loading...

अनजान औरत को परिवार का सदस्य बनाया

प्रेषक : रेखा …

हैल्लो दोस्तों, में आप सभी के सामने अपने बेटे की चुदाई की एक सच्ची घटना लेकर आई हूँ। जिसमे उसने जमकर चुदाई की और अपने लंड की भूख मिटाई। आज में उसी कहानी को आप सभी को विस्तार से सुनाने जा रही हूँ। दोस्तों मेरे बेटे रोहन ने पूरे परिवार को अपने लंड से चोद-चोदकर चुदक्कड़ बना दिया था। फिर उसने मुझसे मेरी एक ब्रा पेंटी की दुकान खुलवाई और जिसकी वजह से कैसे उसे नई नई चूत को चोदने का मौका मिले? तो यह बात उस समय की है जब हम लोग मलेशिया से घूमकर वापस आए, तब तक बारिश का सीज़न आ गया था और फिर अब तक तो हम लोग रोज़ ही सेक्स करते। लेकिन दोस्तों सबसे पहले में आप सभी को यह बता दूँ कि में कोई रांड नहीं हूँ, बस मेरी चूत लंड की प्यासी है और अब में ज्यादा समय खराब ना करते हुए अपनी आज की कहानी पर आती हूँ।

दोस्तों हमने अक्टूबर में अपनी दुकान खोली और अब हमारी दुकान बहुत अच्छे से चल रही थी। हमने अब एक बंगला भी खरीद लिया है और रोहन ने भी पुणे में ही एड्मिशन ले लिया और मेरे बड़े बेटे ने अपना तबादला पुणे में ले लिया और अब में, मेरा बेटा और मेरी बहू हमारी दुकान संभालते है और कभी कभी रोहन भी आता है, जब उसको कॉलेज से छुट्टियाँ मिलती है।

तो एक दिन वो नवम्बर का महीना था, उस दिन रविवार था और मेरी बेटी और बहू घर पर थी और रोहन ने मेरे साथ आकर सुबह करीब 9 बजे दुकान खोली और उस समय हमारे पास कुछ नया माल आया हुआ था। नई नई डिज़ाईन की ब्रा, पेंटी, जालीदार, बिना डोरी वाली पेंटी, ब्रा, और हर तरह की बिकनी थी, तो उस समय हमारे पास 4 पुतले थे। तो मैंने रोहन को कहा कि बेटे इनको इसमे से एक एक कपड़े पहना दो और फिर रोहन ने उनकी पुरानी वाली पेंटी ब्रा उतारी और उन पर एक नई वाली ब्रा, पेंटी चड़ा दी और फिर करीब एक घंटे के बाद ठीक 10 बजे एक औरत हमारी दुकान पर आई, जो की हमारे पास हर हफ्ते कुछ ना कुछ लेने आती थी और वो रोहन को बहुत पसंद करती थी। उनका नाम अनिता था और उनकी उम्र करीब 28 साल थी। लेकिन उसको कोई अपने नाम से बुलाए, उसको बिल्कुल भी पसंद नहीं था। उसके फिगर का साईज 36-26-36 था और वो दिखने में बहुत ही सुंदर थी और अपने चेहरे से शादीशुदा नहीं लगती थी। तो उस समय में काउंटर पर बैठी हुई थी और फिर वो अंदर आई मैंने उससे वेलकम किया और उससे पूछा कि आज किस तरह की डिज़ाईन चाहिए? तो उसने बोला कि में कल गोवा जा रही हूँ तो मुझे कुछ बिकनी की डिज़ाईन दिखायो। तो मैंने उसे रोहन के पास भेज दिया।

मजेदार कहानी:  भैया के दोस्त ने चूत में बियर डाल कर चोदा - हस्बैंड दारु पि कर सोया था और मैं चूद रही थी

रोहन : हैल्लो आंटी।

अनिता : हैल्लो बेटा, कैसे हो?

रोहन : में ठीक हूँ और आंटी आप कैसी हो?

अनिता : में भी एकदम ठीक हूँ बेटा।

रोहन : तो आंटी आज में आपको कैसी बिकनी दिखाऊँ?

अनिता : तुम मुझे एकदम सेक्सी बिकनी दिखाना, जिसको पहनकर में बहुत हॉट दिखाई दूँ।

रोहन : लेकिन आंटी आप तो पहले से ही इतनी हॉट सेक्सी हो, उसमे में क्या कर सकता हूँ।

अनिता : चुप शरारती लड़के मुझे एसी बिकिनी चाहिए जैसी बीच पर किसी ने ना पहनी हो, में वहां पर एकदम हटकर दिखूं, मुझ पर सब की नजर हो, सब मुझे ही देखे।

तो रोहन ने उसे एक टाईनी बिकनी दिखाई और उस बिकनी का फोटो भी दिखाया और कहा कि यह सबसे सेक्सी बिकनी है, जो अंदर से बाहर की तरफ कुछ भी नहीं छुपाती।

अनिता : हाँ, दिखने में तो अच्छी है, लेकिन क्या यह मेरे ऊपर फिट होगी?

रोहन : हाँ हाँ आंटी यह आप पर बिल्कुल फिट होगी, बल्कि आप इसको पहनने के बाद बहुत ही सेक्सी दिखने लगोगी, हर कोई बस आपको ही घूर घूरकर देखेगा।

अनिता : तुम्हारा बहुत बहुत धन्यवाद बेटा। लेकिन इसे एक बार पहनकर तो देखनी पड़ेगी ना।

दोस्तों ये कहानी आप AntarVasnaSEX.Net पर पड़ रहे है।

दोस्तों में उन दोनों की वो सभी बातें सुन रही थी और सब कुछ देख रही थी। तो मैंने रोहन से कहा कि तुम इन्हे पीछे वाले रूम में लेकर जाओ और फिर इन्हें बिकनी पहनाकर देखो कि वो इनके ऊपर फिट हो रही है या नहीं? तो रोहन उन्हे पीछे वाले रूम में लेकर गया, जहाँ पर सभी अपनी अपनी पसंद के कपड़े पहनकर देखते थे और फिर करीब 5-10 मिनट के बाद मुझे सेक्सी सी आवाज़े आने लगी आह्ह्हह्ह्ह्ह आऐईईइ उफ्फ्फ्फफ्फ्फ़ छोड़ मुझे और बहुत ही जल्दी में समझ गई कि रोहन उसे चोद रहा है तो मैंने डीवीडी पर गाने शुरू कर दिए और आवाज बड़ा दी, ताकि बाहर किसी को आवाज़ ना सुनाई दे। फिर वो करीब आधे घंटे के बाद बाहर आए और जब तक मैंने दो तीन ग्राहक फ्री कर दिए। फिर मेरे पास दो लकड़ियाँ आई और वो दोनों लड़किया करीब 18 साल की थी और मेरी शॉप ब्रा, पेंटी और सेक्सी कपड़ो के लिए मशहूर थी, मैंने उन्हे रोहन के पास भेज दिया। फिर वो अंदर चली गई और फिर जैसे ही वो बाहर आई उसकी चाल एकदम बदल गयी थी, वो जीन्स और टॉप में थी। तो उसने मुझसे कहा कि आपका बेटा बड़ा ही कमाल का है। लगता है कि इसे साथ में लेकर जाना पड़ेगा।

मजेदार कहानी:  खुशबू सबकी दुलारी

में : हाँ हाँ लेकर जाइए, नहीं तो आप एक काम कीजिए, रात को हमारे घर पर आ जाइए, आपको बहुत मज़ा आएगा।

तो अनिता एक तरफ बैठ हुई थी, वो हमारी बात के बीच में बोली कि हाँ, यह बिल्कुल ठीक कह रही है, आप ऐसा ही कीजिये। तो रोहन ने उसके होंठ पर किस दिया और उसने दो बिकनी ली और उसे अलग से 500 रूपये देकर चली गयी और फिर मुझसे रोहन ने कहा कि आज रात को बहुत मज़ा आने वाला है, क्या चूत, बूब्स और गांड थे उसके, एकदम गोरे जैसे दूध में से निकलकर आई हो। उसने मुझे फिर से मनाया और फिर उस दिन शाम को उसका फोन आया कि में आ जाउंगी, आप मुझे अपने घर का पता मैसेज कर दो। तो रोहन ने उसे हमारे घर का पता मैसेज में भेज दिया और वैसे भी हमारी दुकान पर जो भी 30 साल के नीचे की औरत आती है, उसे रोहन ही सम्भालता है। बहुत तो उस पर फिदा है जो उसकी वजह से हर तीन चार दिन में आती है। तो फिर शाम को 8 बजे अनिता का कॉल आया कि में आपके घर के लिए मेरे घर से निकल रही हूँ। तो हमने अपनी दुकान बंद कि और घर पर पहुंच गये। हमने घर पर पहुंचकर देखा तो वो घर के बाहर हमारा इंतज़ार कर रही थी। उसने स्कर्ट और टॉप पहना हुआ था। हमारे घर पर तो सब लोग नंगे थे और फिर हमने कार खड़ी की और फिर मेरी बहू ने दरवाजा खोला, वो एकदम नंगी थी और अनिता उसे वैसे देखकर बिल्कुल हैरान हो गयी और पूछने लगी।

अनिता : क्यों यह आपकी बहू है ना?

में : हाँ, यह मेरी बहू है।

अनिता : तो यह बिल्कुल नंगी क्यों है?

में : हम हमारे घर में कपड़े नहीं पहनते। तुम पहले अंदर आयो, तुम्हे सब कुछ मालूम चल जाएगा।

फिर हमने उसे अंदर लिया और उसने देखा कि सब लोग नंगे थे और फिर में भी नंगी हो गई थी। मैंने मेरा जीन्स और टॉप उतार फेंका और अब रोहन ने भी अपने कपड़े उतार दिए। वो एक अलग ही टेंशन में थी, तो रोहन ने उसका टॉप उतारा और एक ही झटके में उसकी स्कर्ट को भी नीचे कर दिया और अब वो ब्रा और पेंटी में थी, जो मेरी ही दुकान से खरीदा था और हम सब लोग हंसने लगे। उसे तो बहुत अजीब लग रहा था तो में उसे दूसरे रूम में लेकर गयी और मैंने उसे समझाया कि मज़े करो शरमाओ मत, हम सब लोग मिलकर सेक्स करते है और आज से तुम भी इसमे शामिल हो, तुम जब चाहो आ सकती हो। तो में उसे कमरे से बाहर लेकर गई। रोहन अपनी भाभी को चूम रहा था और मेरे पति अपनी बेटी को और मेरा बड़ा बेटा उसका इंतज़ार कर रहा था। तो मैंने एक ही जोरदार झटके में उसकी ब्रा, पेंटी को उतार दिया और मेरे बेटे ने उसे चूमना, चाटना शुरू किया और वो उसका लंड अपने हाथ में लेकर हिलाने लगी और में उसकी चूत चाटने लगी और वो मेरे बेटे को चूमने लगी।

मजेदार कहानी:  बॉयफ्रेंड के मजबूत लंड से सील तुड़वाई

फिर वो उठी और मेरे बेटे के लंड पर बैठ गई और ऊपर नीचे होने लगी और में मेरे बेटे के मुहं पर बैठ गई और वो मेरी रसीली चूत को चाट रहा था। फिर करीब दस मिनट बाद हमने अपनी पोज़िशन को बदल दिया। में लंड पर और वो मेरे मुहं पर और दस मिनट बाद वो झड़ गया। लेकिन मेरे बेटे का और मेरे पति का काम अभी बाकी था तो पहले मैंने उसको मेरे पति के लंड पर बैठा दिया और मेरी बेटी मेरी चूत को चाटने लगी। तो मेरे पास एक रबर का लंड था। तो मैंने वो पहन लिया और मेरी बेटी की चूत में डाल दिया वो करीब 9 इंच लंबा था। फिर करीब दस मिनट बाद मेरा बेटा और पति दोनों एक एक करके झड़ गये और अब मेरी भी हालत बहुत खराब थी और फिर उस रात हमने तीन बार सेक्स किया और दूसरे दिन सुबह 9 बजे वो चली गयी और अब वो कभी भी आ जाती है और मेरे पति से चुदवाकर चली जाती है और रोहन ने मुझे यह भी बताया है कि जब आप दुकान पर नहीं होती हो तो मुझे हर हफ्ते एक नई चूत मिलती है और इस बार सिर्फ़ आपके सामने मिली और हर बार अकेले में और कभी कभी भाभी के सामने भी ज़्यादा मिलती है ।।

धन्यवाद …