loading...

बड़ी बहन को मनाया

प्रेषक : नासीर
हाय फ्रेंड्स…मेरा नाम नासीर है. मेरी उम्र 22 साल और मेरी बहन की उम्र 23 साल है.  उसका रंग गोरा वजन 40 लम्बाई 5.5 ओर फिगर बहुत ही सेक्सी है. हम पंजाब में रहते हैं मेरे पापा अमेरिका में बिजनेस करते हैं जब उन्होने हमारी मम्मी को वहा पर बुलाया तो हम दोनो यहाँ अकेले रह गये. अब स्टोरी की तरफ आते हैं.
उस दिन मेरा जन्मदिन था. में ज़्यादा घर से बाहर रहता था. वो घर में अकेली उदास होती थी ओर कहती थी जब से पापा मम्मी अमेरिका गये हैं तुम आवारा हो रहे हो. जल्दी घर आया को में अकेली उदास हो जाती हूँ. मेंने कहा सिर्फ़ जन्मदिन दोस्तों के साथ मनाने दो फिर घर पे टाइम दिया करूँगा. उसने कहा नही जन्मदिन घर पर रख लो ओर फ्रेंड्स को भी घर ही बुला लो. पहले में नही माना लेकिन वो नाराज़ हुई इसलिये मान गया. मेंने सब को घर पर बुला लिया.में अपनी बहन को कई साल से पसंद करता था ओर सोचता था केसे उसे मनाऊँ  सेक्स के लिये ओर डरता भी था की कहीं मम्मी पापा को ना बता दे. जन्मदिन  से एक दिन पहले उसने पूछा तुमें क्या गिफ्ट चाहियें? मेंने कहा था बता दूंगा बाद में. जन्मदिन आया सब दोस्त भी आये ओर सब ने गिफ्ट दिये। बहन ने मुझसे कहा सब ने गिफ्ट दिये ओर मुझे शर्मिंदगी हुई की मेंने अपने भाई को कोई गिफ्ट नही दिया. मेंने कहा रात को बताऊंगा अभी जा रहा हूँ. रात को में घर आया हम ने साथ खाना खाया हम एक ही रूम में टी.वी देखते ओर फिर अपने अपने रूम में सो जाते थे. हम दोनो टी.वी देख रहे थे जब उसने पूछा तुमने बताया नही तुम्हेँ  क्या गिफ्ट चाहियें. मेंने नज़र टीवी पर रखी ओर कहा पहले वादा करो तुम मना   नही करोगी. उसने कहा वादे की क्या बात है मेरा एक ही भाई है में उसे ज़रूर गिफ्ट दूंगी.

मेंने कहा नहीं में ऐसे नही बताउगां तुम पहले वादा करो. उसने कहा ओके वादा. में कुछ देर खामोश रहा ओर टी.वी को देखते हुये कहा में तुम्हारे बूब्स देखना चाहता हूँ. वो एक दम गुस्से में आ गई. उसने कहा शट-अप तुमें शरम नहीं  आती अपनी बहन से ऐसी बात करते हुये. मेंने कहा मुझे माफ़ कर दो मुझे पता  था इसीलिये नही बता रहा था. उसने कहा अगर में पापा को फ़ोन कर दूं तो?  मेंने कहा तो में घर छोड़ कर चला जाऊँगा. लेकिन आप ने वादा किया था आप मना नही करोगी. उसने कहा लेकिन हम बहन भाई हैं इसलिये मुझे नही पता था तुम ऐसी बात करोगे.

उसने कहा ये भी कोई गिफ्ट है तो मैने कहा में बच्चा नही रहा जो खिलोने माँगता. गिफ्ट वो ही होता है जिससे खुशी मिले मुझे सब गिफ्ट से ज्यादा इस गिफ्ट से खुशी मिलेगी. मेंने कहा हम दोस्त भी तो हैं मेरा जन्मदिन है मुझे तुम अच्छी लगती हो इसलिये कह दिया मैने कुछ गलत तो नही कहा. वो खामोश रही ओर टी.वी देखती रही जब मेंने तीन बार प्लीज कहा तो उसने कहा ओके तुम्हारा जन्मदिन है लेकिन मेरी एक शर्त है. तुम सिर्फ़ दूर से देखोगे ओर टच नही करोगे. में खुश हो गया मेंने कहा ओके.

मजेदार कहानी:  ज़िंदगी की एक अनोखी घटना

उस का फेस लाल हो रहा था शर्म से. उसने आँखें बंद की हुई थी मेंने देखा ओर देखता ही रह गया मेंने कहा तुम बहुत सुंदर हो उसने कहा ओके अब देख लिया बस? मेंने कहा मेंने पहले कभी किसी लड़की के बूब्स रियल में टच नही किये. प्लीज एक बार टच करने दो. उसने कहा नही तुमने वादा किया था. मेंने कहा हाँ किया था लेकिन तुम इतनी खूबसूरत हो प्लीज बस एक बार फिर कभी नही कहूँगा. उसने अपनी कमीज़ नीचे की ओर खामोश रही. मेंने कहा जब देख लिया तो एक बार टच करके देखने से क्या बिगड़ जायेगा? वो मुझे देखती रही मेंने आँखें नीचे कर ली.

उसने कहा सिर्फ़ तुम्हारा जन्मदिन है इसलिये सिर्फ़ एक बार. में दिल से खुश हो गया ओर कहा ओके. बस जब टच किया तो उसने अपनी आँखें बंद कर ली शरम से. मेंने फ़ायदा उठाया ओर बूब्स को किस कर लिया. उसने आँखें खोली ओर कहा प्लीज ऐसा मत करो. मेंने कहा मे कोन सा सेक्स कर रहा हूँ. प्लीज कुछ नही  होगा मुझे जी भर के देखने दो. तुम मुझे बहुत अच्छी लगती हो. मेंने इतने प्यारे बूब्स कभी नही देखे ओर ये कह कर उसके बूब्स को चूसने लगा वो आँखें बंद कर के खामोश रही. मेंने उसकी बॉडी को किस करना शुरू किया ओर हाथ उसके नीचे   ले गया. और उसकी पेन्टी में हाथ डालने लगा तो उसने रोक दिया ओर कहा ये गलत है. सिर्फ़ उपर से ही.

में कपड़ो के उपर से उसकी चूत को सहलाने लगा ओर उसकी बूब्स ओर बॉडी पर  किस करता रहा. तब मेंने अपनी शर्ट भी उतार दी ओर उसका हाथ अपनी कमर पर रख लिया. अब वो ज्यादा कुछ नही कह रही थी. में इतने प्यार से किस कर रहा था शायद उसे भी मज़ा आने लगा था शायद इसीलिये खामोश रही. फिर मेंने उसकी सलवार उतारी तो उसने एकदम उपर सलवार खीची. मेंने कहा में पेन्टी  नही उतारूगां सिर्फ़ पैरो पर किस करने के लिये उतार रहा हूँ. उसने हाथ ढीले  कर दिये. अब वो सिर्फ़ अपनी पेन्टी में मेरे सामने थी. में किस करता हुआ उसकी चूत को उसकी पेन्टी के उपर से किस कर रहा था. अब उसकी पेन्टी उतारने लगा  तब भी उसने रोक दिया.

मेंने कहा मुझे एक बार देखना है ओर प्लीज एक बार अंदर से किस करने दो में सेक्स नही करूँगा. उसने कहा नही. मेंने कहा ओके. मेंने उस को उल्टा किया ओर उसकी पीठ पर किस करने लगा. वो आँखें बंद करके उल्टी लेटी थी. में किस करते हुये उसका हाथ अपने लंड पर ले गया. और अपना लंड अंडरवेयर के उपर से उस के हाथ में दे दिया.

मजेदार कहानी:  भाई से चुदवाया खेत में -Bhai se chudwaya khet me

उसने हाथ लंड से हटा लिया. मेंने अपना अंडरवेयर भी निकाल दिया मेरा लंड  टाइट था ओर बेकरार भी. मेंने उसका हाथ दोबारा अपने लंड पर रखा. उसने पकड़  लिया लेकिन हिला नही रही थी. मेंने अपना हाथ उसके हाथ पर रखा ओर हिलाने   लगा. फिर उसे सीधा किया. तो वो देखती ही रह गई. उसने कहा तुम जवान हो गये हो इतना हार्ड ओर इतना बड़ा है ये. मेंने कहा इसे हिलाओ ओर उसके बूब्स को चूसने लगा. उसने कहा क्यो हिलाऊँ ओर ये इतना गर्म क्यो है. मेंने कहा तुम्हे देख कर गर्म है तुम हिलाओगी तो मुझे मज़ा आयेगा.

वो बहुत धीरे धीरे हिलाने लगी. में उसके बूब्स को चूसता हुआ उसकी चूत पर  आया ओर उसकी पेन्टी तेज़ी से उतारने लगा. उसने रोका लेकिन आधी उतर चुकी थी. मेंने कहा यह गलत बात है की तुमने मुझे देख लिया ओर मुझे नही देखने दे रही. प्लीज देखने दो ना कुछ नही होगा में भी तो नंगा हूँ. वो सीधी हो कर लेट गई. मेंने उसकी पेन्टी निकाल दी. अब वो पूरी तरह से नंगी मेरे सामने थी. मेंने कहा वाउ क्या खूबसूरत शेप है ओर हाथ लगा कर कहा ये तो बहुत मुलायम है. उसने शर्मा कर अपनी चूत पर हाथ रख लिया. में उसकी जांघ से किस करता  हुआ उसके हाथ पर किस करने लगा. उसके हाथ हटा कर उसकी चूत को टच किया तो गीली हो गयी थी. में उसकी चूत पर धीरे धीरे हाथ फेरने लगा. उसने मुझे खीच कर गले लगा लिया ओर में अपने होठ उसके होठ पर रखकर ज़ोरदार किस करने लगा.

में समझ गया ये गर्म हो चुकी है. में अब उसके होठ पर किस कर रहा था ओर मेरा लंड उसकी गीली चूत को टच कर रहा था. मेंने एक हाथ ले जाकर लंड को उसकी चूत की दिशा में सही किया ओर ज़ोर लगाने लगा उसकी आअहह निकली ओर एकदम चोंक गई. उसने कहा नही बस अब रुको! मुझे पता था वो गर्म हो चुकी है लेकिन डरती है कहीं प्रेग्नेंट ना हो जाये. मेंने कहा बहुत मज़ा आ रहा है  एक बार अंदर करने दो ना प्लीज उसने कहा नही तुम्हारे पास कन्डोम नही है  ओर ये सही नही. में समझ गया की इस का भी दिल कर रहा है लंड डलवाने को. मेंने कहा में बाहर ही निकाल दूगां प्रॉमिस. उसने कहा तुम से ग़लती हो गई तो में बर्बाद हो जाऊँगी.

मजेदार कहानी:  भाभी की चुदाई राँची में

मेंने कहा मुझे तुम्हारी इज्जत का ख्याल है. हम बहन भाई हैं किसी को कभी शक नही होगा और में वादा करता हूँ में बाहर ही निकाल दूगां. हम दोनो घर में सेक्स के मज़े लेंगे ओर जब दिल चाहे जेसे चाहे एक दूसरे के साथ मजा कर सकेंगे वो काफ़ी शान्त हो चुकी थी. मेंने उसे बाहो में लिया ओर किस करना शुरू किया. अब वो मेरा साथ दे रही थी शायद उस का भी दिल कर रहा था इसलिये साथ देने पर मजबूर थी ओर मेंने उससे वादा भी किया था. की कुछ नही होगा ओर में सब संभाल लूँगा. उसकी चूत बहुत टाइट थी. मेंने ज़ोर लगाया तो उसकी चीख निकल गई लेकिन मेंने अपनी स्पीड आहिस्ता की और जब उसका दर्द कम हुआ तो ज़ोर से उसे धक्के लगाने लगा. वाउ क्या मज़ा आ रहा था. फिर कुछ देर बाद हम दोनो डिसचार्ज हो गये. डिसचार्ज के वक़्त मेंने वीर्य बाहर निकाल दिया उस वक़्त वो डॉगी स्टाइल में थी ओर सारा वीर्य उसकी गांड पर गिरा दिया. जिससे एक उसने सुख की सांस ली.

फिर हम दोनो ने साथ बाथ लिया. अब वो खुश थी. उसने कहा तुम बहुत ताकतवर ओर स्मार्ट हो. उसके बाद ये सिलसिला चलता रहा. फिर उसकी शादी हो गई. अब जब भी वो मिलने आती है हम मजा करते हैं ओर अब वो नही डरती बल्कि हम दोनो ने ये डिसाइड किया है कि हम किसी को ना नही करेगे. सिर्फ़ एक बार जब उसकी गांड मारी थी तब उसे बहुत दर्द हुआ था जो उसने सहन किया. लेकिन बाद में उसने कुछ नही कहा. अब तो शादी के बाद उसका जिस्म भर गया है. मुझे उसके बूब्स दबाने में ओर भी मज़ा आता है

धन्यवाद …