loading...

बुआ के साथ बिताई हसीन रात- Bua Ke Saath Bitai Haseen Raat

प्रेषक : अजय

हैल्लो दोस्तों, में AntarVasnaSex.Net का बहुत समय से पाठक हूँ और मुझे इसकी सभी कहानियाँ बहुत अच्छी लगती है और एक दिन मैंने भी आप सभी की तरह इसकी कहानियाँ पढ़ते पढ़ते अपनी कहानी भी आप सभी को सुनाने का विचार किया, जिसको लिखने में मुझे बहुत मेहनत करनी पड़ी और आज वो सच्ची घटना और मेरा सेक्स अनुभव आप सभी के सामने मौजूद है और में उम्मीद करता हूँ कि यह आप सभी को पसंद आएगी और अब में आप सभी को अपना परिचय भी करा देता हूँ। दोस्तों मेरा नाम इस अजय है और मेरी उम्र 27 साल है, मेरी लम्बाई 6 फीट और में दिखने में बहुत अच्छा हूँ, मुझे सेक्स करना और सेक्सी कहानियाँ पड़ना और उसके बाद मुठ मारकर लंड शांत करना बहुत अच्छा लगता है और अब में आप सभी का ज्यादा समय खराब ना करते हुए, सीधा अपनी आज की कहानी पर आता हूँ। दोस्तों में कानपुर का रहने वाला हूँ और यह कुछ साल पहले की बात है जब में अपनी बुआ के बेटे की शादी में कानपुर गया हुआ था और वहाँ पर में शादी से कुछ दिन पहले ही चला गया था, क्योंकि मुझे मेरे कज़िन ने बुलाया था कि में उसके साथ उसकी शॉपिंग करवाऊंगा। तो में वहां पर 20 22 दिन पहले ही चला गया था और हमने वहाँ पर बहुत मज़े किए और शादी की बहुत शॉपिंग की और कुछ दिन बाद बुआ जी ने मुझे और मेरे कज़िन को शादी के कार्ड्स देने हमारी एक और बुआ के घर भेज दिया, जहाँ पर में उनसे पहली बार मिला था।

दोस्तों वो क्या ग़ज़ब की औरत थी। उनकी उम्र करीब 36 साल और फिगर का 34-28-34 साईज़ और हाईट कुछ 5.7 इंच के करीब होगी और एकदम गोरी चिट्टी। में तो उन्हे देखते ही पागल सा हो गया, लेकिन मैंने अपने आप को बहुत कंट्रोल किया और हम उन्होंने ड्रॉयिंग रूम में बैठा दिया और हमने उन्हे कार्ड वग़ैरा दिया और बातें करने लगे, क्योंकि हम पहली बार मिल रहे थे तो वो मुझसे कुछ ज़्यादा ही प्यार से मिली और मेरी तरफ कुछ ज़्यादा ही ध्यान दे रही थी। उस बात पर मेरे कज़िन ने भी बहुत गौर किया। फिर हम वहाँ से अपने घर की तरफ निकल गये तो रास्ते में कज़िन ने मुझसे उन सब बातों के बारे में पूछा तो मैंने उनसे कह दिया कि मुझे क्या पता है कि वो मेरे साथ ऐसा व्यहवार क्यों कर रही थी? लेकिन मेरे दिमाग़ में भी यही हलचल थी और में उसी के बारे में सोच रहा था कि पता ही नहीं चला कि कब हम घर पहुंच गये। तो कुछ दिन बाद मैंने देखा कि वो आंटी खुद बुआ के घर मिलने आई और मैंने उस दिन भी गौर किया कि उनका ध्यान मेरी तरफ कुछ ज़्यादा ही है और यह बात मैंने अपने कज़िन को भी बताई तो उसने बताया कि उसकी अभी तक शादी नहीं हुई है और वो अपने जीजा जी के साथ बिना शादी के रहती है, क्योंकि उनकी बड़ी बहन की म्रत्यु हो गई थी और तब मुझे कुछ कुछ समझ आने लगा तो में भी उनसे खुलकर बात करने लगा और फिर मैंने उनका फोन नंबर भी लिया और उन्हे अपना मोबाईल नंबर भी दे दिया और फिर हम लोग शादी में व्यस्त हो गये। तो इस बीच शादी के कामों में व्यस्त रहने की वजह से मेरी उनसे कोई बात नहीं हो पाई और फिर हम लोग सिर्फ़ शादी पर ही एक दूसरे से मिल पाए, लेकिन वो भी थोड़े टाईम के लिए और शादी के दो दिन बाद वो अपने घर पर चली गई और में भी अपने ऑफिस के कामों में व्यस्त हो गया। तो उसके कुछ दिन बाद मेरे मोबाईल नंबर पर उनका कॉल आया और वो पूछने लगी कि क्या में उन्हे बिल्कुल ही भूल गया जो मैंने उन्हे एक बार भी कॉल नहीं किया? तो मैंने अपनी गलती महसूस की और उनसे कहा कि में अपने ऑफिस के कुछ काम में व्यस्त था, लेकिन मैंने वादा किया कि में अब हर रोज आपको फोन किया करूंगा और इस तरह हम लगातार बातें करने लगे। तो कुछ दिन तक हमारी ऐसे ही नॉर्मल बातें होती रही और एक दिन अचानक उनके मुहं से एक बात सुनकर में एकदम चकित हो गया। उन्हे अपनी छाती में थोड़ा दर्द रहता था जिसके बारे में उन्होंने मुझे बिल्कुल खुलकर बताया जैसे कि में उनका पति हूँ या कोई बॉयफ्रेंड हूँ, तब में भी मज़े लेने लगा और थोड़ा सेक्सी बातें करने लगा और ऐसे ही चलता रहा। तो एक दिन वो किसी काम से अपने किसी रिश्तेदार के यहाँ पर हमारे शहर में आई और उन्होंने मुझे कॉल किया। तो में उनसे मिलने गया और मैंने देखा कि वो बिल्कुल अकेली थी, लेकिन बहुत सेक्सी दिख रही थी। में तो उनको देखता ही रह गया और मेरी नजर उनके ऊपर से हटने को तैयार नहीं थी और वो दूर खड़ी हुई मेरी तरफ मुस्कुरा रही थी।

मजेदार कहानी:  माँ और बहन की तड़पती जवानी

तो में उन्हे अपने घर ले आया, जहाँ पर हम रात रात भर बातें करते थे और तब में मज़ाक ही मज़ाक़ में उनके शरीर को छू रहा था, लेकिन वो मेरा कोई भी विरोध नहीं कर रही थी। वो मेरी तरफ बस थोड़ा मुस्कुरा देती तो मेरी और भी हिम्मत बड़ गई और मैंने उन्हे अकेले में अपनी बाहों में भर लिया और उन्हे एक लंबा लिप किस कर दिया और वो भी मेरा साथ दे रही थी तो धीरे धीरे हिम्मत करके में थोड़ा और आगे बड़ा गया और उसके बूब्स दबाने लगा और अब उन्हे भी मज़ा आ रहा था, लेकिन तभी हमे किसी के अंदर आने ही आवाज़ सुनाई दी और हम अलग हो गये और हम दोनों एक दूसरे को प्यासी नजरों से देखने लगे, लेकिन उस दिन रात का खाना खाते समय उन्होंने मुझे बताया कि अगले दिन शाम को उनकी फ्लाईट है और वो कल जल्दी सुबह ही निकल जाएँगी। तो यह बात सुनकर में बहुत उदास हो गया और उस बात को शायद वो भी समझ गई थी और खाना खाने के बाद वो मुझे अकेले में मिलने आई और बोली कि उसका भी मन नहीं कर रहा है जाने का, लेकिन वो क्या कर सकती थी? तो में थोड़ा उदास सा व्यहवार करते हुए बोला कि आज के बाद में कभी आपसे नहीं बोलूँगा। तो वो एकदम से घबरा गई और मुझसे लिपट गई। दोस्तों ये कहानी आप AntarVasnaSex.Net पर पड़ रहे है।

फिर कुछ देर कुछ बात सोचकर कहने लगी कि क्या में अपनी कल की टिकट रद करवा दूँ? और में उसे एक दिन आगे करवा दूँ? तो में उनकी यह बात सुनकर थोड़ा खुश हो गया और अपने कमरे में चली गई, लेकिन रात को जब घर के सभी लोग सो गये तो वो इधर उधर देखकर मेरे रूम में आई और मुझे अपने प्लान के बारे में बताया और कहा कि वो कल सुबह ही अपने घर से निकल जाएगी और में बाद में उनसे मार्केट में मिलूं और फिर मैंने वैसा ही किया और तब हम एक साथ ट्रॅवेल एजेंट के पास गये, जहाँ पर हमने उनकी टिकट रद करवाई और फिर हमने एक अच्छे से होटल में रूम बुक किया और रूम में चले गये, जहाँ मैंने अंदर जाते ही उसे खुशी के मारे जबरदस्त किस किया और 5 मिनट किस करने के बाद वो बोली कि रूको पहले हम लंच कर लेते है और तुम घर पर बोल दो कि आज रात को घर नहीं आओगे। तो मैंने जल्दी से घर पर कॉल करके बोल दिया और हमने लंच का ऑर्डर किया हमारे ऑर्डर आने में 15 मिनट थे। तो मेरा फिर से उन्हे किस करना शुरू हो गया और उसकी पूरी बॉडी पर हाथ फेर रहा था। तो वो भी मज़े करने लगी और मेरे शरीर पर हाथ घुमाने लगी और मेरा लंड तो मेरी जीन्स के ऊपर से ही खड़ा हुआ नजर आ रहा था।

मजेदार कहानी:  बहन ने बनाया मादरचोद : bahan ne banaya madarchod

तभी किसी ने दरवाजा खटखटाया और जब मैंने दरवाजा खोलकर देखा तो बाहर वेटर खड़ा हुआ था। वो लंच लेकर आ गया था और फिर हमने लंच किया। फिर लंच करने के थोड़ी देर बाद मैंने टीवी चालू की जिसमे हम मर्डर फिल्म देख रहे थे तो उसमें “भीगे होंठ तेरे” वाला गाना शुरू हुआ तो में भी जोश में आकर शुरू हो गया और मैंने उसे एक गहरी किस की और उसके कपड़े उतारने लगा और फिर मैंने एक एक करके सारे कपड़े उतार दिए, वो क्या ग़ज़ब लग रही थी यार, में क्या बताऊँ एकदम गोरी, पतली जैसे हेमा मालिनी, हाए में तो उस पर टूट पड़ा और उसके बूब्स को मुहं में लेकर चूसने लगा और करीब 15 मिनट बूब्स चूसने के बाद उसने मेरे भी सारे कपड़े उतार दिए और मुझे भी नंगा कर दिया, जैसे ही मेरा 6 इंच का लंड अंडरवियर के बाहर आया तो उसकी आँखें वासना से भर गई और इससे पहले कि में कुछ करता वो मेरे लंड को हाथ में लेकर सहलाने लगी और मुहं में भर लिया ओह भगवान वाह क्या मस्त नज़ारा था। में उसे शब्दों में भी नहीं बता सकता, वो एकदम प्रोफेशनल रंडी की तरह मेरा लंड चूस रही थी और 30 मिनट तक लगातार लंड चूसने के बाद में अब झड़ने वाला था।

तो मैंने उनसे कहा कि में अब झड़ने वाला हूँ तो वो कुछ नहीं बोली और चूसती रही और फिर में उनके मुहं में झड़ गया और उसने मेरा सारा वीर्य पी लिया और जीभ से मेरे लंड को चाटकर अच्छी तरह से साफ कर दिया। फिर मैंने उसे बेड पर लेटाया और किस करते करते उसके बूब्स को अच्छे से दबा रहा था। वो मोन करने लगी आआअहह ज़ोर से दबाओ उउम्म्म्म और अब में उसके पूरे शरीर को किस कर रहा था और उसकी जाँघो पर हल्के से काटने लगा। जिससे वो और गरम हो रही थी। तभी उसने जोश में आकर मेरा सर पकड़कर अपनी चूत पर लगा दिया और मुझसे अपनी चूत को चाटने को कहा, लेकिन दोस्तों मैंने इससे पहले कभी किसी की चूत नहीं चाटी थी तो मुझे थोड़ा अजीब सा लग रहा था, लेकिन उसके कहने पर जैसे ही मैंने अपनी जीभ को उसकी चूत पर लगाई तो वो मेरी जीभ के स्पर्श एकदम तड़प उठी आआअहह आओउम्म्म्म ऐईईईईईईइ और चूत को उठाते हुए मेरे मुहं को चूत पर ऐसे दबाने लगी कि जैसे वो किसी रंडी की चूत हो और करीब में 40-45 मिनट तक उसकी चूत को लगातार चाटता रहा और इस दौरान वो दो बार झड़ चुकी थी।

मजेदार कहानी:  मामी और उसकी बेटी को एक साथ चोदा:Mami aur uski beti ko eksath choda

फिर में उठा और मैंने उसकी कमर के नीचे एक तकिया रखकर अपना लंड उसकी चूत पर जैसे ही रखा और एक धक्का देकर मैंने मेरा लंड पूरा उसकी चूत के अंदर कर दिया तो वो दर्द से एकदम तड़प उठी और सिसकियाँ भरती हुई बोली आहईईईइईईरररे अह्ह्ह्हह्ह्ह्ह यह तेरे लंड ने क्या कर दिया, मेरी चूत में बहुत जलन हो रही है, प्लीज थोड़ा धीरे धीरे कर अह्ह्हह्ह्ह्हह्ह वरना में मर जाउंगी प्लीज थोड़ा धीरे हऐह्ह्ह्हह। तो में कुछ देर रुक गया और उनके बूब्स को चूसने दबाने लगा और जब वो मुझे थोड़ी शांत लगी तो में फिर से ज़ोर ज़ोर से धक्के देने लगा। तो वो अब कहने लगी कि हाँ थोड़ा और धीरे दो अहह्ह्ह्ह उफफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह्हह्ह्ह्ह शायद अब उसे भी मज़ा आने लगा था और करीब 35 मिनट की ताबड़तोड़ चुदाई के बाद वो भी अपनी गांड को उठा उठाकर मेरा साथ देने लगी और अपने जिस्म को पूरी तरह टाईट कर लिया। तो में समझ गया कि वो झड़ने वाली है तो में अब और भी ज़ोर ज़ोर से धक्के देकर चोदने लगा। वो चिल्लाने लगी आअहहआआहह ईसस्सईईसस अहहह्ह्ह्हह चोदो मुझे और ज़ोर से उह्ह्ह्हह्ह्ह्ह चोदो मुझे और वो झड़ गई और शांत हो गई और अब मेरी बारी थी तो मैंने उससे पूछा कि जान अपना पानी कहाँ निकालूँ? तो वो बोली कि अंदर ही छोड़ दे मेरी जान, में आज तेरे पानी का आनंद लेना चाहती हूँ और 5-7 जोरदार धक्को देने के बाद में भी झड़ गया और उसके ऊपर ही लेट गया और दस मिनट लेटे रहने के बाद जब हम नॉर्मल हुए तो हमने दोबारा एक गहरा किस किया और एक दूसरे को अपनी बाहों में भर लिया ।।

धन्यवाद …