Home / आंटी की चुदाई / कुवांरी मौसी की तड़प

कुवांरी मौसी की तड़प

प्रेषक : साहेब
हाय फ्रेंड्स में साहेब  और में अपनी पहली स्टोरी लिख रहा हूँ और मुझे आशा हे की आप को मेरी यह स्टोरी जरुर पसंद आयेगी तो अब स्टोरी पर आते हे तो दोस्तो मेरा नाम साहेब है, में  गुडगावं मे एक कम्पनी मे सॉफ्टवेयर इंजिनियर हूँ, पर ये बात तब की है जब में स्कूल मे था ओर अपने

घर पर था (गुड़गावं मेरा होमटाउन नही है), मेरे होमटाउन मे ही मेरी मौसी भी रहती थी ओर तब उनकी शादी नही हुई थी में आपको बता दूँ मौसी बहुत की बेहतरीन माल है  एकदम जब्रदस्त खूबसूरत है में तो उनका ज़माने से दीवाना था बस मोके नही मिल रहे थे, मौसी बी.एड कर रही थी ओर दिन मे उनका कॉलेज रहता था ओर दोपहर को वापस घर आती थी, मौसी के साथ माँ, नाना,नानी भी रहते है, पर वो तीनो जॉब करते है तो सब अपने ऑफीस निकल जाते है सुबह ओर दोपहर मे ही मौसी अकेली रहती है.

 
में अक्सर उनके यहा किसी भी टाइम चला जाता था, पर 12वी मे मैने कोचिंग उनके घर के पास ही लगा ली, वैसे मौसी के साथ मेरा रिश्ता शुरू से ही दोस्त जैसा है क्योकि उनकी ओर मेरी उम्र मे सिर्फ़6 साल का ही अन्तर था, हम दोनो काफ़ी मज़ाक मस्ती, डांस भी करते थे, ओर कभी वो मस्ती मे मुझे गालो पर किस भी कर दिया करती थी, में जब उनके यहा पढाई करता था तो हमेशा मौसी के साथ ही सोता था, ओर जब रात को सब सो जाते थे तो मौसी मेरे से चिपक जाया करती थी, क्या बताऊँ दोस्तो मेरा तो लंड खड़ा हो जाया करता था।
 
कभी वो मेरे पेरो पर अपने पेर रख लेती ओर कभी लंड पर हाथ ओर मे अंदर ही जल पड़ता था, पर डर से कुछ करता नही था, क्योकी मुझे लगता था की वो नींद मे है एक दिन सर का कॉल आया की कल कोचिंग दोपहर मे 3 से 5 रहेगी क्योकि शाम को उन्हे कुछ काम है, मैने ओके बोल कर फोन काट दिया अगले दिन में कोचिंग के लिये लेट हो गया तो सर ने मुझे डाटा ओर सर थोड़े सनकी है तो उन्होने मुझे क्लास से भगा दिया, मैने भी सोचा अच्छा है वैसे भी मन नही था दोपहर मे पढ़ने का, तो लौटते टाइम मे मौसी के घर चला गया.

 

मौसी घर मे अकेली थी मैने बेल बजाई तो मौसी ने डोर खोला ओर मुझे देख कर काफ़ी खुश हो गई में अंदर गया ओर पानी पी कर आराम से मौसी के साथ सोफे पर बैठ गया, मौसी मुझसे बाते करने लगी इधर उधर की क्या चल रहा,  कैसे हो, ओर ये सब बस, पर उनके दिमाग़ मे कुछ चल रहा था जिससे मे अंजान था बात करते करते अचानक मौसी उठी ओर बेडरूम मे जाकर लेट गई, तो मैने उनसे पुछा की क्या हुआ, थक गई हो, नींद आ रही है क्या तो बोली नही बस थोड़ा पेरो में दर्द है तो आराम करना चाहती हूँ.
 
मैने कहा ठीक है आप आराम करो में जा कर टी.वी देखता हूँ शाम को जब नाना नानी आ जायेगे तो उनसे मिल कर चला जाऊंगा इतना कह कर में वहा से जाने लगा इतने मे मौसी ने आवाज़ दी ओर कहा की साहेब सुनो तो मैने कहा हाँ मौसी बोलो तो वो कहने लगी की अगर बुरा ना मानो तो मेरे पेर थोड़ी देर दबा दो मैने कहा ठीक है ओर मैं उनके पेर दबाने लगा मौसी ने बिना दुप्पटे के सलवार-कुर्ता पहना हुआ था.
 
में उनके पेर दबाने लगा तो वो बोली की थोड़ा उपर तक दबाओ बहुत दर्द है साहेब तो मैं घुटने तक उनके पेर दबाने लगा, मुझे उनके पेर दबाने मे मज़ा आ रहा था ओर मे बहुत मसल मसल कर पेर दबा रहा था, फिर वो बोली की थोड़ा ओर उपर जाँघो तक दबाओ, तो में फिर अपने हाथ जाँघो तक ले जाने लगा ओर दबाने की जगह अपना हाथ उनकी जाँघो पर फेरने लगा उनकी आँखे बंद थी ओर वो पूरा मज़ा ले रही थी फिर उन्होने अपना एक हाथ नीचे करके अपने पज़ामे का नाडा खोल दिया में ये देख कर हैरान हो गया की आज मौसी चाहती क्या पर जो भी हो आज मेरी लॉटरी थी शायद अचानक वो मुझ से बोली की मेरे पूरे शरीर मे दर्द हो रहा है तुम एक काम करो मेरे उपर लेट जाओ ओर बस मेरी तो खुशी मे जान निकली जा रही थी।
 
मैं तुरंत उनके उपर लेट गया जैसे ही मे लेटा तो वो बोली की मेरी जीन्स उन्हे बॉडी मे गड़ रही है में इसे उतार दूँ तो में समझ गया की आज ये चुदना ही चाहती है मैने झट से अपनी जीन्स उतार दी ओर फिर से उनके ऊपर लेट गया मैं बस लेटा ही था की उन्होने मुझे कस कर जकड़ लिया बहुत टाइट हग था तो मेरा लंड अब क़ुतुबमीनार बन गया था ओर मौसी भी ये जान गई थी अब मेरा चेहरा ओर उनका चेहरा आमने सामने था ओर उनकी साँसे मेरी सांसो से टकरा रही थी जिससे एक अजीब सी गर्मी पैदा हो रही थी मै तो पागल हो रहा था हम दोनो एकदम चुप थे एकदम से उन्होने मुझे किस करना शुरू कर दिया.
 
अब तो मै भी रह ना पाया ओर उन्हे पागलो की तरह किस करने लगा क्या बताऊँ दोस्तो वो मेरी ज़िंदगी का पहला किस था वो फिलिंग तो मै आज तक नही भूला जब उनकी साँस ओर मेरी साँस एक थी मुझे बस उनकी खूशबु आ रही थी ओर उन्हे मेरी ओर वो सॉफ्ट होठ जब मे चूस रहा था तो क्या बताऊँ जन्नत मेरे पास थी. हमारा किस अच्छा चल रहा था ओर लगभग 20 मिनिट किस करने के बाद उन्होने किस करना छोड़ा ओर मेरे हाथ अपने बूब्स पर रख कर  बोली की साहेब इन्हे दबाओ मसल दो इन्हे ओर मैं अपने दोनो हाथो से उनके बूब्स दबाने लगा हाय दोस्तो क्या एकदम सॉफ्ट बूब्स थे मौसी के बयान नही कर सकता क्या सुकून मिल रहा था उन्हे दबाने में ओर फिर उन्होने अपना कुर्ता उतार दिया.
 
फिर ब्रा भी ओर बोली मेरे दूध पीओं प्लीज़ मै तो बस एक मासूम बच्चे की तरह उनकी हर बात मान रहा था ओर बिना कहे मैं उनके बूब्स पीने लगा ओर एक हाथ से उनका दूसरा बूब्स दबाने लगा दो मिनिट बाद वो बोली अब दूसरा पीओं ओर 15 मिनिट तक दूध चुसवाने के बाद वो बोली उठो और मेरा लंड पकड़ लिया क्या बताऊँ यार पहली बार किसी ओर ने मेरा लंड पकड़ा था वो भी मेरी सेक्सी मौसी ने बस मै पागल हो गया ओर उन्हे अपनी तरफ खीच लिया ओर वो बोली आराम से जानेमन मै सब सुख दूँगी तुझे ओर वो मेरे लंड को सहलाने लगी उसके बाद उन्होने उसे अपने मुँह मे ले लिया ओर चूसने लगी बाइ गॉड यार इससे अच्छा ज़िंदगी मे नही लगा ओर मैने उनके बाल पकड़ कर अपना लंड उनके मुँह मे झटके के साथ अन्दर किया तो वो उनके गले तक चला गया ओर वो हड़बड़ा गई.
 
बस उसके बाद मैने उन्हे खड़ा किया ओर उनका पजामा भी निकाल दिया फिर उन्हे बेड पर लिटा कर उनकी चूत से खेलने लगा और ये मेरा पहला सेक्स था पर ब्लू फिल्म देख देख कर  यार मै काफ़ी कुछ सीख चुका था ओर मैने अपनी उंगली चूत मे डाली अब वो चूत नही थी बल्कि एक लावा बन चुकी थी उनकी चूत पर छोटे छोटे बाल थे पर मुझे बहुत अच्छे लग रहे  थे उंगली करते करते मैने उनसे पूछा की क्या मे इसे चाट लूँ तो उन्होने तुरंत मेरा मुँह अपनी चूत पर रख दिया ओर मै उसे चाटने लगा ओर वो तो अब बिल्कुल बेकाबू होने लगी मरी जा  रही थी वो तो बिल्कुल उसकी चूत को चूसाने के लिये करीब 10 मिनिट तक चूसने के बाद उन्होने मुझे उठाया ओर कहा की बस अब ओर इन्तजार नही वरना वो मर जायेगी.
 
बस तू तो डाल दे मेरे अंदर बहुत टाइम से प्यासी है तेरी मौसी डाल दे मेरे साहेब ओर मेरे लंड को अपनी चूत पर खुद ही सेट करने लगी मै तो बस उनकी हर बात मान रहा था चूत पर लंड रखते ही वो बोली कब से तेरा लंड नाप रही थी पर तू कभी कुछ समझ ही नही रहा था आज आख़िर तुझे फंसा ही लिया अब मै सब समझ गया था की वो रात मे लंड पर हाथ नींद मे नही बल्कि होश मे रखती थी इस पर मैने उनसे कहा की साफ साफ नही बोल पा रही थी की चुदना है में भी कब से तुम्हे चोदने के लिये परेशान था बस ओर उन्होने मेरा लंड सेट कर दिया ओर गिड़गिडाने लगी की डाल दे अब बस ओर नही ओर मैने एक पूरी ताक़त से झटका लगाया तो वो फिसल गया ओर अंदर नही गया तो मौसी गुस्सा होने लगी ओर बोली की पहलवानी अभी नही डालने के बाद दिखाना अभी आराम से डाल.
 
अब एक तो वो टाइट चूत ओर दोनो सेक्स के बारे में अनजान थे तो कुछ समझ ही नही आ रहा था और फिर भी मैने उनकी बात सुनी ओर धीरे से लंड डालने लगा वो चिल्लाने लगी तो मैने किस करके उनकी आवाज़ को रोका ओर पूरा 6 इंच का लंड अंदर डाल दिया अब वो भी मस्त हो गई थी ओर गांड उपर उठा रही थी फुल सपोर्ट मैं हल्के हल्के से पहली बार था तो में  15 मिनिट मे ही आउट हो गया पर मौसी कहा मानने वाली थी उन्होने उसे फिर खड़ा कर दिया ओर बोली की एक ट्रिप ओर मेरी जान बस फिर क्या मैने उनकी इस तड़प को ढंग से समझा ओर इस बार आधे घंटे तक ज़ोर से चोदा वो आवाजे करने लगी धीरे धीरे धहररेमर गई  आआहह आहह धीरे जान फट जायेगी प्लीज जान आआहह हबा अहहा आ धीरे पर मैने तो खेल ज़ारी रखा ओर वो झड़ गई.
अब मैने इस बार अपना लंड बाहर निकाल कर ब्लू फिल्म स्टाइल की तरह पूरा माल उनके बूब्स ओर मुँह पर डाल दिया और इतने में मामा की गाड़ी की आवाज आई तो हम फटाफट अलग हो गये में जा कर बाहर टी.वी देखने लगा ओर मौसी बेडरूम मे ही लेटी रही ओर मामा को पागल बना कर में वहा से घर निकल आया उस दिन के बाद से तो मौसी को जब भी तड़प उठती मैने हमेशा उसे बुझाया।
धन्यवाद ..

20 comments

  1. GOOD SEX KI KAHANI TO HEPPY SANTOSH CHORASIA

  2. Nice story

  3. OK type story

  4. Good

  5. Madachod story

  6. yaar kya kahani likhi hai aise hi likhte raho bas hamara khayal rakhna koi ladki ya aunty ho to mujhe bhi batana.

  7. nies
    kass mari kujaa koi metay

  8. Good story. .

  9. Nice story

  10. rajesh singh have some fun

    Give .Me number shall we talk about sex power9009747502

    • तेरी मुहब्बत पर मेरा हक तो नही पर दिल चाहता है आखरी सास तक तेरा इंतजार करू ! आवश्यकता है …..
      सीधी भर्ती……
      लड़के / लड़कियों की ,…!
      सरसों
      काटने, उठाने, निकालने के लिये !
      10th/ 12th/MCOM/BA/MCA/MBA/B.sc/b.tech…
      फ़ेल / पास सब चलेंगे ,,
      साथ मे लायें- खेत मे कार्य करते हुये दो फोटो , और राशन
      कार्ड की फोटो कोपी ,,
      वेतन = कार्यानुसार
      सुविधायेँ = चाय, बीड़ी ,तम्बाकु, एक टाईम खाना ,,।
      नोट::दातली साथ लेकर आए?????