Home / आंटी की चुदाई / श्वेता भाभी सेक्स की देवी

श्वेता भाभी सेक्स की देवी

प्रेषक : प्रशांत

हैल्लो फ्रेंड मेरा नाम प्रशांत है और गुजरात का रहने वाला हूँ। मेरी उम्र 21 साल की है मेरी हाईट 5.10 इंच है और मेरा वजन 65 किलो और लंड का साईज़ 7 इंच है। दोस्तों आपको लगता होगा कि में ये सब यहाँ पर क्यों बता रहा हूँ लेकिन मेरा हैल्थी और अच्छी बॉडी की वजह है मेरी सेक्सी भाभी मुझसे चुदवाने के लिए मान गई।

दोस्तों मेरी भाभी का नाम श्वेता है और उनकी उम्र 29 साल की है। फिगर 34-30-34 लंबे बाल, सेक्सी होंठ, सिल्की बदन, वो बिल्कुल श्वेता तिवारी जैसी दिखती है। हम लोग घर मे पांच मेम्बर है। मम्मी, पापा, भैया, भाभी और में। मम्मी पापा सर्विस करते है और पूरे दिन घर से बाहर रहते है। भैया मुंबई में सर्विस करते है और महीने में एक बार घर पर आते है। में इंजिनियरिंग कर रहा हूँ और मेरी भाभी हाउसवाईफ है। मेरी भाभी बहुत सेक्सी कपड़े पहनती है और रोज उसको तैयार होना और मेकअप करना बहुत पसंद है। डेली वो स्लीवलेस ब्लाउज, सिल्की ट्रांसपरेंट साड़ी, खुले बाल, लंबे पॉलिशर नेल्स और लाईट लिपस्टिक में रहती है।

पहले में भाभी को कभी बुरी नजर से नहीं देखता था। लेकिन अब में बड़ा हो गया हूँ और मेरा देखने का नज़रिया बिल्कुल बदल गया है। मुझे अब भाभी सेक्स की देवी लगती है उसको देखकर ही मेरा लंड पूरा तन जाता है। में अब दिन, रात श्वेता की फिराक में ही रहता हूँ। फिर एक दिन मेरा एक दोस्त घर आया वो श्वेता को देखता ही रह गया। फिर घर से बाहर निकल कर उसने मुझे बोला कि वो श्वेता को चोदना चाहता है। तभी उसकी बाते सुनकर मे भी दंग रह गया।

फिर मेरे दोस्त ने बताया कि श्वेता रोज इतने सेक्सी कपड़े मुझे पटाने के लिए ही पहनती है। वो शायद मेरे भैया से खुश नहीं है और उसने मुझे श्वेता को पटाकर चोदने के बहुत सारे तरीके बताए। फिर एक दिन की बात है। मेरे रूम के बाथरूम मे पानी नहीं आ रहा था तो मैंने भाभी का रूम नॉक किया भाभी को देखकर ही मेरा लंड उफान पर आ गया। भाभी ने साड़ी और कम गले ब्लाउज, बाल भीगे हुए और उसके मादक बदन से चिपके हुए थे अपने बाल पोंछते हुए उसने दरवाजा खोला।

फिर में बोला कि भाभी मेरे बाथरूम में पानी नहीं आ रहा है। क्या में आपके बाथरूम में नहा सकता हूँ? तभी उसने हाँ बोल दिया। फिर में तो सीधा उसके बाथरूम मे घुस गया वहाँ पर मस्त स्मेल आ रही थी उसके बदन की मेरा लंड पूरा टाईट था और में नंगा होकर मुठ मारने लगा। तभी मेरी नज़र उसकी उस ब्रा, पेंटी पर गयी जो वहाँ पर पड़ी थी। वो पिंक कलर की ब्रा, पेंटी बहुत सेक्सी लग रही थी। तभी मैंने पेंटी को हाथ मे लेकर देखा कुछ चिकना लगा सूंघते ही लगा कि श्वेता ने अपनी ही ऊँगली से अपनी चूत को चोदा होगा। तभी मे तो पागल हो गया पेंटी को चाटने लगा उफ़ क्या टेस्ट था और चाटते चाटते मे श्वेता की चूत चाट रहा हूँ ऐसा मज़ा आया और फिर उसकी ब्रा पेंटी से मैंने अपने लंड को शांत किया। अब मुझे श्वेता की ब्रा पेंटी की आदत हो गयी थी। में उसके रूम से उसकी न्यू ब्रा, पेंटी उठा लाता और उस पर मूठ मरता दिन में दो तीन बार।

फिर एक बार मम्मी पापा एक रिलेटिव के यहाँ पर शादी मे गये दो तीन दिन के लिए। में अब मन मे सोच रहा था कि मुझे एक अच्छा मौका है श्वेता को चोदने का। फिर ऐसा सोचते हुए में कॉलेज से घर आया।

तभी श्वेता ने दरवाजा खोला सेक्सी स्माइल के साथ। उफ़ क्या कयामत लग रही थी ब्लेक साड़ी और पीछे से ओपन डोरी वाला कम गले का ब्लाउज, खुले बाल, मेहरून लिपस्टिक, मेहरून नेल पोलिश, कान में लंबे झुमके, गले में नेकलेस और उसकी आधी चूचियां बाहर दिख रही थी और पेटिकोट पेट से नीचे पहन रखा था। उसका गोरा बदन, वाउउऊ आज श्वेता बहुत खुश लग रही थी। में अपने रूम मे चला गया थोड़ी देर में श्वेता की आवाज़ आई प्रशांत फ्रेश हो गये हो तो बाहर आ जाओ नाश्ता तैयार है कर लो।

तभी में फ्रेश होकर डाइनिंग टेबल पर बैठ गया और वो मुझे नाश्ता देने लगी और उसकी साड़ी का एक पल्लू सरक गया। ओह माई गोड। उसकी चूचियां साफ नज़र आ रही थी और में देखता ही रह गया। फिर श्वेता बोली कि मेरे प्यारे देवर जी आप क्या देख रहे है नाश्ता कीजिए ना। तब मेरा ध्यान हटा और फिर नाश्ता करके में रूम पर जाने लगा। तभी श्वेता ने बुलाया प्रशांत चलो ना टीवी देखते है में बोर हो रही हूँ।

फिर मे सोफे पर बैठ गया थोड़ी देर में वो आई और हाथ में गिफ्ट लेकर और कहने लगी कि आज में तुम्हे एक सर्प्राइज़ तोहफा देने वाली हूँ। मैंने पूछा क्या है भाभी? फिर श्वेता मेरे हाथ में गिफ्ट पेक देते हुए बोली तुम खुद ही देख लो। में गिफ्ट पेक खोलने लगा और खोलते ही में दंग रह गया। उसमे श्वेता के तीन चार ब्रा और पेंटी के सेट थे। तभी में अंजान बनते हुए बोला ये क्या है भाभी?

फिर श्वेता कहने लगी कि मेरे देवर जी अब ज्यादा बनिये मत मुझे सब पहले से ही पता है कि आप जवान हो गये थे। आप रोज मेरी ब्रा, पेंटी चुरा कर अपने कमरे में ले जाते है। में आज आपको वही गिफ्ट दे रही हूँ ताकि आपको चुराना ना पड़े। फिर ये सुनकर मेरे पसीने निकल गये तभी श्वेता मेरे पास आई और अपनी उंगली मेरे चहरे पर फैरते हुए बोली वैसे आप मेरी ब्रा, पेंटी का क्या करते है? उसमे कुछ सफेद सफेद दाग पड़ जाते है। दोस्तों ये कहानी आप कामुकता डॉट कॉम पर पड़ रहे है।

फिर में बोला नहीं भाभी ऐसा कुछ नहीं है। तभी श्वेता मेरे सीने पर हाथ फैरते हुए बोली देवर जी में आपको इतनी सेक्सी लगती हूँ क्या? वो अब मेरे लंड को मसल रही थी भाभी प्लीज़ यह मत करो। फिर श्वेता हाँ बोलो ना देवर जी अपने दांत से अपने लिप्स को काटते हुए। फिर मेरी हिम्मत बढ़ गयी और उसका हाथ लगते ही लंड पूरा टाईट हो गया। फिर श्वेता कहने लगी देवर जी आपका ये तो बहुत बड़ा है।

फिर मैंने पूछा क्या भाभी जी?

फिर श्वेता बहुत गुस्से मे आकर बोली साले भड़वे अब नाटक मत कर बोल ना अपने मुहं से की तू मुझे चोदना चाहता है और कितना तडपाएगा और जब से तुझे देखा है में तुझसे चूत मरवाना चाहती हूँ इसलिए ये सेक्सी कपड़े पहनती हूँ। लेकिन तू साला हरामी की औलाद मेरे नाम की मूठ मारकर रह जाता है कामीने कभी सोचा नहीं कि ये तेरी श्वेता क्या करती होगी?

फिर उसके मुहं से गाली सुनकर मुझे बहुत अच्छा लगा। फिर मैंने अपने दोनो हाथो से उसका मुहं पकड़ कर उसके होंठ से अपने होंठ चिपका दिए और सोफे पर ही उसके ऊपर चड़कर होंठ, पूरे फेस, गर्दन और चेस्ट को चाटने लगा पागलो की तरह। फिर दोनों हाथों से उसकी चूचियां मसल दी। तभी श्वेता बोली मादरचोद धीरे कर कहीं भागी नहीं जा रही हूँ मे। अब मे श्वेता को बाँहों मे उठाकर बेडरूम में ले गया और उसको बेड पर लेटा दिया।

फिर श्वेता की साड़ी का एक पल्लू हाथ में ले कर खीँचकर साड़ी निकाल दी। वो सिर्फ़ ब्लाउज पेटिकोट मे एक रंडी की तरह बेड पर पड़ी थी। अब फ्रीज़ से एक शराब की बॉटल लाकर श्वेता के ऊपर पूरी खाली कर दी। उसका पूरा बदन भीग गया। में अब अपने कपड़े निकाल कर पूरा नंगा होकर श्वेता के ऊपर चड़कर उसको चाटने लगा। श्वेता मेरी रंडी आज तो तेरी चूत फाड़ के रख दूँगा। भोसड़ी की, तूने मेरे लंड को बहुत तड़पया है। आज लंड की पूरी गर्मी तेरी चूत मे निकल दूँगा। तेरी पूरी खुजली मिटा दूँगा हरामजादी, चूत मरवाने वाली रंडी, कुतीया, लंड की प्यासी।

फिर श्वेता बोली भड़वे जल्दी चोद ना, फाड़ दे अपनी भाभी की चूत, बना ले भाभी को अपनी रखैल, चोद जल्दी से इस रंडी को चोद। फिर मैंने उसका ब्लाउज और पेटिकोट फाड़ दिया। साली ने ब्लाउज में ब्रा और पेटीकोट में पेंटी पहनी ही नहीं थी। उसकी चूत साफ थी छोटे छोटे बालो के साथ मैंने अपना मुहं उसकी चूत पर रख दिया। क्या मस्त स्मेल कर रही थी अपनी जीभ उसकी चूत मे घुसाकर आगे पीछे करने लगा।

फिर श्वेता उह्ह आईई में मर गई फिर वो अपने दोनो हाथों से अपनी चूचियों को दबाते हुए बोली भोसड़ी के अब चोद ना। में उसकी चूत का मस्त रसीला पानी पी रहा था। क्या मस्त टेस्ट था। फिर मैंने अपने लंड पर चोकलेट सॉस डालकर श्वेता के नंगे बदन पर रगड़ना शुरू किया और श्वेता तड़प रही थी। श्वेता का फेस, चूचियां, पेट, जांघे, चूत, गांड, पीठ पूरा चोकलेट सॉस वाला हो गया था।

तभी मैंने श्वेता को ऊपर से नीचे तक उसके रसीले मादक बदन को चाटा और चोकलेट सॉस उफ़ क्या मस्त टेस्ट था। तभी मैंने वापस चोकलेट सॉस म लंड को डुबाकर श्वेता के मुहं में घुसा दिया। साली क्या मस्त चाट रही थी और लोलीपोप की तरह चूस रही थी। में उफ़ अह्ह्ह श्वेता मेरी रंडी मेरे लंड को खा जा उसकी पूरी प्यास बुझा दे और वो पागलो की तरह चूसे जा रही थी। तभी श्वेता मेरे ऊपर आ गयी और मेरे लंड पर अपनी चूत रखकर एक धक्का मारा लंड पूरा अंदर चला गया। फिर वो मुझे ज़ोर से चाटा मारते हुए बोली भडवे चोद और ज़ोर से चोद भोसड़ी के फाड़ दे मेरी चूत को आज उसको भोसड़ा बना दे।

फिर मैंने भी उसकी लटकती हुई चूचियों और गाल पर थप्पड़ मारे उसके बाल खींचते हुए कहा रंडी, कुतिया, और उसकी गांड पर भी थप्पड़ मारे। फिर में उसके ऊपर आकर उसे ज़ोर ज़ोर से चोदने लगा उसके होंठो से अपने होंठ लगाकर चूसने लगा। तभी श्वेता बोली बस अब मे झड़ने वाली हूँ बस प्रशांत। फिर में और ज़ोर से धक्के मारते हुए कहने लगा कि मेरी जान अब में भी झड़ने वाला हूँ। तभी मैंने पूरा वीर्य श्वेता की चूत मे छोड़ दिया।

फिर मैंने कुछ देर बाद लंड चूत से बाहर निकाला तो श्वेता ने जल्दी से अपने मुहं में लिया और पूरा का पूरा वीर्य चाट गई। फिर पूरी रात हम लोग बेड पर नंगे ही पड़े रहे कुछ खाए पिए बिना और चार पांच बार चुदाई की और मैंने कई दिनों की कसर आज उसकी चूत, गांड, मुहं से निकाली। मैंने अब उसकी चूत चोदकर भोसड़ा बना दिया है। वो भी एक रंडी की तरह मेरे लंड को इस्तमाल करने लगी है अब उसे रोजाना मेरा लंड चाहिए ।।

धन्यवाद …