loading...

दिल्ली की शादीशुदा आंटी की चुदाई

प्रेषक : इमरान खान
हाय दोस्तों मेंरा नाम इमरान ख़ान है और में जम्मू कश्मीर से हूँ मेरी उम्र 27 साल है मेरे लंड का साइज़ 7 इंच लंबा है 3 इंच मोटा है में कंप्यूटर इंजिनियर हूँ में पहली बार इसमें अपनी स्टोरी लिख रहा हूँ उम्मीद है इसे पढ़ने वाली गीली चूत और खड़े लंड वालो को पसंद आयेगी अब में आपको बताता हूँ की मुझे कंपनी की मीटिंग के कारण मुझे दिल्ली जाना पड़ा जिस दिन मीटिंग थी में सुबह उठ के जल्दी से अपने कपड़े पहने और मेट्रो स्टेशन की तरफ रिक्शे में बैठ गया जैसे ही में रिक्शे से उतरा मेरी नज़र एक आंटी पर पड़ी वो भी रिक्शे से उतर रही थी क्या बताऊं क्या कयामत लग रही थी में तो उसका दीवाना हो गया आपको बता दूँ आंटी दिखने में 40-36-46 थी उसने रेड कलर की साड़ी पहनी थी और उसमें उसके दूध और उसकी गांड क्या ग़ज़ब दिख रही थी की में अपनी मिटिंग भूल गया.

अब हम दोनो स्टेशन की तरफ जाने लगे तो वो भी मेरे साथ ही रेग्युलर कमपार्टमेंट में आ गई भीड़ बहुत होने के कारण वो मेरे साथ ही खड़ी रही में अपने आपको आंटी के करीब लाने की कोशिश में कामयाब हो गया और अपना लंड जो की आंटी को देखते ही खड़ा हो गया था और उसकी गांड से घिसने लगा स्टेशन पर रुकने की वजह से उसको शक भी नही हुआ की में जान बूझ के यह कर रहा हूँ फिर अचानक जब लास्ट स्टेशन पर उतरना था तो उसको शक हो गया की में जानबूझ के उसके पीछे उसकी गांड में लंड घिस रहा हूँ उतने में स्टेशन आया हम उतर गये मेरा पारा चड चुका था में रुका और उनको एक्सक्यूस मी कह के पता पूछने लगा.

मेंने कहा में पहली बार मेट्रो मे सफ़र कर रहा हूँ प्लीज आप मेरी मदद करो मैने अपना परिचय दिया उन्होंने भी अपना नाम रागीनी बताया और कहा की वो एक प्राइवेट फर्म में काम करती है और उसके पति दुबई में काम करते है वो अपनी 3 साल की बेटी के साथ रहती है वो भी वहीं रहती थी जहाँ हमारी कंपनी की अकॉमोडेशन थे में खुशी से समा नही रहा था उसने अपने फ्लेट का एड्रेस दिया मेंने अपना फोन नम्बर दिया और में मीटिंग के लिये निकल गया शाम को जब में मीटिंग से वापस आया तो मेंने बाथरूम में जाकर उसके नाम की मूठ मारी दो बार बाथरूम से बाहर आकर में बेड पर लेटा ही था की फोन कॉल आया.

मजेदार कहानी:  सोनल जी की चुदाई (Sonal ji ki chudai)

मेंने देखा कोई अनजान नम्बर था जब हेलो किया तो उसी आंटी का था उसने मेरा नाम पूछा और कहा आप आ गये कैसी रही मीटिंग मेंने कहाँ मीटिंग वाज़ गुड लेकिन एक बात बोलूँ उसने कहा क्या मेंने कहा बुरा तो नही मानोगे तो उस पर आंटी ने बोला नही बोलोगे तो शायद मान जाऊंगी मेंने बिना देर किये कह दिया ई वाज़ मिस्सिंग यू इन मीटिंग उसके बाद उसने फोन काट दिया में कॉल कर रहा हूँ वो काट रही है लगभग रात के 12 बजे होंगे रागीनी का फोन आया और कहा हेलो के बदले वो कहने लगी क्या हम कल मिले आप मेरे घर पर आ जाना मेंने हाँ कहा और उसने फोन काट दिया फिर मेंने उसके नाम की मूठ मारी और सो गया.

सुबह जब ऑफीस का काम ख़त्म किया तो रागीनी ने फोन किया में आपका वेट कर रही हूँ आप आ जाओं में कपड़े पर पर्फ्यूम लगा के उसके फ्लेट पर पहुँचा जैसे ही बेल की आंटी ने दरवाज़ा खोला क्या बताऊँ दोस्तो उसने ब्लू कलर का टॉप और शॉर्ट जीन्स में आंटी क्या क़यामत लग रही थी डीप कट टॉप मेरा लंड तो आंटी को देखते ही खड़ा हो गया अंदर आकर आंटी को देखने लगा में सोफे पर बेठा और आंटी जूस लेकर आई जैसे ही वो थोड़ा झुकी मेरी नज़र उसके बूब्स पर पड़ी और हाथ से जूस का ग्लास मेरी पेन्ट पर गिर गया आंटी बोलने लगी सॉरी सॉरी और टिश्यू पेपर उठा कर टेबल से मेरी पेन्ट पर पूछने लगी और जूस को साफ़ करने लगी जिसकी वजह से मेरा 7 इंच का लंड खड़ा होने लगा आंटी को पता चल गया की मेरा लंड कड़क हो चुका है क्योकी टिश्यू से साफ़ करते समय आंटी का हाथ मेरे लंड को टच हुआ और वो मुझे हाथ पकड़ के अपने बेडरूम में ले गई जहाँ उसने मुझे अपने पति के कपड़े दिये और मेरी पेन्ट साफ़ की और सुखाने के लिये रख दी.

उतने में 11 कब बज गये पता ही नही चला मगर मेरी पेन्ट अभी तक गीली ही थी और में घर नही जा सकता था तो आंटी ने ज़िद्द की की आप यही रुक जाओ तो मेंने अपने फ्रेंड्स को कॉल की की में दूसरे दोस्त के पास हूँ रात भर के लिये में कल आऊँगा उसके बाद हम बातें करने लगे मेंने पूछा आपके पति कब आयेंगे उसने जवाब दिया 3 महीने के बाद मेंने पूछा आपको याद नही आती आप कैसे उनके बिना रह पाती हो तो उस पर उसने रोना स्टार्ट किया अब में उसके पास आकर बैठ गया और अपना हाथ आंटी के शोल्डर पर रखा और सहलाने लगा और दूसरा हाथ आंटी की जांघ पर रखा मेंने आंटी की माथे पर किस किया जो नोर्मल था मगर फिर मेरा हाथ आंटी के बूब्स पर टच हुआ जो की शोल्डर पर था.

मजेदार कहानी:  चाची के पैर दबाने का सौभाग्य

जिसका आंटी ने कोई रियेक्शन नही किया वो गर्म हो चुकी थी क्योकी उसके पति ने पता नही कब चोदा होगा उसको मुझे पता भी नही था फिर अचानक आंटी ने मुझे कस के गले से लगाया और मुझे किस की जिससे में भी जोश में आया और मेंने अपना लिप्स आंटी के लिप्स पर रख दिया और स्मूच करने लग गया कुछ 15 मिनिट तक मेंने आंटी को स्मूच की और उसके बूब्स टॉप के उपर से ही दबा रहा था आंटी ने अपना एक हाथ मेरे लंड पर रखा और मसलने लग गई फिर मेंने आंटी का टॉप निकाला क्या नज़ारा था ब्लेक ब्रा में बंद चूचीयाँ बाहर आने को तड़प रही थी मेंने एक चूची मुँह में ले कर चूसने लग गया दूसरा हाथ आंटी की चूत पर रगड़ने लग गया आंटी और गर्म होने लगी और रुकने को कहा और अपने कपड़े उतार कर मुझे नंगा कर दिया जैसे ही आंटी की नज़र मेरे लंड पर पड़ी आंटी की आँखे खुली की खुली ही रह गई और कहने लगी मेरे पति का लंड तो इससे छोटा और पतला है मेरे राजा आज मेरी प्यास बुझा दे मेरी प्यासी चूत को फाड़ दे बहुत तडपाया है.

मेंने आंटी के बूब्स चूसते चूसते उसकी चूत पर आ गया क्या गुलाबी चूत थी आंटी की और टाइट भी थी मेंने आंटी की चूत को हाथ लगाया तो देखा चूत रस मेंने अपना मुँह चूत पर लगाया और चूसने लगा क्या मजा आया दोस्तो लगभग 10 मिनिट चूसने के बाद आंटी झड़ गई मेंने चूत का रस पिया और आंटी ढीली पड़ गई मेंने कहा आंटी अभी असली मजा तो चख लो वो बोली हाँ मेरे राजा अब यह अपना मूसलदार लंड मेरी चूत में डाल दे और मत तडपा और अपने अमृत रस से मेरी चूत को भर दे में तेरी रानी हूँ राजा आज़ा बजा मेरी चूत का बाजा जैसे ही मेंने अपना लंड चूत पर घिसना शुरू किया आंटी सिसकियां भरने लगी श आई माआ राजा मार झटका डाल दे मेरी चूत में अपना लंड आईई आह जैसे ही मेंने अपना लंड थोड़ा डालना चाहा तो चूत गीली होने के कारण मेरा आधा लंड चूत में घुस गया.

मजेदार कहानी:  चुदाई का सफर और करारा मुखमैथुन

मेंने आंटी की दोनो टाँगे अपने शोल्डर पर रखी थी जिस कारण लंड सीधे चूत में घुस गया और आंटी सिसकियां भरने लगी फाड़ दे मेरी चूत को राजा और ज़ोर से ज़ोर से चोद मुझे राजा मेंने और एक शॉर्ट मारा पूरा का पूरा लंड आंटी की चूत में समा गया और आंटी की चीख निकल गई में रुक गया आंटी बोली राजा रुक मत मार धक्के ज़ोर से ज़ोर से चोद मुझे चोद मुझे में बहुत प्यासी हूँ और में शॉट्स मारता गया और आंटी फिर से झड़ गई में ज़ोर ज़ोर से शॉर्ट्स मार रहा था तो 20 मिनिट के बाद मुझे लगा मेरा निकलने वाला है.

मेंने आंटी से पूछा में कहाँ निकालूँ आंटी ने बोला राजा मेरी चूत को अपने रस से भर दे इसको वेस्ट मत कर मेरी चूत की सूखी ज़मीन को अपने अमृत रस से गीली कर दे और भर दे तब फिर 6-7 धक्के मारने के बाद मेंने आंटी की चूत में सारा माल निकाल दिया आंटी मुझे माथे पर चूमने लगी और अपनी टाँगे मेरी कमर में बांध दी और ज़ोर से पकड़ा और चूमते चूमते कहने लगी आई लव यू मेरे राजा आज तूने मुझे खुश कर दिया में दिल्ली में 1 हफ़्ता रहा उस एक हफ्ते में आंटी के घर पर ही रहा और उसको हर स्टाइल से चोदा तो दोस्तो में उम्मीद करता हूँ आपको मेरी पहली कहानी पसंद आई होगी .

धन्यवाद …