिल गये।

मेरे बिजनेस में मुझे फ्राईडे को छुट्टी मिलती है जबकि विनीत ( उम्र 32 साल, वजन 65, हाईट-5 फिट 4 इंच, कलर- ब्लेक) को सनडे को छुट्टी मिलती है। फ्राईडे को छुट्टी होने से में सारा दिन घर में मीनू ( उम्र 27 साल, कलर पूरा वाईट, वजन 72 किलो, फिगर 36, 32, 38 उसके बाल बहुत लम्बे और काले है। ) के साथ रहता हूँ। मीनू बहुत अच्छी है। वो किसी को कुछ देखने नहीं देती, मेरा उसके साथ रिलेशन एक अच्छे दोस्त जैसा था।

तभी एक दिन जब वो नहा रही थी तो मुझे ज़ोर से चिल्लाने की आवाज़ सुनाई पड़ी। घर में विनीत नहीं था तो में बाथरूम के डोर के पास जाकर पूछने लगा कि क्या हुआ? लेकिन कुछ जवाब नहीं आया फिर में पांच मिनट वेट किया फिर भी कुछ नहीं तभी मैंने लॉक तोड़ दिया और अंदर घुस गया तो देखा कि मीनू को गीजर से इलेक्ट्रिक झटका लगा है और वो बेहोश हो कर नीचे पड़ी है। उस वक़्त वो सिफ्र टावल में थी और उसका एक बूब्स बाहर निकाला हुआ था।

तभी में घबरा गया और फिर मैंने उसको उठा कर बेड पर लेटा कर कंबल ओढ़ा दिया। फिर डॉक्टर और विनीत को बुलाया दो तीन दिन में वो बिल्कुल ठीक हो गई। क्योंकि मैंने उसकी जान बचाई थी इसलिए विनीत और मीनू मुझसे बहुत खुश थे लेकिन जब से मैंने उसके बूब्स देखे थे, मेरी रातो की नींद उड़ गई। अब में उसके सपने देखने लगा और सोचने लगा कि कैसे उसके साथ सेक्स करूं? तभी अगले फ्राईडे में जब घर मे था उस दिन वो सारा दिन मेक्सी में थी और उसने अंदर भी कुछ नहीं पहना था। फिर मेरी नज़र बार बार उसके बूब्स पर जा रही थी। तभी उसने ये बात नोटीस कर लिया और बोली यह सब ठीक नहीं है। फिर मैंने सॉरी बोला और कहा जब से तुम्हे बाथरूम मे नंगा देखा है मुझसे कंट्रोल नहीं हो रहा है। तभी वो हड़बड़ा गई और उठ कर चली गई। में अब समझ गया इसको चोदना कोई आसान काम नहीं है। दोस्तों ये कहानी आप कामुकता डॉट कॉम पर पड़ रहे है।

फिर मैंने एक प्लान बनाया और उससे पहले जैसा बरताव करने लगा। तभी कुछ दिन बाद वो भी फिर से मेरे साथ फ्री होकर मिलने लगी। तभी विनीत को कंपनी से 15 दिन ट्रैनिंग के लिए बेंगलोर जाना पड़ा। तभी में समझ गया कि यही बहुत अच्छा मौका है। फिर मैंने मेरे एक केमिस्ट दोस्त से पूछ कर एक मेडिसिन लाया और आईसक्रीम में मिला कर उसको खिला दी।

मजेदार कहानी:  शब्बो भाभी चुसवा आई किशमिश 2 (Shabbo Bhabhi Chuswa Aai Kishmish 2)

फिर रात दस बजने के बाद बच्चा सो गया और वो भी सोने के लिए बेडरूम में चली गई। तभी मेडिसिन ने अपना काम करना शुरू कर दिया तो वो सो नहीं पाई। फिर करीब 11.30 बजे मैंने दरवाजा खट खटाया उसको कहा कि फिल्टर में पानी नहीं है क्या तुम किचन से मुझे पानी दे सकती हो? तो वो रूम से बाहर आई और किचन में गई में भी उसके पीछे किचन में चला गया।

तभी जब वो झुककर फिल्टर से पानी निकाल रही थी, तभी मैंने उसे पीछे से दबोच लिया। वो गुस्सा हो गई और पलट कर उसने मुझे एक थप्पड़ लगया। मैंने बुरा ना मानते हुए उसको ज़ोर से पकड़ा और लिप किस करने लगा। तभी उसने अपने सारे नाख़ून मेरी पीठ मे गड़ा दिये लेकिन मैंने उसको नहीं छोड़ा और किस करता गया। फिर पांच मिनट बाद उसने हाथ पैर मारना बंद कर दिया, तभी में समझ गया मुझे ग्रीन सिग्नल मिल गया है।

फिर में उसको गोद में उठाकर अपने रूम में ले गया और बेड पर उसे लेटा दिया। फिर मैंने दरवाजा अंदर से बंद कर दिया लेकिन वो बहुत डर गयी थी और बोली प्लीज मुझे छोड़ दो। तभी में बोला डरो मत में तुम्हे कुछ नहीं करूँगा सिर्फ़ दो किस करूँगा। फिर वो चुप हो गई। फिर मैंने बेड पर बैठकर उसके हाथ को अपने हाथ में रखा और उसे एक किस किया लेकिन अब वो कुछ नहीं बोली।

फिर में उसकी चूड़ीयों से खेलने लगा और धीरे धीरे किस करते हुए ऊपर बढ़ने लगा और कंधे तक पहुँच गया। फिर गले को किस किया, फिर से होंठो पर किस किया। उसके सारे फेस पर किस किया और हेयर रिबन खोल दिया हेयर रिबन खोलने के बाद वो एक अप्सरा की तरह दिख रही थी। उसके बाल बहुत लंबे और घने काले थे। तभी में बोला अगर तुम शादीशुदा नहीं होती तो में तुमसे ही शादी करता और तुम बहुत ही सुंदर हो।

फिर वो चुप थी लेकिन उसकी धड़कन बढ़ गई थी। उस रात उसने एक मेहरून कलर की सिल्क साड़ी पहनी थी जो कि उसके रूप को चार चाँद लगा रही थी। फिर मैंने उसके पल्लू को छाती से उठा दिया रेड कलर के ब्लाउज में उसके बूब्स ग़ज़ब दिख रहे थे। फिर मैंने उसकी साड़ी उतारनी चाही तो वो मना करने लगी, मुझे थोड़ा गुस्सा आया और मैंने एक ही झटके में साड़ी को खीँचकर उतार दी। अब वो पेटीकोट और ब्लाउज में थी।

मजेदार कहानी:  मम्मी ने किरायेदार से चूत चुदवाई

फिर मैंने अपनी पेंट उतार दी और में सिर्फ़ अंडरवियर में था। अब मेरा लंड पूरा तना हुआ था जो कि अंडरवियर के ऊपर से नज़र आ रहा था। फिर मैंने उसका ब्लाउज खोलना चाहा तो वो फिर से मना करने लगी। तभी मैंने उसको छोड़ दिया और बेड से उतर कर खड़ा हो गया। फिर बोला कि देखो मीनू में तुम्हारा रेप नहीं करना चाहता हूँ। लेकिन तुम्हारे बिना रह भी नहीं सकता। तभी बोलते बोलते मैंने अपनी अंडरवियर भी उतार दी और मेरा 6.5 इंच का लंड लौहे जैसा तना हुआ था।

तभी यह देखकर उसकी आंखे खुली की खुली रह गई और वो गहरी सोच में पड़ गई और एक दो मिनट बाद बोली सात आठ दिन पहले मेरा पीरियड था और अभी में प्रेग्नेंट हो गई तो? तभी यह बात सुनकर मुझे ऐसा लगा जैसे किसी ने मुझे अकबर का ताज पहना दिया हो। फिर में हंस पड़ा और बोला चिंता मत करो में तुम्हे एक आई पिल ला दूँगा और तुम उसे खा लेना तुम्हे कुछ नहीं होगा। तभी में बेड पर फिर से बैठ गया और ज़ोर से मीनू को गले लगाने लगा और फिर उसने भी मेरा साथ देना शुरू कर दिया।

फिर में धीरे धीरे उसके ब्लाउज का बटन खोलने लगा और मैंने एक के बाद एक सारे बटन खोल दिए। उसने अंदर पिंक कलर की ब्रा पहनी थी जो दोनो 32 साईज़ के गोरे बूब्स को संभाल नहीं पा रही थी। फिर मैंने उसे भी खोल दिया और फिर देखा उसके दोनो बूब्स बिल्कुल तने हुए हैं। बड़े बड़े रंग गुलाबी है और चुची थोड़ी सी ब्राउन कलर की है। यह देखकर में पागल हो गया और बूब्स को चूसने लगा और लेफ्ट बूब्स को मसलने लगा। तभी मैंने एक बूब्स को ज़ोर से काट लिया तो वो चिल्लाने लगी।

फिर में बोला जन्म से भूखा हूँ। मुझे आज खाने को मिला है तो चिल्ला रही हो और तभी वो हंस पड़ी। में करीब दस मिनट बूब्स चूसता रहा और इतने में ही वो एक बार झड़ गई। तब में नीचे की और जाने लगा और उसका पेटिकोट भी खोल दिया। अंदर वो कुछ नहीं पहने थी और उसकी चूत पर एक भी बाल नहीं था। सर को छोड़ कर बाकी शरीर मे एक भी बाल नहीं था उसकी चूत एकदम सॉफ्ट और मुलायम थी।

फिर में एक उंगली उसकी चूत में डाली तो मालूम पड़ा की चूत पहले से ही पूरी तरह से गीली हो चुकी थी। में फिर से उसके सारे बदन में किस करने लगा तो उसका रोम रोम सिहर उठा वो मुझसे मन्नत करने लगी और कहने लगी प्लीज देर मत करो जल्दी चोदना शुरू करो। तभी मैंने कहा कि तुम पहले मेरे लंड को चूसो फिर सेक्स करेंगे। फिर वो बोली नहीं में ये सब नहीं करती।

मैंने कहा कि प्लीज एक बार करके तो देखो अगर तुम्हे अच्छा नहीं लगे तो तुम छोड़ देना। तभी वो राज़ी हो गई और मैंने लंड उसके मुहं मे दे दिया और फिर उसने चूसना शुरू कर दिया। तभी एक मिनट बाद उसे भी मज़ा आने लगा और दस मिनट चूसने के बाद में उसके मुहं में ही झड़ गया और उसने सारा वीर्य पी लिया और बोली मुझे मालूम नहीं था कि सेक्स इतना मज़ेदार हो सकता है, विनीत ने कभी ऐसा किया ही नहीं। तभी में बोला अभी तो शुरू हुआ है तुम आगे आगे देखो में तुमको क्या मज़ा देता हूँ।

मजेदार कहानी:  भाभी के सामने मुठ मारी | देवर भाभी की हॉट कहानी

फिर चार पांच मिनट किस करने के बाद मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया। तभी मैंने उसको अपने पैर ऊपर करके पकड़ने के लिए बोला तो वो पैर ऊपर करके लेट गई। फिर मैंने एक ज़ोर का झटका मारा तो पूरा लंड चूत मे घुस गया और डाइरेक्ट उसकी चूत की गहराई से टकराया। तभी वो ज़ोर से चीख पड़ी इतनी ज़ोर से चीखी के सारा घर आवाज़ से गूँज उठा। फिर में बोला कि एक बच्चे को जन्म दे चुकी हो फिर भी इतनी जो की आवाज़। वो बोली मेरे पति का लंड चार इंच से ज़्यादा अंदर कभी घुसा ही नहीं।

फिर में ज़ोर ज़ोर से झटके मारने लगा और स्पीड बड़ाता गया। दस मिनट के बाद वो बोली में झड़ने वाली हूँ। में फिर भी चोदता रहा एक मिनट के बाद मुझे भी लगा कि में भी झड़ने वाला हूँ। तभी वो बोली जल्दी अपना लंड बाहर निकालो लेकिन मैंने उसकी एक नहीं सुनी। एक मिनट बाद उसकी चूत बिल्कुल लॉक हो गई और मेरा लंड उसकी चूत के अंदर रह गया और मेरा सारा वीर्य उसकी चूत में चला गया।

उस रात मैंने उसको आठ बार 10-12 पोज़ में चोदा। वो बोली उसका पति सिर्फ़ सन्डे को ही सेक्स करता है और वो भी दस मिनट इसलिए सेक्स से उसका इंटेरेस्ट कम हो गया था। फिर अगले 12 दिन तक में रोज उसे कम से कम दिन में चार बार चोदता और एक पूरी रात तो मैंने अपना लंड उसकी चूत के अंदर रख कर रात बिताई। तभी अगले महीने मालूम चला कि वो प्रेग्नेंट हो गयी है और विनीत नहीं चाहता था ये बच्चा रखना लेकिन मीनू ने मना कर दिया और फिर अभी तीन महीने पहले मीनू ने एक बेटे को जन्म दिया है और जन्म होने के बाद मीनू ने मुझे बताया कि ये मेरा बेटा है। अब में हर फ्राइडे को अपने बेटे का दूध उसकी माँ के बूब्स से पीता हूँ। लेकिन अब हम सेक्स बिना कॉंडम के नहीं करते। अब मीनू अपनी बहन की शादी मुझसे करवाना चाहती है ताकि हमारा रिश्ता हमेशा के लिए बरकरार रहे।

लेकिन मैंने उसे बोला पहले में तुम्हारी बहन को चोदूंगा अगर वो तुम्हारी जितनी मजेदार है तो फिर में उससे शादी करूँगा। पहले तो वो राज़ी नहीं थी लेकिन अब राज़ी हो गयी है और अपनी बहन को तीन दिन पहले यहाँ दिल्ली बुलाया है। जब में उसे भी चोद लूँगा, तब वो स्टोरी भी आप सब के साथ शेयर करूँगा ।।

धन्यवाद …