loading...

भाभी के इशारे और मूव की मालिश

प्रेषक : लव
हाय दोस्तो कैसे हो आप सब मेरा नाम लव है मैं 21 साल का लड़का हूँ मैं सहारनपुर मे रहता हूँ मेरी लम्बाई 5.8 है लंड आज तक नापा नही है फिर भी अंदाज़ा है की 7 इंच से कम नही  है मेरी भरपूर बॉडी है ज़्यादा स्मार्ट तो नही हूँ लेकिन इतना बुरा भी नही हूँ की किसी गर्ल को पसंद ना आ सकूँ चेटिंग करने मे मुझे बड़ा मजा आता है मेरी इस पर पहली स्टोरी है मैने इस  पर काफ़ी स्टोरी पढ़ी हैं उनमे से कुछ स्टोरी मुझे बहुत अच्छी भी लगी हैं.
 
इन स्टोरी को पढ़ने के बाद मेरा भी मन हुआ की मैं भी अपनी स्टोरी लिखूं इसलिये आज मैं अपनी स्टोरी लिख रहा हूँ ओके अब मैं आप सबको बोर ना करते हुये अपनी स्टोरी शुरू करता हूँ मेरे घर से कुछ दूर पर एक सेक्सी भाभी रहती है और वो बदनाम भी है की उसे चुदने का बहुत शोक है उसके घर के पास मे मेरे एक दोस्त का घर भी है उस भाभी का उनके घर भी आना जाना था जब मैं अपने दोस्त के घर जाता तो कई बार वो भाभी मुझे उनके घर पर मिली मेरी और उस भाभी की बोलचाल शुरू हो गई वो भाभी बड़ी सेक्सी है उसके फिगर बड़े मस्त है और लम्बाई 5.3 है गांड भी बड़ी मस्त है उनकी उम्र 34 साल है लेकिन वो ज़्यादा गोरी नही है थोड़ी सी सांवली है लेकिन पूरी सेक्सी लगती है उसे देख कर तो अच्छे अच्छे आदमीयो के लंड खड़े हो जाते है लेकिन मेरे मन मे उसके लिये ऐसी कोई भावना नही थी.
 
वो मुझे अच्छी तो ज़रूर लगती थी लेकिन मैने कभी उसको सेक्स की नज़र से नही देखा था पर जब से वो मुझे मेरे दोस्त के घर मिली थी और मैने उसे करीब से देखा तो मेरा मन बदल गया वो बहुत सेक्सी थी और बड़ी अदा के साथ मुस्कुराते हुये मेरे साथ बात बात किया करती थी उसका पति एक दुकानदार था जो सुबह अपनी दुकान पर जाता था और रात मे वापस आता था उस भाभी की एक लड़की है जो 5 साल की और एक लड़का जो 7 साल का है एक बार जब मैं अपने दोस्त से मिलने उनके घर गया तो पता चला की मेरा दोस्त बाहर गया हुआ है उसकी माँ ने बताया की वो तो शाम को वापस आयेगा इतने मे वो भाभी भी वही आ गई और उसने मेरे दोस्त की मम्मी से मेरे दोस्त के बारे मे पूछा जब उसे ये पता चला की मेरा दोस्त तो बाहर गया हुआ है तो वो थोड़ी परेशान सी हो गई मैने पूछा भाभी क्या बात है.
 
तो उसने कहा की मुझे मेरा कंप्यूटर ठीक करवाना था उसमे वाइरस आ गया है और मुझे कुछ  ज़रूरी काम करना था उसने मुझसे पूछा की आपको कंप्यूटर ठीक करना आता है क्या क्या आप मेरी हेल्प कर सकते हो मै खुश हो गया मैं तो खुद ही सोच रहा था की भाभी से बात को आगे कैसे बड़ाया जाये मैने कहा ठीक है लेकिन मैं थोड़ी देर बाद आऊंगा अभी मुझे कुछ काम है मैं आपके घर 1 घंटे के बाद आऊंगा उसने कहा ठीक है मैं इंतजार करूँगी मैं वापस अपने घर आया और दोपहर का खाना खाया और 1 घंटे के बाद में उसके घर पर पहुँच गया और बेल बजाई तो अंदर से आवाज़ आई की दरवाजा खुला है अंदर आ जाओ मैं अंदर चला गया लेकिन कमरे मे कोई नही था इस पर मैने पूछा भाभी आप कहा हो वो बोली की मैं नहा रही हूँ बाथरूम मे हूँ आप बैठो मैं आती हूँ 5 मिनट के बाद वो जब बाथरूम से निकली तो मेरे तो होश ही उड़ गये उसे देखकर उसने अपने बदन पर बस तोलिया लपेटा हुआ था.
 
मेरा तो मन किया की अभी पकड़ कर चोद दूँ उसे पर मैं कोई रिस्क नही लेना चाहता था वो सीधी कमरे मे चली गई और कपड़े पहनकर वापस आई उसने साड़ी पहन रखी थी जिसका कलर नीला था वो उसमे बड़ी सेक्सी लग रही थी ओर उसका ब्लाउज बड़ा टाइट था क्योकि उसमे से उसके बूब्स काफ़ी दिखाई दे रहे थे ऐसा लग रहा था की अभी ब्लाउज फाड़ कर बाहर आ जायेगे मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया और मेरे दिमाग मे सेक्स के अलावा कोई बात नही आ रही थी उसने आते ही मुझे सॉरी कहा और बोली की बच्चो को कोचिंग मे छोड़ने चली गई थी इसलिये नहाने मे लेट हो गई आपको मेरी वजह से काफ़ी इन्तजार करना पड़ा मैने कहा इट्स ओके.
 
भाभी जी कोई बात नही वो बोली की पहले ये बताओ की आप ठंडा लोगे या गर्म मैने कहा जो भी आप को पसंद हो तो वो बोली मुझे तो गर्म चीज़े पसंद है मैं आपके लिये चाय बना देती हूँ तब तक आप मेरा कंप्यूटर चालू कर लीजिये वो उस दूसरे रूम मे है और ये कह कर वो चली गई मैने उसका कंप्यूटर चालू किया और उसे चेक करने लगा उसमे कोई वाइरस नही था बस थोड़ी सी सेट्टिंग खराब थी जो मैने सही कर दी थी वो चाय ले कर आई और जब वो मुझे चाय देने के लिये झुकी तो उसकी साड़ी का पल्लू नीचे गिर गया और उसके बूब्स पर मेरी नज़र पड़ गई वाउ क्या सेक्सी थे उसके बूब्स मेरी आँखे तो हट ही नही पा रही थी उन पर से लेकिन वो कुछ नही बोली और हम दोनो साथ मे चाय पीने लगे वो बोली आप तो बहुत तेज हो आपने इतने जल्दी मेरा पी.सी ठीक कर दिया.
 
मैने कहा भाभी ये तो सब आपका असर है इस पर वो हँसने लगी और मेरा लंड खड़ा हो रहा था तो मैंने अपने पैर के उपर पैर रख कर बैठ गया ताकि मेरा लंड उसे दिखाई ना दे लेकिन उसकी नज़रे मेरे लंड को ही ढूँढ रही थी तभी बेल बजी वो उठ कर दरवाजा खोलने चली गई 2-3 मिनट के बाद मुझे कुछ गिरने की आवाज आई और भाभी के चिल्लाने की आवाज़ भी आई मैं भाग कर बाहर आया तो देखा की भाभी फर्श पर नीचे पड़ी हुई थी मैने जा कर उन्हें उठाया और पूछा की क्या हुआ तो वो बोली की बाहर चंदे वाले थे जब मैं उन्हे चंदा देकर वापस आ रही थी तो फिसल गई मैने पूछा आपको ज़्यादा चोट तो नही आई वो बोली, हाँ बहुत तेज दर्द हो रहा है मुझे मेरे बेडरूम मे ले चलो मैं उन्हे सहारा दे कर बेडरूम मे ले गया.
 
मैं बोला भाभी डॉक्टर से दवाई ला कर दूँ क्या तो उसने कहा की उसकी कोई ज़रूरत नही है वो तो मैं तुम्हारे भैया से मंगवा लूँगी तुम दराज मे से मुझे मूव दे दो मैं उसे लगा लूँगी मैने उनकी दराज मे से मूव उन्हे दे दी लेकिन उन्हे खुद मूव लगाने मे काफ़ी परेशानी हो रही थी तो मेरे दिमाग मे सेक्स स्टोरी वाली बात आ गई की कैसे मालिश के बहाने सेक्स किया जाता है मैने उन्हे कहा की भाभी अगर आपको कोई प्रोब्लम ना हो तो लाओ मैं लगा देता हूँ उन्होने कहा ठीक है मैने उनसे कहा की बताओ कहा कहा लगानी है तो वो बोली की दर्द तो सारे शरीर मे हो रहा है लेकिन कमर मे ज़्यादा है वही लगा दो ये कह कर वो अपनी कमर मेरी तरफ करके लेट गई उसकी गांड देख कर मेरा बुरा हाल हुआ जा रहा था.
 
मैने आज तक किसी फीमेल को छुआ भी नही था और आज मालिश करने का मोका मिल रहा था मेरे दिमाग मे उस टाइम सेक्स के अलावा कोई बात नही आ रही थी लंड फटने को हो रहा था फिर भी मैं कोई ग़लती नही करना चाहता था अब मैने अपने हाथ पर मूव लिया ओर भाभी की कमर पर लगाने लगा उनको छुते ही मेरा हाल और भी बुरा हो गया वाह क्या कोमल स्किन थी उनकी मेरे हाथ धीरे धीरे उपर जा रहे थे भाभी बोली थोड़ा और उपर लगा दो तो मैं बोला भाभी आपकी ब्लाउज खराब हो जायेगी तो भाभी ने बिना कुछ कहे अपनी ब्लाउज उतार दी अब उनकी नंगी कमर मेरे सामने थी क्या बताऊँ यारो जब कोई पहली बार ये सब देखता है तो उसका लंड पेन्ट को फाड़ने पर उतारू हो जाता है मेरे साथ भी कुछ ऐसा ही हो रहा था अब मैं उनकी कमर पर उपर तक मूव लगा रहा था भाभी बोली की तुम बहुत अच्छी तरह से लगाते हो दर्द काफ़ी कम हो गया है इस पर मैं बोला की भाभी आप की स्कीन ही इतनी कोमल है की मालिश करते हुये बड़ा मजा आ रहा है.
 
इस पर भाभी हँसने लगी मैं जान बुझ कर उनकी ब्रा की स्ट्रीप मे हाथ बार बार फंसा रहा था इस पर वो बोली की इसे भी उतार दो इतना सुनते ही मैने उनकी ब्रा की हुक खोल दिये और मालिश करने लगा अब मेरी हिम्मत बढ़ती जा रही थी और मैने मालिश करते करते अपने हाथ उनकी छाती तक ले गया जिसके कारण मेरे हाथ उनके बूब्स पर हल्के से टच हुये हाथ टच होते ही भाभी ने एक बड़ी मादक सिसकी ली जिसे सुनकर मेरी हिम्मत ओर बढ़ गई अब मैं और टाइम ख़राब नही करना चाहता था मेरे दिमाग मे यही बात आई की अभी नही तो कभी नही और मैने एकदम से उनके बूब्स दबा दिये भाभी ने एक गहरी सिसकी ली और बोली और ज़ोर से करो ना प्लीज मजा आ रहा है इतना सुनते ही मैं पागल हो गया और उनके बूब्स ज़ोर ज़ोर से दबाने लगा फिर भाभी बोली की आपको लाइन पर लाने के लिये मुझे पता है कितनी मेंहनत करनी पड़ी है मुझे पता था की आपका दोस्त आज बाहर गया हुआ है
 
मैने आपको उसके घर जाते हुये देख लिया था बस मेरे दिमाग़ मे भी यही बात आई की आज चुदाई हो सकती है मैं तो तुझसे बहुत पहले से ही चुदना चाहती थी इस पर मैं बोला भाभी अगर आप मुझे इशारा भी कर देती तो अब तक तो मैं आपको कई बार चोद चुका होता भाभी ज़ोर से हंसी और बोली बुद्धू और कितने इशारे करती मैने घर पर अकेले होने बाद ही आपको बुलाया फिर अपने बाथरूम से सिर्फ़ तोलिया लपेट कर बाहर निकली फिर आपको अपने बूब्स के दर्शन भी करवाये और फिर जब मुझे लगा की आप बड़े शरीफ़ हो और कुछ नही करोगे तो मैने गिरने का बहाना किया और आप से मालिश करवाई ये सब बाते सुन कर मुझे अंदर ही अंदर अपने आप पर बड़ा गुस्सा आ रहा की मैं कितना बुद्धू हूँ लेकिन मैने टाइम ना ख़राब करते हुये भाभी को सीधा किया और उनके होठो पर अपने होठ रख दिये.
 
दोस्तो वो मेरी लाइफ की पहली किस थी ओह माई गॉड इसे कह नही सकता की कितना मजा आया था मुझे भाभी ने अपनी जीभ मेरे मुँह मे डाल दी उनकी जीभ को चूसने मे मुझे बड़ा मजा रहा था काफ़ी देर तक किस करने के बाद मैं उनके बूब्स को चूसने लगा उनके बूब्स दबाने मे गुबारे जैसे लग रहे थे तब तक उनका हाथ मेरी जीन्स मे जा चुका था वो मेरे लंड को सहलाने लगी धीरे धीरे हम दोनो ने एक दूसरे के सारे कपड़े उतार दिये अब वो मुझे बोली की अब और कितना इंतजार कराओगे अब तो मुझे चोद दो और उन्होने मेरा लंड अपनी चूत के छेद पर रख दिया मैने जोश जोश मे एक जोरदार धक्का मार कर एक झटके मे लंड पूरा का पूरा उनकी चूत मे उतार दिया.
 
इस पर वो चीख पड़ी अरे पगले तुझे चूत चोदने के लिये कहा था फाड़ने के लिये नही मैने कहा भाभी क्या करूँ आप हो ही इतनी गर्म चीज की मेरे पूरे बदन मे आग लगा दी है आपने और इस के साथ मैने अपने धक्को की स्पीड और तेज कर दी भाभी के मुँह से लगातार सिसकियां निकल रही थी आ मेरे राजा और तेज और तेज चोद डाल आज मुझे कितना इंतजार करवाया है तूनेलगभग 10-15 मिनिट के बाद हम दोनो एक साथ झड़ गये हम एक दूसरे से चिपके हुये थे तभी अचानक उनके मोबाइल की बेल बजी वो उनके पति का फोन था उसने कहा की घर पर कुछ मेहमान आने वाले है उनका खाना बना दो बस इसी वजह से हम दोनो की चुदाई बीच मे ही रह गई और मैं घर वापस आ गया लेकिन मेरी आँखों के सामने भाभी का नंगा बदन ही घूम रहा था ।
 
धन्यवाद ..