Home / पहली बार चुदाई / कुवांरी कन्या के साथ सेक्स

कुवांरी कन्या के साथ सेक्स

प्रेषक : वैभव
हाय फ्रेंड्स में वैभव गाज़ियाबाद से फिर से एक न्यू स्टोरी लेकर आया हूँ. आप लोगो ने मेरी  पुरानी स्टोरी को पढ़ा इसके लिये थैंक्स. तो में अपने नये रिडर्स को अपना परिचय दे देता हूँ में 23 साल का लड़का हूँ.  मेरी हाइट 5.9 है वजन 65 किलो है भरा पूरा शरीर, कलर गोरा. में सेल्स

ऑफीसर हूँ. तो बिना लेट हुये अपनी स्टोरी पर आता हूँ.

 
यह स्टोरी मेरी फ़ेसबुक फ्रेंड कनिष्का फ्रॉम सहारनपुर (नाम चेंज) उम्र 19, हाइट 5’5 वजन 70 किलो हे और उसका फेसकट बहुत अच्छा है, और उसके बड़े बड़े  बूब्स 40 की साइज के होगे. यह बात पिछले 1 साल पहले की है. में उससे फेसबुक पर चेटिंग करता था. वो मेरी सबसे अच्छी दोस्त है. लेकिन वो अभी अभी जवान हुई थी तो उस पर जवानी का नशा चढ़ा था. में सिर्फ उससे ही बात किया करता था.
 
एक बार मे किसी काम की वजह से उससे कुछ दिनो तक चेट नही कर पाया. तो वो गुस्सा करने लगी फिर मेने उसे समझाया की काम में बिज़ी था इसलिये बात नही कर सका. तो उसने मुझसे मेरा कॉन्टेक्ट नम्बर माँगा तो मेने दे दिया. उसके बाद वो मुझे फ़ोन करने लगी ओर हमारी फोन पर भी बाते होने लगी. कुछ टाइम नॉर्मल बात होने के बाद उसने मुझे प्रपोज कर  दिया तो मेने भी एक्सेप्ट कर लिया. फिर फोन पर हम घंटो बाते करते कुछ टाइम के बाद वो मुझे डबल मीनिंग मेसेज भेजने लगी. ओर इस तरह हम फोन पर सेक्स की बाते करने लगे. एक बार मेने उससे मिलने को कहा तो में सहारनपुर चला गया.
 
फिर हम मिले ओर हमने मूवी देखने का प्लान बनाया. मूवी में जैसे ही रोमान्टिक सीन आया मेने धीरे से उसका हाथ पकड़ा ओर सहलाने लगा. जब उसने कुछ नही कहा तो मेने अपना हाथ उसके बूब्स पर रख दिया क्या फीलिंग थी यार मस्त मोटे मोटे बूब्स थे उसके. मेने धीरे धीरे बूब्स पर हाथ फेरना स्टार्ट कर दिया. जिससे वो गर्म होने लगी ओर सिसकारियां लेने लगी उम्म्म्म हह. मेने अपना हाथ उसकी टी-शर्ट मे डाल कर उसके बूब्स दबा रहा था.
 
फिर मेने अपने होंठ उसके कापते हुये होंठो पर रख दिये क्या रसीले होंठ थे उसके. मेने उसका हाथ पकड़ कर अपने लंड पर रख दिया जो इस समय मेरी पेन्ट को फाड़ कर बाहर निकलने की कोशिश कर रहा था. मूवी ख़त्म होने के बाद मेने उसे एक किस की ओर वापस आ गया पर  उसकी प्यास भड़क चुकी थी ओर वो उसे शांत करना चाहती थी. फिर से हमारा फोन सेक्स शुरू हो गया अब में उसे चोदने के लिये मनाने की कोशिश करने लगा. लेकिन कही पर भी जगह नही थी उसे चोदने की क्योकि वो यहा नही आ सकती थी ओर उसकी फेमिली वालो की वजह से में उसके घर नही जा सकता था. तो फिर एक दिन उसके ऊपर रहने वाली लड़की ने यह बात सुन ली ओर उसके पेरेंट्स को एक शादी में जाना पड़ा वो अपनी परीक्षा की वजह से नही जा सकी. तो जैसे ही उसने मुझे बताया मेने उसके घर जाने का प्लान बना लिया, उसने भी हाँ कह दिया क्योकि वो भी मुझसे चुदना चाहती थी.
 
में शाम को 7 बजे उसके घर पहुच गया ओर रास्ते से मेने आते हुये एक वोट्का की बोतल ले ली. फिर में जैसे ही घर में अन्दर गया मेने उसे अपनी बाहो मे ले लिया ओर किस करने लगा 10 मिनिट तक किस करने के बाद मेने उसे छोड़ा तो वो हाफ़ रही थी. फिर हम अलग हुये  मेने उसे ग्लास ओर पानी लाने को कहा तो वो लेकर आ गयी अब मेने जैसे ही बोतल खोली वो कहने लगी मेने कभी नही पी तो में नहीं पीउंगी तो मेने उसे बड़ी मुश्किल से समझाया तो वो मान गयी. अब हमने पीना शुरू कर दिया,2 पेग लेने के बाद उसे काफ़ी नशा हो गया था तो मेने अपना एक पेक ओर लेकर बोतल बंद कर दी.
 
अब वो पूरे नशे मे थी तो मेने म्यूज़िक चला दिया ओर उसे मेरे साथ डांस करने के लिये बोला. नशे में उससे डांस भी नही हो रहा था तो वो मेरी बाहो मे झूलने लगी मे भी उसकी कमर से हाथ फेरता हुआ उसकी मस्त गोल गोल गांड पर हाथ रख कर धीरे धीरे दबा रहा था अब नशे के साथ साथ उसे मस्ती भी चड़ने लगी थी. फिर मेने उसे बेड पर लेटा दिया ओर रज़ाई डाल ली सर्दी चल रही थी ना. अब मेने उसे किस करना स्टार्ट कर दिया. कभी कान पर गर्दन पर ओर फिर स्मूच करने लगा धीरे से मेने अपना हाथ उसके बूब्स पर रख कर दबाने लगा फिर मेने धीरे धीरे अपने हाथ उसकी टी-शर्ट मे अंदर डाल कर उसके बूब्स दबाने लगा वो मस्त होने लगी जिससे वो अपनी आँखे बंद करके ह्म्‍म्म्मम आआआ कर रही थी.
 
फिर मेने उसकी टी-शर्ट को निकाल दिया माई गॉड क्या बूब्स थे उसके मोटे गोल शेप मे ओर बीच मे पिंक निपल. मे उन्हे देख कर पागल हो गया ओर अपने मुँह मे भर कर चूसने लगा. वो मस्त हुये जा रही थी मे एक हाथ से उसके लेफ्ट बूब्स को दबा रहा था ओर राइट बूब्स को मुँह  मे ले कर चूस रहा था. फिर मेने अपना हाथ उसके पजामे मे डाल दिया ओर उसकी चूत पर  रख दिया उसकी चूत पूरी भीग चुकी थी. पजामा टाइट होने की वजह से मेरा हाथ उसकी चूत  पर सही से नही था तो मेने उसे पजामा उतारने को कहा तो उसने पजामा ओर पेंटी एक साथ उतार दिये. अब उसकी चूत मेरे सामने थी. क्या मस्त चूत थी फूली हुई ओर उसके दोनो किनारे आपस मे ऐसे चिपके हुये थे जैसे कभी अलग नही होंगे.
 
मे चूत को धीरे धीरे सहलाने लगा तो वो मचल उठी. मेने चूत के होंठ खोलकर देखा तो मे चोंक गया वो एकदम टाइट ओर लाल रंग की थी. तो मेने पूछा की तुमने इससे पहले सेक्स किया है तो उसने मना कर दिया. दोस्तो वो बिना चुदी थी, ये सुन कर में बड़ा खुश हुआ की बड़े दिनो बाद सील तोड़ने को मिल रही है. अब मुझसे ओर नही रहा जा रहा था मेने अपने कपड़े निकाल दिये ओर उसका हाथ अपने खड़े लंड पर रख दिया. ओर झुक कर उसकी चूत पर अपना मुँह रख दिया, जैसे ही मेने उसकी चूत पर अपनी जीभ लगाई वो तुरन्त उठी ओर मेरा लंड कस के पकड़ के हिलाने लगी.
 
मे अब उसकी चूत चाट रहा था ओर वो मेरे लंड को सहला रही थी. करीब 5 मिनिट उसकी चूत  चाटने के बाद वो कहने लगी वैभव ओर तेज ओर तेज ओर मेरे सर को अपने हाथो से पकड़ कर चूत मे दबाते हुई चिल्लाई आआआआआआअहह बस बस वो झड़ चुकी थी. ओर मे उसका नमकीन पानी पी गया. अब मेने उसे अपना लंड चूसने को कहा तो वो मना करने लगी तो मेने उसे कहा की मेने भी तो किया है सब ऐसे ही सेक्स करते है तो वो मान गयी. उसने धीरे से मेरे लंड पर जीभ लगाई तो में सातवे आसमान मे उड़ने लगा मुझे बड़ा मज़ा आ रहा था. फिर वो लंड को मुँह में डाल कर चूसने लगी. मेरे मुँह से सिसकारी निकलने लगी आआआः हुउऊम्म्म्म ओह फिर जब में झड़ने वाला था तो मेने उसके सर को पकड़ के धक्के लगाने लगा ओर उसके मुँह में ही झड़ गया. अब मे फिर से उसे गर्म करने लगा उसके बूब्स दबाने ओर चूसने लगा.
 
मे एक हाथ से उसकी चूत सहला रहा था. अब मेने अपनी एक उंगली उसकी चूत में डालने लगा तो उसे दर्द होने लगा ओर उसने मेरा हाथ पकड़ लिया. फिर मेने जबरदस्ती अपनी उंगली अंदर डाल के अंदर बाहर करने लगा. वो गर्म हो गयी थी ओर मेरा लंड भी फिर खड़ा हो गया था. अब मे उसकी टांगो के बीच मे आ गया ओर उसकी टांगे ऊपर करके जैसे ही लंड चूत पर रखा तो वो मना करने लगी कहने लगी जब उंगली से उसे इतना दर्द हुआ तो ये तो इतना मोटा है  बहुत दर्द होगा. मेने उसे समझाया की शुरू शुरू में थोड़ा सा होगा फिर मज़ा ही मज़ा है मेरी जान. तो वो मान गयी पर फिर भी डर रही थी. अब मेने पोज़िशन बना के लंड को चूत पर रख कर जैसे ही धक्का मारा लंड फिसल गया,मेने उसके नीचे तकिया लगाया ओर फिर से लंड को चूत पर रख के धक्का मारा तो 1इंच लंड उसकी चूत मे घुस गया.
वो चिल्लाने लगी पर उसकी चीख सुनने वाला कोई नही था. वो मुझे धक्का देकर हटाने लगी ओर कहने लगी निकालो इसे मेरी चूत फाड़ दी तुमने. मे उसे किस करने लगा ओर उसके बूब्स दबाने लगा तब वो नार्मल हुई. इसके बाद मेने अपने होंठ उसके होंठ पर रखे ओर एक जोरदार शॉट मारा मेरा लंड उसकी सील तोड़ता हुआ उसकी चूत मे अंदर तक घुस गया, ओर इतना ज़ोर से चिल्लाई की पड़ोसी सुन लेते मेरे मुँह से उसका मुँह बंद होने के बाद भी बड़ी तेज आवाज़ निकली उसकी. ओर उसकी आँखो मे आंसू आने लगे वो रोने लगी ओर मुझे मारने लगी तो मेने उसके हाथ पकड़ लिये तो उसका मुँह आज़ाद हो गया वो ज़ोर से चिल्लाई छोड़ दो मुझे निकालो इसे मुझे नहीं करना है प्लीज मुझे बड़ा दर्द हो रहा है. आई मम्मी ओर रोने लगी तो मे उसे किस करने लगा ओर कहा की 2 मिनिट रुक जाओ हिलना मत नही तो दर्द होगा.
2 मिनिट तक मे ऐसे की उसके बूब्स दबाता रहा ओर उसे किस करता रहा फिर वो थोड़ी शांत हुई तो मेने धक्के लगाने शुरू किये तो उसे अब भी दर्द हो रहा था मेने धीरे धीरे करना स्टार्ट कर दिया लेकिन मेरा लंड बुरी तरह उसकी चूत मे जकड़ रखा था तो धीरे धीरे धक्के लगाना  मुश्किल हो रहा था. अब वो थोड़ी नॉर्मल हो गयी तो मेने धक्को की स्पीड बड़ा दी अब उसे भी मजा आने लगा ओर अपने मुँह से आआहहह हूंम्म्म ओह ईईसस्स्स्स्स्सस्स ह्म्‍म्महमममम्म करने लगी.
फिर 10 मिनिट तक धक्के लगाने के बाद अचानक उसने मुझे अपनी बाहों मे कस लिया ओर वो झड़ गयी. फिर मे नीचे लेट गया ओर उसे अपने ऊपर करके चूत मे लंड डाल कर चोदने लगा दोस्तो इस पोज़िशन मे मेरी स्पीड काफ़ी तेज होती है ये मेरी फेवरेट पोज़िशन है. 10 मिनिट तक पूरी स्पीड से चोदने के बाद वो झड़ गयी ओर मेरे ऊपर गिर गयी. अब वो मुझे बस बस कहने लगी मेने कहा की मेरा नही हुआ तो बोली की जान लो गे क्या मेरी. मेने उसे घोड़ी बनाया ओर फिर पीछे से उसकी चूत मे लंड डालकर चोदने लगा वो अआया आह करने लगी थोड़ी देर मे मेरा निकलने वाला था तो मेने पूछा की कहा निकालु तो उसने कहा अन्दर ही कर दो. तो मेने अपनी स्पीड बड़ा दी ओर फिर हम दोनो एक साथ झड़ गये. सारा माल उसकी चूत मे डाल कर ही उसके ऊपर लेट गया.
 
फिर हम सो गये मुझे सुबह उसके घर से निकलना था. सुबह मेरी आँख खुली तो देखा वो गांड  मेरी तरफ करके सोई थी ये देख कर मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया ओर में उसकी गांड  सहलाने लगा तो उसकी आँख खुल गयी तो मेने किस्सिंग स्टार्ट कर दी. मेने उससे कहा की में  तुम्हारी गांड मारना चाहता हूँ तो वो मना करने लगी. काफ़ी मनाने के बाद भी वो नही मानी तो मेने कहा की अब इस खड़े हुये लंड का तो कुछ करो तो उसने कहा ठीक है ओर उसने मुझे लेटा के खुद मेरे ऊपर आ गयी ओर चूत मेरे लंड पर रख कर कूदने लगी.
इस चुदाई के बाद में नहाया ओर वापस गाज़ियाबाद आ गया. इसके बाद उसकी शादी हो गयी ओर उसने मुझे कहा की तुम मुझे भूल जाओ अब हम कभी नही मिल सकते. लेकिन वो हसीन रात मुझे आज भी याद है तो दोस्तों आपको मेरी यह स्टोरी कैसी लगी जरुर बताये या ई-मेल करे. और अगर कोई लड़की या भाभी मुझसे सेक्स करना चाहती है तो मुझे मैल करे जो भी होगा वो सीक्रेट रखना मेरी आदत है.
धन्यवाद….