Home / कॉलेज सेक्स / कोमल भी सीख गई

कोमल भी सीख गई

प्रेषक : अमित

हाय फ्रेंड मुझे आशा है की आपको मेरी रियल लाइफ की स्टोरी अच्छी लग रही होंगी पहले में न्यू रीडर्स को बता दूँ की मेरा नाम अमित है और मेरी उम्र 19 साल है और मेरा लंड 7 इंच लंबा और 5 इंच चौड़ा है मुझे सेक्स करना बहुत अच्छा लगता है.

अब में आपको वो बात बता दूँ जो मेरे साथ तब हुई जब मे 10 वी क्लास मे था मेरी क्लास मे एक लड़की थी उसका नाम कोमल था वो देखने मे बहुत सुन्दर थी उसके बोबे छोटे छोटे थे उसकी कमर एकदम ज़ीरो साइज़ की थी जैसे किसी फिल्म की हिरोईन हो बाल लंबे उसकी आँखे इतनी नशीली थी की जब भी मे उससे बात करता था तो उसमे खो जाता था वो अपनी स्कर्ट की लम्बाई छोटी रखती थी उसकी स्कर्ट घुटने से 3 इंच उपर रहती थी वो चलती ऐसे थी की जैसे मोडलिंग कर रही हो वो मुझे बहुत पसंद थी मुझसे खुल कर बातें किया करती थी हम अच्छे फ्रेंड्स थे क्योकि में एक दिल्ली के एक अच्छे पब्लिक स्कूल मे था वहाँ सारे बच्चे खुले दिमाग के होते थे और किसी से भी सेक्स जैसी बातें करो तो कोई फर्क नही पड़ता था हमारी टीचर्स भी हमसे खुली हुई थी और कहती थी की यही उम्र होती है मौज मस्ती करने की पर साथ साथ मे पढाई पर भी ध्यान देना चाहिये वरना करियर की बैंड बज जायेगी हम सब मस्त रहते थे और पढाई मे भी अच्छे थे.

कोमल थोड़ी शर्माती थी ऐसी बातें करने मे हमारी साइन्स की बुक मे एक चैप्टर था रेप्रोडूसेशन हमारी टीचर पढ़ा रही थी क्लास मे तो उन्होने कहा की चिल्ड्रन आर बोर्न बाई सेक्सयुल इंटरकोर्स इन हुमैन्स टीचर उस चेप्टर में पुरुष और महिलाओं के स्पर्मं और एग के बारे में बता रही थी और कोमल उस दिन मेरे साथ बैठी थी उसे कुछ समझ मे नही आ रहा था उसने मुझसे पूछा की यह स्पर्म और एग क्या होता है मेने उससे कहा की टीचर पढ़ा रही है उससे ही पूछ ले उसने कहा की उसे शर्म आती है पूछने मे मेने उसे कहा की कैसी शर्म पूछ के तो देख उसने नही पूछा और वो पढ़ने लगी उसने मुझसे कहा की तू बता दे ना मुझे.

मेने उसे मज़ाक मज़ाक में बोला की स्पर्म देखेगी? उसने बिना किसी देरी के कह दिया हाँ बिल्कुल देखना चाहती हूँ मेरी तो खुशी का ठिकाना ही नही था आज एक और चूत मिलने वाली थी मेने उसे कहा की “स्कूल के बाद क्लास मे आ जाना में तुझे स्पर्म दिखा दूँगा वो बहुत ही भोली थी वो मान गयी स्कूल 1:30 दोपहर में खत्म हो गया.

मे क्लास मे बैठा हुआ अपनी कोमल का इंतज़ार कर रहा था मुझसे रहा नही जा रहा था मेने अपना लंड निकाला और एक बार मूठ मार लिया और सारा वीर्य ज़मीन पर गिरा दिया मे शांत होकर बैठ गया वो 10 मिनिट बाद आ गई मेने उसे अपने साथ बिठाया और बाते करने लग़ा वो ज़िद करने लगी की उसे स्पर्म देखना है मेने अपनी पेन्ट खोली और वो कहने लगी की यह क्या कर रहा है तू मेने कहा तुझे स्पर्म देखना है की नही उसने कहा “हाँ” मेने फिर अपनी चड्डी नीचे की और उसे कहा की इसी से स्पर्म निकलता है वो शर्मा रही थी मेने उसे कहा की शर्मा क्यों रही है हम पढाई ही तो कर रहे है यह प्रेक्टिकल है लंड सूखा हुआ था क्योंकी मेने एक बार मूठ मारा था मेने उसे कहा की इसे पेनिस कहते है साइन्स की भाषा मे और अपनी हिन्दी भाषा मे लंड  वो कहने लगी की लंड तो गली होती है मेने उसे कहा की आजकल लोग इसे गली की तरह ही प्रयोग करते है पर ऐसा नही है लंड पूरा सूखा हुआ था वो कहने लगी की यह तो छोटा है.

उस समय लंड करीब 2 इंच का हो रहा था क्योकी वो सूखा हुआ था मेने उसे कहा की इसे अपने हाथ मे पकड़ उसने अपना हाथ आगे बड़ाया और लंड को पकड़ लिया उसके हाथ उसके नाम की तरह ही बहुत कोमल थे इतने सॉफ्ट हाथ थे उसके की मानो गुलाब की पंखुड़िया लंड पकड़ रही हो मेने उसे लंड हिलाने को कहा उसने हिलाना शुरू किया थोड़ी देर हिलाने के बाद भी लंड खड़ा नही हुआ था मेने उसे कहा की लंड को अपने मुँह मे लेकर चूस उसने कहा यह तो गंदा होता है मेने उसे कहा की हट पगली कौन कहता है? उसे मेने फिर से कहा की मुँह मे ले उसने मुझे कहा की उसे इसका टेस्ट अच्छा नही लगा तो मेने उसे कहा की अगर अच्छा नही लगे तो बस हिला लेना उसने अपना मुँह खोला और लंड का सुपडा मुँह मे ले लिया जैसे ही उसने अपनी जीभ मेरे सुपडे से टच की तुरन्त ही मेरे बदन मे एक सिहरन सी दौड़ गयी मेरे मुँह से ”अहहहह” की आवाज़ निकल गयी उसे लगा की मुझे दर्द हो रहा है.

तो उसने लंड मुँह से बाहर निकाल दिया और मुझसे बोलने लगी की सॉरी मेने तुझे दर्द दिया मेने कहा तू भी ना बहुत भोली है मुझे तो अच्छा लग रहा था मेने उसे दोबारा लंड मुँह में लेने को कहा उसने लंड का सुपडा फिर से मुँह मे ले लिया मेने उसे कहा की लंड को आगे पीछे   कर उसने धीरे धीरे ऐसा करना शुरू किया लंड उसके मुँह मे जा रहा था फिर बाहर आ रहा था अब लंड धीरे धीरे खड़ा हो रहा था एक मिनिट के अंदर लंड पूरी फॉर्म मे आ गया था 7 इंच लंबा और 5 इंच मोटा वो यह देखकर हैरान हो गयी और पूछने लगी की यह इतना बड़ा कैसे हो गया  मेने उसे कहा जब तेरे जैसी कोई सुंदर और नाज़ुक लड़की इसे टच करती है अपने नरम गुलाबी लिप्स से तो इसमे जान आ जाती है वो अपनी तारीफ सुनते ही शर्मा कर मुस्कुराने लगी मेने उसे कहा की इसे पूरा मुँह मे ले उसने लंड अपने मुँह मे पूरा ले लिया वो लंड अपने हाथो से पकड़ कर अंदर बाहर कर रही थी लंड थूक से गीला हो गया था मेने उसे कहा की तू अब थक गयी होगी उसने “हाँ” कहा मेने उसे कहा की तू अपना सर मत हिलाओ.

मे अपने आप लंड अंदर बाहर कर लूँगा वो रुक गयी मेने उसका सर पकड़ा और लंड को धक्के मार कर अंदर बाहर करने लगा लंड भी बीच बीच मे उसके गले तक चला जाता था और उसे खांसी सी आ जाती थी खांसी की वजह से लंड पर बहुत सारा एक्सट्रा थूक लग जाता था जो की उसके मुँह से लेकर गर्दन तक लगा हुआ था और थोड़ा ज़मीन पर भी गिरा हुआ था थोड़ी देर बाद मे रुका और उसे पूछने लगा की टेस्ट कैसा लगा लंड का उसने कहा की थोड़ा नमकीन है और उसे नमकीन चीज़ बहुत पसंद है मेने दोबारा लंड उसके मुँह मे डाला और हिलाने लगा थोड़ी देर बाद मे झड़ने वाला था मेने उसे कहा की  अपने हाथ आगे कर तुझे स्पर्म दिखाता हूँ कैसा होता है उसने अपने हाथ आगे किये और मेने लंड उसके मुँह से बाहर निकाल कर उसके हाथों पर सारा वीर्य निकाल दिया वो उसे गोर से देखने लगी मेने उसे कहा की इससे सबका जन्म होता है इसे टेस्ट करके देख उसने अपनी जीभ उस पर लगाई उसे उसका टेस्ट पसंद आया उसने सारा का सारा वीर्य पी लिया.

फिर वो मुझसे कहने लगी की उसे जाना है उसकी कोचिंग क्लास के लिये मेने उसे कहा की हम भी तो पढ़ रहे है और अभी तो आधा ही प्रेक्टिकल हुआ है वो कहने लगी की आधा मतलब? मेने उसे कहा की लड़कियो के भी पानी निकलता है वो तो तू ही निकाल सकती है वो भी देखते है वो कहने लगी की वो कहा से निकलता है मेने कहा की तेरी चूत से जिसे हम वेजाइना कहते है साइन्स मे मेने उसे कहा  तू अपनी स्कर्ट उतार और मे तुझे वो निकाल के दिखाता हूँ.

पहले तो वो मना करने लगी मेने उसे समझाया की प्रेक्टिकल में हम दोनो को भाग लेना पड़ेगा वरना कुछ समझ मे नही आयेगा वो मान गयी मेने उसकी स्कर्ट उतारनी शुरू की उसकी पेंटी बिल्कुल सफ़ेद कलर की थी उसकी पेंटी मेने नीचे करी उसकी चूत पर एक भी बाल नही था वो अपनी चूत को हाथ से ढकने लगी मेने उसे कहा की मुझसे क्यों शर्मा रही है मेने भी तो तुझे अपना लंड दिखाया है ना यह बात सुनकर उसने अपने हाथ हटा दिये मेने उसे टेबल पर लिटाया और मैने उसकी टाँगे चौड़ी की फिर मेने अपनी जीभ उसकी चूत पर फेरी मैने उसकी कुछ नहीं सुनी और चूत चाटनी शुरू कर दी चूत का मस्त टेस्ट था मेने उसकी टाँगे अपने कंधो पर रखी उसे अपनी तरफ खीचा और अपना पूरा मुँह उसकी चूत पर लगा कर उसे चूसने लगा चूत बड़ी सॉफ्ट थी उसकी मे उसे बुरी तरह से चाट रहा था चूत थूक से बुरी तरह से सन चुकी थी थूक लगा लगा कर मे उसे बार बार गीला कर रहा था उसकी गांड तक थूक जा रहा था जिसे मेने अपने मुँह से चाट रहा था.

फिर मेने धीरे धीरे अपनी एक उंगली उसकी चूत मे डाली उसकी सिसकीयां निकल गयी उसने मेरा हाथ धीरे से पकड़ लिया पर मुझे रोका नही मेने फिर उंगली अंदर बाहर करनी शुरू की चूत का पानी अभी नही निकल रहा था वो आहहाहहा!!!ओह!ह!!!ओो!!! वाली आवाज़े निकाल रही थी फिर वो अचानक मुझसे कहने लागी की उसे कुछ हो रहा है मे समझ गया की यह अब मस्त हो चुकी है और झड़ने वाली है मेने उंगली और तेज़ी से अंदर बाहर करनी शुरू कर दी थोड़ी देर बाद उसका बदन अकड़ने लगा और उसके पैर की उंगलियाँ सिकुड़ने लगी मुझे पता चल गया की अब इसके झड़ने मे कुछ पल ही बचे है मे चूत पूरे ज़ोर से दबा दबा के चाट रहा था उसने अचानक ही अपनी चूत के पानी की पिचकारी मेरे मुँह पर मार दी मेरा पूरा मुँह चूत के रस से सन गया उसे अभी चूदने का एक्सपीरियन्स नही था इसीलिये वो कंट्रोल नही कर पाई अपना झड़ना वो अब शांत हो चुकी थी.

वो उठी और मुझे देख कर कहने लगी सॉरी मेने तेरा मुँह गंदा कर दिया और फिर उसने अपना रुमाल निकाल के दिया मेने उसे कहा की तू भी ना पागल है मुझे तो मज़ा आया तुझे कैसा लगा उसने शर्मा कर कहा की उसे भी बहुत मज़ा आया मेने फिर उसे कहा की तू दोबारा ऐसा कर सकती है क्या?? उसने कहा “हाँ” मेने फिर से उसे लेटाया और उसकी चूत दोबारा चाटनी शुरू कर दी उसने दो बार और मेरे मुँह पर अपना रस झाड़ा और मे सारा रस पी गया.

उसे मेने फिर घोड़ी बनने को कहा और मे उसके पीछे आ गया उसकी गांड छोटी छोटी थी उस पर मेने हाथ फेरना शुरू किया और फिर उसकी चूतडो के बीच मे अपना मुँह डालकर दबाने लगा उसे यह अच्छा लग रहा था मेने उसकी चूतडो को अपने हाथ से खोला और उसकी गांड का छेद देखा तो वो एकदम गोरा था मेने उसमे अपनी जीभ लगाई और थूक भी लगाया मे अपना अंगूठा उसकी चूत मे डालकर हिलाने लगा और  साथ मे उसकी गांड चाटने लगा गांड पूरी गीली कर दी थी मेने फिर मेने उसे मेरा लंड चूसने को कहा वो मज़े से लंड चूसने लगी लंड चुदाई के लिये तैयार था मेने उसे फिर टेबल पर सीधा लेटने को कहा मेने अपना लंड उसकी चूत पर रगड़ा वो कहने लगी की ये क्या कर रहा है? मेंने उसे कहा की जब लंड चूत मे जाता है तो ही असली मज़ा आता है और ऐसे ही बच्चा पैदा होता है वो अब कुछ कुछ समझ रही थी मे उसे चोदना चाहता हूँ पर वो कुछ नही बोली मेने फिर लंड उसकी चूत मे आधा डाला उसकी चीख निकल गयी निकाल बाहर इसे निकाल प्लीज दर्द हो रहा है मेने उसकी एक ना सुनी और एक ही झटके मे पूरा लंड उसकी चूत मे समा गया उसकी सील पहले से ही टूटी हुई थी क्योकि वो जिम और स्विम्मिंग करती थी.

मे उसके उपर चड गया उसका चेहरा इतना मासूम लग रहा था की मे बता भी नही सकता उसकी आँखो से आँसू निकल गये थे मेने उसे कहा की तुझे थोडी देर मे मज़ा आयेगा मे उसकी आँखो मे आँसू नही देख सकता था मेने धीरे धीरे धक्के मारने शुरू किया उसके मुँह से आहहहहहह!!ऑश!! आवाज़े निकल रही थी मेने उसे पूछा की अब मज़ा आ रहा है ना उसने कहा हाँ आ रहा है मेने उसे कहा की असली मज़ा तो तुझे तब आयेगा जब में तेरी चूत मे अपना गर्म गर्म स्पर्म निकालूँगा वो चुपचाप सुनती रही और मुझे पीठ से जकड़ लिया मे धक्के मारे जा रहा था और वो मस्ती की वजह से चीखे जा रही थी

फिर मेने उसकी शर्ट के बटन खोले और उसके बूब्स दबाने लगा उसने सफ़ेद कलर की ब्रा पहनी हुई थी धक्के मारते मारते मेने उसकी ब्रा नीचे की और उसके बोबे चूसने लगा अब वो और भी मस्त हो गई थी सक इट बेबी सक इट” कह रही थी मे भी पूरे जोश से चूसे जा रहा था उन्हे चूदते हुये वो तीन बार और झड़ गयी लंड रस की वजह से अब बिना किसी रुकावट के हिल रहा था 30 धक्के के बाद मे झड़ने वाला था.

 

मेने उसे कहा की अब तू असली मजा ले लंड से वीर्य धीरे धीरे निकलता है इसीलिये जब पहला फ्लो आया वीर्य का तो वो कहने लगी मुझे कुछ फिल हो रहा है ओोूओहू!!!! ह!!!!” हर झटके के साथ वीर्य उसकी चूत मे प्रवेश कर रहा था वो यह कहते कहते शांत हो गयी और मे उसके उपर लेटा रहा मेने उसे कहा मेरी कोई गर्लफ्रेंड नही है तू बनेगी मेरी गर्लफ्रेंड  उसने बिना सोचे समझे हाँ कह दिया मेने उसे किस किया और फिर उसे उठाया अपनी बाहों मे मेने उसे आइ लव यू कहा और उसके होठ चूम लिये उसने भी मुझे आइ लव यू कहा और वो फिरकिस करने लगे हमारी जीभ एक दूसरे से लड़ रही थी.

मेने उसे कहा की आज के लिये बस इतनी ही पढाई काफ़ी है बाकी किसी और दिन करेंगे हम दोनो ने कपड़े पहने और घर चले गये  अगले दिन क्लास मे मे बैठा हुआ था और पता नही कहा से वो अपनी दोस्तों के साथ ब्लू फिल्म देखकर आ गयी थी बीच क्लास मे वो मेरे पास आकर मेरी गोद मे बैठ गयी मेरे गले मे बाहे डाली और कहने लगी की उसे किस चाहिये वो गर्म थी हमारा फ्री पीरियड था तो इसीलिये क्लास मे कोई टीचर नही थी सारी क्लास क्लास बोल रही थी “किस दो” “किस दो” “किस दो” हमारे स्कूल मे जैसा की मेने आपको बताया सब खुले दिमाग के थे मेने उसे जोश मे आकर उसके होठ चूमने लगा सारी क्लास तालियाँ बजा रही थी उसने मेरे कान मे कहा की उसे पढाई करनी है मे समझ गया मेने उसे कहा की स्कूल के बाद सारी लड़कियाँ आवों और लड़कियां भी कहने लगी की उन्हे भी मेरी गर्लफ्रेंड बनना है.

मेने मना कर दिया क्योंकी मे कोमल को बहुत चाहता था पर मेने उनको कहा की क्लास मे और भी लड़के है उनसे सेट्टिंग कर लो मेने सारी क्लास के सामने हर एक के पोले खोल दिये कौन किसके नाम की मूठ मारता है मानो या ना मानो वो लड़कियां उन सब की दीवानी हो गयी और इस तरह मेरी क्लास मे सबकी सेट्टिंग हो गयी स्कूल के बाद हम रोज़ चुदाई किया करते थे क्लास रूम मे मज़ा आता था क्या दिन थे वो बाद मे उसके पापा की ट्रान्सफर हो गयी और वो वहा से चली गयी मे आज भी उसे बहुत पसंद करता हूँ  कोई लड़की या औरत जिसकी उम्र 18 से 40 साल हो मेरी इस प्यास को बुझाना चाहती हो तो मुझे मैल करना प्लीज़ अपने वोट और कॉमेंट्स भी डालियेगा में आप के मेल का इन्तजार करूँगा.

धन्यवाद..