Home / सामूहिक चुदाई / मीना और राधा के साथ ग्रुप सेक्स

मीना और राधा के साथ ग्रुप सेक्स

प्रेषक : अमित
हैल्लो दोस्तो मेरा नाम अमित है.मै सिरसा हरियाण से हू. एक दिन मे कॉलेज से घर आ रहा था.मै बस मे दो सीट वाली साइड मे बैठा था. मेरे बगल वाली सीट पर कोई नहीं बैठा था तभी एक औरत आ कर मेरे बगल में बैठ गई रास्ते मै वोह औरत मेरे पैर पर पैर मारने लगी उसकी ये हरकत देख कर मेरा लंड खडा हो गया मैने अपना फ़ोन बहार निकाला और अपना नंबर स्क्रीन पर टाइप किया।
एक बार उस लेडी ने मेरा नंबर देख़ा फिर उसने भी अपने मोबाइल पर नंबर लिखा मेने जल्दी से अपने मोबाइल से उस लेडी के मोबाइल पर लिखा नंबर डायल किया मेने देखा कि वो नंबर उस औरत का ही था उसके नंबर पर रिंग जाते ही मेने फ़ोन काट दिया वो लेडी मेरी तरफ देकने लगी मेने उसे एक स्माइल दी उसने भी मेरी तरफ देख कर मुस्करा दिया अब मेरा लण्ड खडा हो चुका था
मेने सीट के नीचे से अपना पैर लेडी के पैर के ऊपर रख दिया थोड़ी देर में मेरा स्टॉप आ गया मेने अपनी सीट छोड़ दी और बस से नीचे उतर गया वो औरत भी मेरे पीछे ही बस से उतर गयी अब मै घर आ गया
 
पर मेरा लंड तो उस लेडी की चूत मारने के बारे में सोच रहा था मेने रात को उसका नंबर डायल किया तो उस लेडी ने हेल्लो बोला मेने कहा कि मै वो बोल रहा हू जो बस में आप के बगल में बैठा था। उसने कहा अच्छा जी बोलिए मै भी आप कि ही कॉल का वेट कर रही थी। आप कहाँ से हो मेने कहा मै सिरसा से हूँ। मेने उससे उसके बारे में पूछा उसने कहा में एक शादीशुदा महिला हू। मेरे पति काम से लगभाग घर से बहार ही रहते है में घर पर एकेली ही रहती हू।
मुझे लंड की बहुत प्यास है क्या तुम मेरी प्यास बुझा सकते हो तो कल मेरे घर पर आ जाओ मेने उसको अगले दिन आने के लिए बोल दिया।
 
अब में सोच भी नहीं सकता था कि वो इतनी जल्दी चूत में लंड लेने के लिए मान जायेगी बस फिर क्या था मेरा लंड पूरी रात उसकी चूत मारने के सपने लेता रहा।
अगले दिन मै सुबह जल्दी उठा और उस दिन मै कॉलेज नहीं गया आप को पता ही होगा कि मै कहाँ गया था।
 
मै उसके बताए हुए एड्रेस पर पहुँच गया मैने उसके घर पर पहुँच कर डोर बेलबजाई तो एक लेडी ने दरवाजा खोला  मै उसको देख कर डर गया यह वो लेडी नहीं थी जिसको में बस मे मिला था। इतने में इस लेडी ने मुझे कहा कि आप कोन है मैने कहा की मै अमित हू तो उसने कहा कि अच्छा तो आप अमित है मेने कहा जी हाँ मै ही हूँ अमित। उसने मुझे अंदर आने को कहा मेरी कुछ भी समझ नहीं आ रहा था कि ये लेडी कोन है।
तभी मेरी नजर उसके पीछे खड़ी लेडी पर पड़ी ये वो ही लेडी थी जो मेरे को बस में मिली थी उसने मेरे को एक स्माइल दी और कहा कि अमित डरो मत अंदर आ जाओ ये मेरी सहेली राधा है और राधा ये अमित है कल ही मेरा फ्रेंड बना था राधा ने भी मुज़े स्माइल दी जो लेडी मुझे बस में मिली थी उसका नाम मीना था।
 
हम तीनों अब अंदर चले गए मीना ने राधा को मेरे लिए पानी लाने को भेज दिया जब राधा पानी लाने गए तो मीना ने मुझे बताया कि राधा मेरी फ्रेंड है और इसका पति भी बहार रहता है। और इसको भी लंड की जरूरत है मेने इसको सब बता दिया है कि तुम यहाँ मेरी चूत मारने आए हो और राधा भी हमारे साथ सेक्स करेगी मै मन ही मन बहुत ख़ुश हुआ।
मेने कभी सपने में भी नहीं सोचा था कि मुझे एक साथ दो दो चूत मारने को मिलेगी में तो अब ग्रुप सेक्स के सपने देखने लगा इतने में राधा पानी लेकर आ गई मॆने राधा के हाथ से पानी का गिलास लिया गिलास देते टाइम राधा ने मेरे हाथ को छू लिया और मुझे एक सेक्सी स्माइल दी मेने पानी पिया।
 
मीना ने कहा कि तुम बाते करो मै अभी आती हू राधा मेरे बगल मै आकर बैठ गई उसने लाल कलर कि साड़ी  पहन रखी थी उसकी बड़े बड़े बोबे और क्या मस्त गांड थी मै तो पागल हो रहा था राधा ने धीरे से अपना हाथ मेरे लंड पर रख दिया और एक हाथ मेरे सिर के पीछे से करके मेरे कंधे पर रख दिया मेने अपने एक हाथ से राधा के बूब्स दबाने लगा दूसरे हाथ से उसके मुँह को अपनी तरफ करके उसके होठ पर अपना होठ रख दिया वो मेरे होठ को चूसने लगी मैने भी उसके होठो का रस पान करना शुरू कर दिया।
 
मैने अपनी जीभ राधा के मुहं में दे दी वो मेरी जीभ को जोर जोर से चूसने लगी जेसे कोई लंड ही चूस रही हो तभी राधा ने अपनी जीभ मेरे मुँह में डाल दी उसकी जीभ बहुत गरम थी जैसे ही मेने राधा कि जीभ अपने मुँह में ली मेरे सेक्स की इच्छा दुगनी हो गई। अब मेने अपना हाथ राधा कि चूत पर रख दिया राधा कि चिकनी चूत पर मेरा हाथ जाते ही मेरे लंड का तनाब दोगुना हो गया।
राधा कि चूत कि झांटे कटी हुई थी राधा ने मेरी पैंट की चैन खोल कर मेरा लंड बहार निकाल लिया और अपने हाथ से हिलाने लगी मै राधा कि चूत और बूब्स को मसलता गया फिर मैने एक एक करके राधा के सारे कपड़े उतर दिए राधा अब बिलकुल नंगी थी मेने उसके पूरे शरीर को चूमना चाटना शरू कर दिया। राधा ने भी मेरे सारे कपड़े उतार दिए अब हम दोनों बिलकुल नंगे थे एक दूसरे से लिपटे हुए थे कि तभी बहार से आवाज़ आई वाह क्या मस्त सीन है।
हमने जब देखा तो मीना बिलकुल नंगी खड़ी थी उसका बदन तो राधा के बदन को भी मात दे रहा था बहुत ही सेक्सी था। अब वो भी हमारे पास आ कर बैठ गई अब पूरे कमरे में चुदाई का माहोल बना हुआ था दो दो चूत  और एक लंड।
 
तभी मीना ने कहा कि चलो बेड रूम में चलते है। हम तीनो बेड रूम में चले गए बेड रूम में जाते ही मेने राधा को बेड पर लिटा दिया में राधा की चूत को चाटने लगा उसकी चूत का पानी पीने लगा। क्या मस्त स्वादिस्ट स्वाद था। मीना ने मेरे नो इंच लोडे को अपने मुहं में ले लिया और जोर जोर से चूसने लगी राधा एक हाथ से अपने बूब्स दबा रही थी और दूसरे हाथ से मीना कि चूत में अपनी उंगली डाल रही थी मेने अपना मुहं राधा कि चूत में दे रखा था।
में अपने एक हाथ से मीना के बूब्स मसल रहा था। कुछ टाइम के बाद में मीना कि चूत चाटने लगा अब राधा मेरा लंड चूस रही थी फिर मेने दोनों के होठों को चूसा अब राधा और मीना कि प्यासी चूत दोनों ही लंड के लिए तड़प रही थी।
 
मेने राधा और मीना को साथ साथ बिठा दिया और दोनों के बीच में मेरा लंड लेकर खड़ा हो गया अब दोनों मेरे लंड को एक साथ चूसने लगी कमरे में अह अह आहा कि आवाज़ आ रही थी अब मेरे लंड का पानी निकलने वाला था मेने अपने पानी दोनों के मुहं पर निकल दिया दोनों मेरा पानी पी गई।
 
और मीना ने पूरा मेरा लंड मुहं में लेकर साफ़ कर दिया। अब राधा मेरे लंड को चूसने लगी और मीना राधा कि चूत चाटने लगी और में मीना के निप्पल को अपने मुहं में लेकर जोर जोर से चूसने लगा। मीना जोर जोर से अह आहा कि आवाज़ निकालने लगी। मीना ने राधा कि चूत में अपना हाथ दे दिया राधा जोर जोर से ऊपर नीचे होने लगी और मादक आवाज़े निकालने लगी राधा ने मेरे लंड को जोर जोर से चूसना और चाटना चालू कर दिया अब मेरा लंड एक बार फिर खड़ा हो गया था।
 
राधा कि चूत लंड लेने के लिए बेकाबू हो रही थी अब राधा खड़ी हो कर मेरे लंड के ऊपर आकर बेठ गई मेने अपना लंड राधा की चूत के लिप्स पर सेट किया और नीचे से एक जोर का जटका मारा तो मेरा पूरा लंड राधा की चूत में घुस गया राधा कि चीख निकल गई हाय माँ मर गई निकालो इसको मेने राधा के दर्द को अनदेखा करते हुए नीचे से जोर जोर से धक्के मारने चालू कर दिये। अब राधा भी अपनी गांड हिला हिला कर मेरा साथ देने लगी मीना मेरे मुहं के ऊपर आ कर अपनी चूत के होठो को खोल कर अपनी चूत को मेरे मुहं में डाल दिया में उसकी चूत चूसने लगा में अपने मुहं से मीना कि चूत चूस रहा था। और लंड से राधा कि चूत मार रहा था। थोड़ी देर के बाद मेने अपना लंड राधा कि चूत से निकला और मेने मीना को घोड़ी बना कर उसकी चूत में पीछे से जाकर एक धक्के में पूरा लंड उसकी चूत में घुसेड़ दिया। उसने मेरा लंड अपनी चूत में जाते ही अपनी गांड को आगे पीछे करना चालू कर दिया। में जोर जोर से उसकी चूत में अपना लंड डाल रहा था। राधा मीना के आगे घोड़ी बन गई मीना कभी राधा कि चूत चाटती और कभी उसमे अपनी ऊँगली डाल देती राधा कि सिस्कारिया निकल रही थी तभी राधा ने जोर से चीख मारी मेने देखा तो मीना ने राधा कि गांड में अपनी दो ऊँगली डाल रखी है। ये देकर मेरा लंड  भी गांड मांगने लगा।
 
मेने अपने मुहं से मीना कि गांड पर थूक लगाया और अपना लंड मीना कि चूत से निकाल कर मीना के गांड पर रख दिया मीना डर गई। उसने कहा आप ये क्या कर रहे हो तभी राधा हँसने लगी और बोली मेरी जान अभी जो तू अपनी ऊँगली से मेरी गांड के साथ कर रही थी वो ही अमित अब अपने लंड से तेरी गांड के साथ करने वाला है। मीना ने कहा नहीं में तो मर ही जाउंगी. मेने कहा नहीं डार्लिंग डरने कि कोई बात नहीं में आराम से करूगा मेने मीना की गांड पर पीछे से धीरे से धक्का मारा मेरा आधा लंड मीना कि गांड में घुस गया। मेरे दूसरे धक्के में पुरे का पूरा लंड उसकी गांड में घुस गया मीना जोर जोर से चिल्लाने लगी निकालो में मर जाउंगी मेने धीरे धीरे धक्के मारने चालू कर दिए मीना का दर्द देख कर राधा ने धीरे धीरे उसके बूब्स मसलने चाटने और उसके होठ चूसने लगी थोड़ी देर बाद उसको मज़ा आने लगा। वो अब तो गांड हिला हिला कर सेक्स का मज़ा लेने लगी राधा भी अब मीना के मुहं में अपनी चूत डालकर घिसने लगी। अब हम तीनो एक साथ स्वर्ग की  सैर करने लगे बहुत ही मज़ा आ रहा था। कमरा अह अहह मुह्ह मुह्ह कि आवाज़ से गूंज रहा था। हम तीनो एक साथ झड़ गए राधा ने अपना पानी मीना से मुहं में छोड़ दिया मीना ने उसकी चूत चाट कर साफ़ कि मेने अपना लंड राधा के मुहं में दे दिया राधा मेरा सारा पानी पी गई और मेरे लंड को अपने होठो से साफ किया अब हम तीनो सेक्स का पूरा आनद ले चुके थे।उसके बाद तो हम आज तक कई बार ग्रुप सेक्स कर चुके है।
 
उम्मीद करता हूँ मेरी कहानी आप को पसंद आए होगी अगर पसंद आई है तो अपनी राय दे।
 
मेरा ईमेल आईडी : [email protected]
धन्यवाद …