Home / भाभी की चुदाई / पदमा भाभी चुदी ससुर से 1

पदमा भाभी चुदी ससुर से 1

प्रेषक : निखिल

हाय दोस्तों मेरा नाम निखिल है में मुंबई मे रहता हूँ मेरी उम्र 23 साल  मेरी फेमिली मे मेरे अलावा मेरे पापा बड़ा भाई भाभी और उनका एक छोटा बच्चा है में और पापा मुंबई मे रहते है अमित भैया और पदमा भाभी दिल्ली मे रहते है क्योकी वो वही जॉब करते है में अपनी पदमा  भाभी के बारे मे बताता हूँ उनकी उम्र 31 साल है और वो बहुत मोटी और गोरी भरे हुये बदन की औरत है उनकी लम्बाई 5.11 है वो मोटी है और उनके गोल गोरे पेट के बीचो बीच सेक्सी गोल गहरी नाभि है जो उनकी सुंदरता को और बड़ा देती है पदमा भाभी हमेशा साड़ी पहनती है और घुँगट मे अपना मुँह छिपा कर रखती है और उनका पेट और नाभि हमेशा दिखाई देते है अमित भाई की एक प्रोब्लम है वो है की बहुत सेक्सी और सेक्स के भूखे लेकिन उनका लंड बहुत जल्दी पानी छोड़ देता है.

उस दिन भाई ऑफीस से आये पदमा भाभी अपने मुन्ने को बेड पर लेट कर अपना पल्लू निकाल कर अपनी एक चूची उसके मुँह मे डाल कर दूध पीला रही थी भैया देखते ही मूड मे आ गये और वो अपना शर्ट निकाल कर भाभी के पास आये और मुन्ने को उठा कर एक तरफ कर दिया और सीधे भाभी पर टूट पड़े और उनकी एक चूची को हाथ से मसलते हुये उनके होठो को चूमने लगे और बाते करते हुये उनके ब्लाउज को निकाल दिया और फिर दोनो बूब्स को बारी बारी मुँह मे ले कर दबाते हुये चूसने लगे और निपल को दातो मे पकड़ कर काटने लगे पदमा भाभी अपने दातो तले होठो को दबाते हुये सिसकिया भरने लगी और भाई के बालो को सहलाने लगी.

पदमा भाभी का पेट काफ़ी मोटा है भाई ने पदमा भाभी के पेट को चूमना शुरू किया भाभी के पूरे बदन मे एक करंट सा दौड़ने लगा भाभी तड़पते हुये अपने पैरो को रगड़ने लगी उनका पेट काँपने लगा ज़ोर ज़ोर से फिर भाई ने पदमा भाभी की साड़ी निकाल दी और पेटीकोट भी और उनकी लंबी गहरी नाभि मे जीभ डाल कर चूसने लगे भाभी के मुँह से आह मेरे बल्म जी अआह ससस्स मेरे राजा जी उफफफ्फ़ मर गई और भाई का सिर पकड़ कर अपने पेट पर दबाने लगी और सिसकिया भरने लगी.

फिर भाई ने पदमा भाभी की पेंटी भी निकाल दी और उनकी चिकनी चूत पर चूमने लगे भाभी अपनी आँखे बंद करके भाई के बालो को सहला रही थी अब पदमा भाभी भाई के उपर आ गई और फिर उन्हे चूमते हुये नीचे आ कर चड्डी नीचे करके लंड को बाहर निकाल लिया और उसे मुँह मे ले कर सिर्फ़ 2 बार हाथ घुमाया की भाई का पानी निकल गया और वो भाभी से नज़रे चुरा कर सो गये पदमा भाभी को तो आदत हो गई थी वो हमेशा की तरह अपनी चूत मे उंगली करके झड़ गई और सो गयी दूसरे दिन भाई ने पदमा भाभी को कहा की मेरा प्रमोशन हो गया है और में 1 महीने की ट्रैनिंग के लिये जा रहा हूँ पापा यहा आयेगे तुम उनके साथ मुंबई चली जाना बोल कर भाई ट्रैनिंग पर निकल गये पदमा भाभी के ससुर यानी मेरे पापा दिल्ली पहुँच गये.

पदमा भाभी ने अपना घुँगट ओढ़ कर एक देसी बहू की तरह शरमाते हुये पापा का स्वागत किया पहले तो पापा और पदमा भाभी मे बस ससुर बहू का ही रिश्ता था दोनो के बीच कोई गंदा ख्याल नही था 1 दिन पापा सुबह जल्दी उठ कर कही जा रहे थे तो उनकी नज़र भाभी के कमरे पर पड़ी मुन्ने की रोने की आवाज़ आ रही थी पापा ने खिड़की मे से देखा तो पदमा भाभी अपनी साड़ी निकाल कर सोई थी उनका मोटा गोरा पेट पूरा झलक रहा था और उसके बीच नाभि देख कर पापा का लंड खड़ा हो गया और तो और भाभी के ब्लाउज से एक चूची बाहर लटक रही थी जिस का निपल मुन्ना के मुँह मे था और दूध पी रहा था पापा के दिमाग़ मे पहली बार भाभी की जवानी का ख्याल आया और वो बाथरूम में गये और वहा पदमा भाभी की पेंटी पड़ी थी.

पापा ने पेंटी हाथ मे ले कर पहले नाक पर लगा कर जी भर के सूँघा और फिर पूरी पेंटी चाट चाट कर गीली कर दी और मूठ मार के भाभी को चोदने का प्लान बनाने लगे पापा सुबह डाइनिंग टेबल पर बैठ गये पदमा भाभी किचन मे चाय बना रही थी पापा घूर घूर के भाभी की मोटी गांड को देख रहे थे भाभी को देखते ही पापा का लंड खड़ा हो गया था उन्होने लूँगी पहनी थी और जानबूझ कर अंडरवेयर नही पहनी थी पदमा भाभी अपना घुँगट ओढ़ कर पापा को चाय दे कर गांड मटकाते हुये चली गई अब भी पदमा भाभी पापा के गंदे इरादो से बेख़बर थी पापा बाहर गार्डन मे घूम रहे थे और फिर नीचे गिरने का नाटक किया और ज़ोर से चिल्ला दिये  पदमा बहू भाभी दोड़ते हुये आई तो देखा पापा नीचे गिरे है और उनके पैर मे मोच आ गई है.

पदमा भाभी का पल्लू गिर गया था पर उन्हे इस बात का ख्याल नही था वो झुक कर पापा को उठाने लगी जिनसे उनके बड़े बूब्स पापा की आँखो के सामने थे पापा का लंड एकदम से खड़ा हो गया और वो पदमा भाभी के गले मे हाथ डाल कर खड़े हो गये भाभी ने अपना पल्लू ठीक करके घुँगट मे अपना मुँह छिपा कर पापा को साथ ले कर उनके बेड पर छोड़ दिया उनका पल्लू वापस गिर गया फिर पापा ने कहा आ बहू मेरे घुटने मे चोट लगी है थोड़ा बल्म लगा कर मालिश तो कर दे पदमा भाभी ने कहा जी बाबूजी और पापा के पैरो मे बैठ गई पापा ने अपनी लूँगी घुटनो तक उठा ली पदमा भाभी ने बल्म उंगली मे ले कर जैसे ही पापा को टच किया पापा के बदन मे सरसराहट होने लगी उनका लंड तन गया जिस का उभार लूँगी पर से दिखने लगा पर पदमा भाभी ने ध्यान नही दिया.

फिर पापा ने सोने का नाटक किया और अपने पैर को थोड़ा मोड़ लिया जिससे पापा की लूँगी और नीचे आ गई और उनका लंड भाभी की आँखो के सामने आ गया पहले तो भाभी ने अनदेखा कर दिया पर पापा नींद मे है सोच कर वो घूर घूर कर लंड देखने लगी और दातो मे होठ दबाते हुये अपनी जीभ भी होठो पर घूमाने लगी अब पदमा भाभी भूल गयी की वो अपने ससुर का लंड देख रही है वो पापा के घुटनो को लंड की तरह रगड़ते हुये उनके लंड को घूरते जा रही थी और पापा सोते सोते अपने अंग दिखाने का मज़ा ले रहे थे फिर पापा ने कहा ठीक है बहू बस कर दर्द चला गया पदमा भाभी का मुँह लाल हो गया था वो बाथरूम मे जा कर लंबी लंबी सिसकिया भरने लगी और चूत मे उंगली करते हुये झड़ गयी अब पदमा भाभी भी पापा के लंड की प्यासी हो गई थी वो भी पापा से चुदने को बेकरार होने लगी अगला पार्ट बहुत जल्द लेकर आऊंगा.

धन्यवाद …