loading...

बीवी और सास के साथ मामी की चुदाई

प्रेषक : रवि …

हैल्लो दोस्तों, आप सबको मेरा नमस्कार। दोस्तों में अपनी सास और पत्नी को एक साथ चोद चुका हूँ, उसके बाद में मेरी सास ने मुझे बताया कि वो अपने भाई से चुदवाती रहती है। मैंने भी उनसे कहा कि मम्मी जी मुझे भी यह चुदाई देखनी है और में भी एक बार उनसे मिलना चाहता हूँ। अब में एक बार फिर से उन सब लोगो का आप सभी से परिचय करवा देता हूँ, मेरी मम्मी (सासु जी) जिनकी उम्र करीब 48 साल है और उनके फिगर का साईज 42-38-44 है और वो दिखने में एकदम सेक्सी लगती है। अपनी इतनी उम्र होने के बाद भी बहुत सेक्सी बदन है। उनकी सूरत से उम्र का अंदाजा नहीं लगता। गुड़िया (मेरी पत्नी) जिसकी उम्र 27 साल और उसके फिगर का साईज 30-28-32 है और वो तो अपनी माँ से भी बढ़कर सेक्सी लगती है। वो अपनी इतनी कम उम्र में भी अच्छो अच्छो के लंड को एक ही बार में खा जाती है और जिसको एक बार देखकर हर किसी का लंड खड़ा होकर सलामी देने लगता है। अमर (मामा) जिनकी उम्र 45 साल। वो अपने बड़े आकार के लंड से किसी की भी चूत को चोदकर उसका भोसड़ा बना दे। मामी (चमेली) जिनकी उम्र 43 साल और उनके फिगर का साईज 38-34-40 है, जैसा उनका नाम वैसा ही उनका गदराया हुआ बदन, बड़े आकार के बूब्स हमेशा उनके ब्लाउज से बाहर झांकते रहते है और उनकी गांड हर एक देखने वाले पर कहर ढाती है। में (रवि) मेरी उम्र 29 साल है दिखने में एकदम ठीक ठाक और चुदाई करने में हमेशा आगे, मेरे लंड की तारीफ में खुद नहीं करता।

दोस्तों अब में अपनी आज की कहानी पर आता हूँ। उस समय में अपने ससुराल में ही रुका हुआ था फिर एक दिन मैंने मेरी सास से मामा जी को बुलाने को कहा तो उन्होंने फ़ोन करके नाना से झूठ कहा कि वो थोड़ा बीमार है और आप मामा जी को कुछ दिनों के लिए यहाँ पर भेज दो। वो घर पर बिल्कुल अकेली है। तो नाना ने मेरे मामा जी को और उनकी पत्नी को भी उनके साथ में भेज दिया और वो उसी शाम को हमारे घर आ गये। फिर जब घर पर पहुंचकर उन्होंने मम्मी को चलते फिरते बिल्कुल ठीक देखा तो उन्होंने उनसे पूछा कि क्या बात है, आपने मुझे इस तरह घर पर झूठ कहकर क्यों बुलवाया? तो मम्मी ने कहा कि अभी तुम थोड़ा आराम करो, में रात में सब कुछ बताती हूँ और फिर हम सबने खाना खाया और एक साथ हॉल में बैठकर बातें करने लगे। फिर मामा जी ने मम्मी से पूछा कि क्या बात है अब तो बताओ? तो मम्मी ने कहा कि भैया यह जो आपके जवांई राजा है वो भी हमारे साथ शामिल होना चाहते है। तो मामा जी बोले कि में इस बात का बिल्कुल भी मतलब नहीं समझा? तो मम्मी बोली कि यह हमारी सेक्स टीम का सदस्य बनाना चाहते है तो मामा जी यह बात सुनकर बहुत खुश हुए और फिर उन्होंने मुझे अपने गले से लगा लिया। इसके बाद उन्होंने मुझसे पूछा कि क्या गुड़िया को भी कोई आपत्ति तो नहीं है। मेरी पत्नी उठकर खड़ी हुई और उसने मामा जी को एक लिप किस दे दिया और उनका लंड दबा दिया। इससे मामा जी बहुत खुश हुए और बोले कि वाह अब तो बहुत मज़ा आएगा और इतने में मामी भी वहां पर आ गई वो बोली कि अरे क्या हो रहा है? तो मामा जी ने उन्हे वो सब कुछ बताया जो अभी कुछ देर पहले हम सभी के बीच तय हुआ था। वो भी यह बात सुनकर बहुत खुश हो गई और फिर वो मुझसे बोली कि देखो रवि मुझे थोड़ा गंदा सेक्स पसंद है। तो मैंने कहा कोई बात नहीं, में सब सम्भाल लूँगा, आप बिल्कुल भी चिंता मत करो, बस अब आप आगे आगे देखती जाओ। इसके बाद मामा जी बोले कि आज हम यहीं हॉल में ही सेक्स के मज़े करेंगे। खुले में हमे सेक्स करने में और भी मज़ा आएगा। सबसे पहले मम्मी ने कहा कि हाँ भैया बहुत दिनों से मैंने आपका लंड नहीं चूसा है, प्लीज आज मुझे वो चुसवा दो, में बहुत दिन से तरस रही हूँ। मामा जी बोले कि हाँ बिल्कुल मेरी रंडी बहना आजा जल्दी से तू अपने भाई का लंड मुहं में ले और मज़े कर।

फिर मम्मी ने इतना सुनते ही झट से मामा जी की पेंट और अंडरवियर को उतार दिया और उनका लंड अपने मुहं में लेकर चूसने लगी और धीरे धीरे मज़े लेने लगी। मैंने देखा कि मामा जी का लंड मेरे लंड से लम्बा और काला था। तभी मामी भी मेरे पास आई और फिर वो मुझसे बोली कि बहुत दिनों से मैंने कोई भी जवान लंड नहीं लिया, लेकिन आज में अपने जवांई का लंड लेती हूँ और अब उन्होंने मेरा लोवर उतार दिया। मैंने अंडरवियर नहीं पहनी हुई थी और में भी अब नंगा हो गया था और वो मेरा लंड चूसने लगी। अब धीरे धीरे मम्मी ने सारे कपड़े उतार दिए और मैंने भी मामी को पूरा नंगा कर दिया। मामा मेरी बीवी से बोले कि अरे तू क्यों ऐसे दूर बैठी हुई है, तू भी आजा हमारे इस खेल में? तो मेरी पत्नी भी अब अपने कपड़े उतार कर आ गई और अब हम सब पूरे पूरे नंगे थे। अब मेरी पत्नी ने भी मामा जी का लंड चूसना चालू कर दिया और मम्मी भी उसे चूस रही थी। तभी मामी जी मुझसे बोली कि बेटा रवि अब तुम मेरी चूत चाटो और इसमे से मेरा सारा रस पियो। दोस्तों ये कहानी आप कामुकता डॉट कॉम पर पड़ रहे है।

मजेदार कहानी:  गांड चुदाई का पहला अनुभव

फिर मैंने मामी की चूत को अपने एक हाथ से खोलकर देखा वो अंदर तक एकदम साफ थी और फिर मैंने चूत को चाटना शुरू कर दिया, लेकिन थोड़ी देर सिसकियाँ लेने के बाद मामी ने मेरे मुहं पर मूतना चालू कर दिया और में वो पूरा पी गया। बड़ा ही अच्छा लगा। अब मामी मुझसे बोली कि बेटा तुमने आज मेरा मूत पिया है और अब में तुम्हारा भी पियूंगी और फिर मामा से कहा कि तुम भी हम सबको अपने मूत से पवित्र कर दो। तो में और मामा खड़े होकर एक साथ मूतने लगे वो तीनो रंडिया आहा मज़ा आ गया कहकर हमारा मूत पीने लगी और इसके बाद मैंने अपना लंड मामी की चूत में डालकर उन्हें चोदना चालू कर दिया। मामी भी अब मेरा पूरा पूरा साथ देने लगी और में बड़े आराम से उसे चोद रहा था। अब मैंने देखा तो मामा जी गुड़िया की गांड मार रहे थे और वो भी उनसे कह रही थी कि हाँ फाड़ दे मादरचोद, बहनचोद उह्ह्ह्हह्ह्ह्ह आईईईइ आज अपनी भांजी की गांड को फाड़ दे और मम्मी मामी की गांड चाट रही थी और उसमे अपनी उंगली डाल रही थी। फिर मैंने मामी को घोड़ी बनाया और उनकी चूत में एक ही धक्के के साथ अपना पूरा का पूरा लंड डाल दिया और उन्हे चोदने लगा और करीब दस मिनट के बाद वो झड़ गई तो मैंने उनसे कहा कि मामी मेरा अभी बाकी है। उन्होंने कहा कि कोई बात नहीं अपनी मामी की गांड में डाल दे और अब मैंने अपना लंड मामी की गांड में डाल दिया और वो बहुत ज़ोर से चिल्लाई मादरचोद थोड़ा धीरे धीरे डाल। आज तूने मेरी गांड को फाड़ दिया और अब में उनको बहुत धीरे से धक्के देकर चोदने लगा, लेकिन थोड़ी देर बाद में झड़ गया और वहीं पर बैठकर आराम करने लगा। फिर मामा जी ने मम्मी की गांड में अपना लंड डालकर कर उन्हे चोदना चालू कर दिया। मम्मी कह रही थी कि हाँ मादरचोद, बहनचोद फाड़ दे उह्ह्ह्हह्ह हाँ और ज़ोर से धक्का दे अपनी बहन की गांड भोसड़ी में। मामा जी कह रहे थे कि हाँ मेरी रंडी, मेरी रखेल, तेरी गांड में अब ना जाने कितने ही लंड आ चुके, लेकिन अभी तक इसकी गरमी शांत नहीं हुई है और फिर थोड़ी देर में मामा जी भी झड़ गये और फिर हम सब बैठकर बात करने लगे और फिर कुछ देर बाद ऐसे ही नंगे सो गये ।।

मजेदार कहानी:  दोस्त की ग़ुस्सेल माँ को चोद दिया

धन्यवाद …