Home / आंटी की चुदाई / जिद्दी आंटी को ब्लेकमेल करके चोदा

जिद्दी आंटी को ब्लेकमेल करके चोदा

प्रेषक : राहुल
हाय दोस्तों मे एक 19 साल का गुड लुकिंग लड़का हूँ मे दिल्ली से हूँ ओर अभी-अभी Ist ईयर कम्प्लीट किया है रोज़ जिम जाने की वजह से मेरी बॉडी अच्छी है जिस पर कोई भी लड़की फिदा हो सकती है लेकिन अभी तक मेरी कोई गर्लफ्रेंड नही है लेकिन मे एक शर्मिला लड़का हूँ मे लड़की को कहने से डरता हूँ की वो मेरे बारे मे क्या सोचेगी इसकी वजह से मेरा इंटरेस्ट शादीशुदा आंटी मे हो गया ये मेरी फर्स्ट स्टोरी है ये मेरा पहला सेक्स जो आंटी के साथ कुछ दिनो पहले हुआ अगर लिखने मे कोई ग़लती हो तो प्लीज माफ़ करना हमारे घर मे 6 मेंबर है मेरे पापा,मम्मी, अंकल, आंटी में और उनकी लड़की जो अभी 3 साल की है.

अब मे अपनी आंटी के बारे मे बताता हूँ वो 25 साल की है और फेयर कलर, बड़ी बड़ी आँखे,नाइस बूब्स गुड फिगर वो उर्मिला जैसी दिखती है मेरे अंकल की शादी 6 साल पहले हुई थी तब मुझे सेक्स के बारे मे ज़्यादा पता नही था और मेरे कुछ ही फ्रेंड्स है लेकिन जब मे 12 वी क्लास मे आया तो मूठ मारने लगा ओर मे सेक्स की तलाश करने लगा मेरा माइंड उनकी और जाने लगा जब वो अपनी बेटी को दूध पिलाती थी तो मे उनके बूब्स देखता था ओर मेरा लंड खड़ा हो जाता था तब मेने सोचा की अगर उनको फंसा लो तो घर मे काम चल जायेगा वो पहले मेरे से फ्रेंक नही थी लेकिन जब मे बड़ा हुआ तो वो मुझसे मेरे दोस्तो के बारे मे पूछती थी की क्या तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड है लेकिन मे उन्हे मना कर देता था.
में उनको फंसाने के नये नये आइडिया ढूढ़ता था लेकिन वो मुझे कभी चान्स नही देती थी वो मुझे अपना बेटा जैसा मानती थी उनके दिल मे मेरे लिये सेक्स की कोई भावना नही थी मे आपको एक बात तो बताना भूल गया ये बात तब की है जब मेरे अंकल की शादी को कुछ ही दिन हुये थे मेरे अंकल के एक फ्रेंड हमारे घर आये थे वो सुन्दर है उससे मेरी आंटी छुप छुप के बाते करती थी तब मे छोटा था जिसकी वजह से मुझे ठीक से याद नही लेकिन एक दिन हमारे घर पर सिर्फ़ मे ओर मेरी आंटी थे उस दिन वो अंकल आये ओर मुझे खेलने जाने को बोला ओर मे खेलने चला गया लेकिन उस दिन कोई खेलने नही आया था तो मे जल्दी घर आ गया मेने देखा की बाहर का गेट खुला था.

मे अंदर गया तो देखा की अंदर से कुछ अजीब सी आवाज़े आ रही है ऊऊहह चोद दो मजा आ रहा है आ उई माआअहह उफफफ्फ़ दुख रहा है हाआअ थोड़ा धीरे करो मे अपनी आंटी के रूम की तरफ गया तो देखा की डोर लॉक था मेने दरवाजे से कान लगा कर सुना तो अंदर से आंटी की सिसकारियो की आवाज़े आ रही थी आहाहाः हाः हूहो हो आराम से अहहहह मुझे कुछ अजीब लग था मे उन्हे देखने के लिये रास्ता ढूढ़ने लगा तभी मुझे विंडो दिखी जिस पर पर्दा लगा था मेने आराम से पर्दा हटा कर देखा तो मे हैरान रह गया मेरी आंटी ओर वो अंकल दोनो नंगे बेड पर पड़े थे आंटी उपर थी ओर अंकल नीचे दोनो उल्टे पोज़िशन मे लेटे थे 69 पोजीशन में आंटी उनका लंड चूस रही थी ओर अंकल अपनी जीभ उनकी लाल चूत के अंदर डाले हुये थे मे यह देख के डर गया ओर वहा से भाग गया.

मैने आज तक वो बात किसी को नही बताई अब मे जब अपनी आंटी को चोदने के आइडिया ढूढ़ता था तो मुझे वो बात याद आई अब मैने सोचा की ये अच्छा आइडिया है उनको ब्लेकमेल करके चोदने का लेकिन मुझे कभी उनके साथ अकेले रहने का मौका नही मिलता था लेकिन फिर भी मे उन्हे नंगा देखने की कोशिश करता था एक दिन जब वो नहाने जा रही थी तो मे पीछे पीछे उनके टायलेट के पास गया उन्होने अंदर जाकर दरवाजा लॉक कर लिया मे दरवाजे के पास खड़ा होकर उन्हे दरवाजे के छेद से देखने लगा उन्होंने पहले अपनी साड़ी उतारी, उन्होने लाल ब्रा और सफ़ेद पेंटी पहनी थी मे उन्हे ब्रा ओर पेंटी मे देखकर शॉक हो गया मेरा लंड पूरा खड़ा होकर उपर नीचे होने लगा मुझे लगा की मेरी पेन्ट फट जायेगी मेने उसे एड्जस्ट किया अब उन्होने अपने दोनो हाथ पीछे ले जा कर अपनी ब्रा की स्ट्रीप खोल दी ओर अपनी बड़ी बड़ी चूची आज़ाद कर दी मे और भी पागल हुआ जा रहा था, वाउ! क्या चूचे थे मन कर रहा था की अभी उनको मुँह मे क़ैद कर लूँ और अपने दोनों हाथो से उन्हे मसल दूँ लेकिन ये मुमकिन नही था.
तभी उन्होने अपनी चूत को पेंटी के उपर से ही हाथ से सहलाया ओर बूब्स को अपने हाथो से दबाने लगी शायद उनको उस टाइम चूदने की इच्छा हो रही थी अब उन्होने अपनी पेंटी को झुक कर निकाल दिया ओह यार क्या चूत थी एकदम फूली हुई ओर पिंक कलर की मे तो दिवाना हो गया उनकी चूत का मैने पहली बार किसी लेडी को अपने सामने नंगा देखा था ओर मुझे पता चल गया था की चूत ऐसी होती है मेरे से रुका नही गया मैने अपना लंड बाहर निकाल लिया ओर सहलाने लगा.

अब आंटी टायलेट के फ्लोर पर बैठ गयी ओर पास पड़ा टायलेट साफ करने का ब्रश उठाया ओर अपनी प्यारी सी चूत मे डाल लिया ओर ज़ोर ज़ोर से अंदर बाहर करने लगी मुझे ये देख कर जोश चड रहा था मे अपना 7 इंच का लंड ओर ज़ोर से हिलाने लगा आंटी अब झड़ने वाली थी उनके मुँह से ज़ोर ज़ोर से आवाज़े आ रही थी अहाहाआ ऑश उउउ ईईइ अहहहहाअ ओर इसी के साथ उनकी चूत से पानी निकलने लगा अब मे भी झड़ने वाला था मे अपने रूम मे आया ओर एक पेपर नीचे लगाकर ज़ोर से अपना वीर्य निकाल दिया अब मेरी आंटी के लिये तड़प ओर बढ़ गयी ओर तब मुझे ये सपना साकार होता नज़र आया जब मेरे अंकल बीमार हो गये ओर उन्हे हॉस्पिटल मे एड्मिट कराया गया तब मेरी आंटी ने कहा की उन्हे अकेले सोने मे डर लगता है इसलिये मे उनके रूम मे सो जाऊं ये बात सुनकर मेरी ख़ुशी का ठिकाना नही रहा ओर मेने तुरंत हाँ कर दी अब मुझे रात का इंतजार था मेने रात के लिये सब कुछ डिसाइड कर लिया था रात को हम सब खाना ख़ाके सोने के लिये चले गये रूम मे एक ही बेड था मुझे जल्दी सोने की आदत नही है सो मैने लेपटॉप ओंन कर लिया रूम की लाइट जल रही थी.

तभी आंटी ने मुझसे कहा की तुम थोड़ी देर के लिये बाहर जाओ मे ज़रा चेंज कर लेती हूँ मे बाहर चला गया लेकिन मे उन्हे छुप कर देखने लगा उन्होने अपने कपड़े उतारे ग़ज़ब की बात ये थी की उन्होने नीचे कुछ नही पहना था लेकिन मेरे लिये ये बुरा वक़्त था उन्होने मुझे सामने वाले कांच मे से देख लिया था मे डर गया ओर बाहर जाने लगा थोड़ी देर बाद आंटी बाहर आई उन्होने ब्लू कलर की नाइटी पहनी हुई थी उसमे वो हिरोइन से भी सुन्दर लग रही थी उन्हे देखकर मैने नज़रे झुका ली तब वो मेरे पास आकर बेठी ओर मुझे समझाने लगी की मे तुम्हारी माँ जैसी हूँ उसे ऐसे काम नही करने चाहिये मैने उन्हे सॉरी बोला तब वो सोने के लिये चली गयी ओर मे उनके कंप्यूटर को चेक करने लगा.

मेरी उनको देख कर बैचेनी बढ़ रही थी मे खुद को रोक नही पा रहा था तो मैने नेट पर कामुकता डॉट कॉम साइट खोली ओर सेक्सी कहनियाँ पढ़ने लगा मेरा लंड धीरे-धीरे खड़ा होने लगा दो तीन हॉट स्टोरी पढ़ने के बाद मैने अपना लंड बाहर निकाल लिया ओर मूठ मारने लगा अब मैने खड़े होकर लाइट बंद कर दी ओर मे जाकर आंटी के साथ मे बैठ गया मै एक हाथ से उनके बूब्स को मसलने लगा ओर दूसरे हाथ से अपना लंड हिलाता रहा थोड़ी देर बाद मेरा जोश बढ़ गया ओर मैने उनके बूब्स ज़ोर से दबा दिये उनकी चीख निकल गयी और वो उठ गयी मुझे इस हालत मे देखकर वो बहुत ही गुस्से मे आ गयी मुझे डाँटने लगी.
मैने उनकी एक ना सुनी ओर उन्हे बेड पर लेटा कर उनके उपर आ गया ओर उनके होठ पर अपने होठ रख दिये लेकिन वो तैयार नही थी ओर मुझे दूसरी तरफ धक्का दे कर उठ गयी.
आंटी : मे अभी तुम्हारे मम्मी पापा को बताती हूँ.
मे : अगर तुम उन्हे बताओगी तो मे भी तुम्हारा राज सबके सामने खोल दूँगा.
आंटी : कोंन सा राज.
मे : वही तुम्हारी अंकल के दोस्त के साथ चुदाई का राज़ अब आंटी के शॉक होने की बारी थी वो डर गयी ओर मेरे पास आकर बैठ गयी.
मे : मुझे तुम्हारी अंकल के दोस्त के साथ चुदाई का सब पता है तुम्हे इस राज़ को राज़ रखने के लिये मेरे साथ सेक्स करना होगा.
आंटी : नही तुम मेरे बेटे जैसे हो मे तुम्हारे साथ कैसे कर सकती हूँ.
मे : मे अब एक लड़का हूँ ओर तुम एक लड़की हो अब हमारे बीच कोई रिश्ता नही है अब आंटी चुप बैठी थी उनकी गर्दन नीचे थी.
मे समझ गया की अब वो मजबूर है मैने उनका हाथ पकड़ कर अपनी तरफ खीचा वो बिना कुछ बोले मेरे पास लेट गयी अब मैने उनके मुँह पर मुँह रखा ओर एक जोरदार स्मूच जड़ दिया मैने दोनो हाथ उसके दोनो बूब्स पर रख दिये ओर मसलने लगा हमारा किस 10 मिनिट चलता रहा अब वो भी गर्म होने लगी ओर मेरा नीचे से साथ देने लगी मैने अब उनकी नाइटी ब्रेस्ट से हटा दी मे उसके चूचे को इतनी पास से देखकर खुद को रोक नही पाया ओर लेफ्ट बूब्स को मुँह मे दबाने लगा बूब्स बड़ा था वो आधा ही मेरे मुँह मे आ रहा था अब मेरी आंटी के मुँह से आवाज़े आनी शुरू हो गयी अहहहहाहहा वो मेरा पूरा साथ देने लगी उसने अपने दोनो हाथो से अपने चूचे को मेरे मुँह मे धकेलने लगी अब मे इतना सहन नही कर सका क्योंकी मेरा पहली बार किसी लेडी के साथ ये एक्सपीरियन्स था ओर मे झड़ने लगा आहह आहह आंटी मे गया आहहह इसी के साथ मेरा वीर्य आंटी के बूब्स पर गिर गया मैने कपड़े से उसे साफ किया अब थोड़ी देर के लिये में फ्री हो गया लेकिन आंटी एक्सपीरियन्स्ड थी उन्होने मुझे नीचे लेटाया ओर मेरे उपर चड गयी जैसे कोई घोड़े पर सवारी के लिये चड़ता है.

उन्होंने मेरे 7 इंच के लंड को अपने हाथ मे पकड़कर कहा की तेरा तो बहुत ही बड़ा ओर मोटा है (मेरा लंड अंकल के लंड से मोटा है) ओर उन्होने मेरे लंड को अपने मुँह मे ले लिया अब मेरे आनन्द का ठिकाना नही था वो उसे बिल्कुल लोलीपोप की तरह चूस रही थी जैसे कोई बच्चा चूसता है ओर बड़ी ही सेक्सी लग रही थी मेरा लंड अब विशाल होता जा रहा था अब मैने आंटी की बची हुई नाइटी को उतार दिया ओर उन्होने मेरी शर्ट ओर शोर्ट को निकाल दिया अब हम दोनो नंगे थे ओर सेक्स के नशे मे डूबे हुये थे मेने आंटी को 69 की पोज़िशन मे आने को कहा उन्होने जल्दी से मेरे उपर अपनी फूली हुई चूत फैला दी उनकी चूत बिल्कुल गीली हो गयी थी ओर उसमे से अमृत रस आ रहा था जिसे मे बेकार नही करना चाहता था मेने जल्दी से अपना मुँह उनकी चूत पर लगा दिया ओर उनका अमृत पीने लगा मे उसे 3-4 मिनिट तक चूसता रहा.

अब मेरे चाटने से वो थोड़ी काँपने लगी ओर सेक्सी आवाज़े निकालने लगी ओर आउट ऑफ कंट्रोल होने लगी अहहाआहहा आइ लव यू अहहाहाहा आइ लव यू ओह्ह्ह्ह मे गयी प्लीज़ ओर ज़ोर से ओर वो इसी के साथ झड़ने लगी मेने उसका सारा रस पी लिया उसका स्वाद थोड़ा अजीब था लेकिन सेक्स की आग के कारण टेस्टी लगा सो स्वीट दोस्तो कभी आप भी पी कर देखना आप उसे जिंदगी भर तक याद रखोगे अब आंटी बोलने लगी की प्लीज़ डाल दो अब मुझसे नही रुका जा रहा है मुझे तेरे अंकल को याद करके उंगली डाल के काम चलाना पड़ता है कंट्रोल तो मेरे से भी नही हो रहा था लेकिन मेने इस साइट पर अपने भाइयो से सुना था की लड़की को जितना तड़पावोगे उतना ही मजा मिलेगा.

अब मे उन्हे नीचे लेटा कर उनके उपर आ गया ओर अपना लंड हाथ मे पकड़ कर उनकी चूत पर रगड़ने लगा वो बिन पानी की मछली की तरह तड़पने लगी अब मुझसे कंट्रोल नही हुआ ओर मेने एक ज़ोर का धक्का लगाया ओर लंड उनकी खुली चूत के अंदर चला गया मेरी तो चीख निकल गयी मुझे ऐसा लगा जैसे मेरे लंड को किसी ने चाकू (नाइफ) से काट दिया हो मेने अपना लंड बाहर निकाला तो देखा की उसकी स्किन सूपडे पर से उतर गयी है ओर खून निकल रहा है तब आंटी ने कहा की पहली बार मे थोड़ा दर्द होता है तुम्हारे अंकल को भी हुआ था तो मे थोड़ा रिलेक्स हुआ ओर आहिस्ता आहिस्ता से दुबारा अपना लंड उनकी मस्त मस्त चूत मे डाल दिया उनकी चूत बहुत खुली थी शायद अंकल उन्हे रोज चोदते होंगे इसलिये वो भी सॅटिस्फाइड थी उनकी चूत बहुत गर्म थी मेरा लंड चूत मे जाते ही सारा दर्द भूल गया.

अब में धीरे-धीरे अपनी गांड को उपर नीचे करने लगा अब आंटी कहने लगी और ज़ोर ज़ोर से चोदो ना मुझे और ज़ोर से कम जान ऊओह मैं सेक्स के नशे मे कुछ भी बोले जा रहा था मैं भी आज तुझे ज़ोर ज़ोर से चोद चोद के अपनी रंडी बना दूँगा और मैं भी उसे ज़ोर ज़ोर से शॉट मारने लगा और आंटी भी मेरा साथ देने लगी ओर अपनी गांड को उठा उठा के नीचे से मुझे चोदने लगी करीब 20 मिनिट तक मे उसे ज़ोर ज़ोर से धक्के लगाता रहा अब आंटी कहने लगी अब वो झड़ने वाली है तुम अपनी रफ़्तार तेज कर दो मैने अपनी स्पीड बिल्कुल रेल की तरह कर दी आंटी ने मुझे ज़ोर से गले लगा लिया और उसने अपना पानी छोड़ दिया लेकिन मैं अभी भी आंटी को चोद कर मस्त कर रहा था तभी मेंरा भी वीर्य निकल गया और मैंने अपना पूरा वीर्य आंटी की चूत में ही छोड़ दिया और उसके बाद मैं आंटी के उपर ही लेट गया.

मेरा लंड अब भी आंटी की चूत मे था हम 30 मिनिट के बाद उठे अब रात काफी हो चुकी थी ओर हम थक भी गये थे तो हम फ्रेश हो कर आये ओर ऐसे ही नंगे एक दूसरे की बाहों मे सो गये सुबह करीब 6 बजे मेरी नींद खुली तो मैने देखा की आंटी मेरे पैरो के पास लेटी है ओर मेरे लंड को अपनी जीभ से चाट रही है यह देखते ही मेरा भी मूड बन गया मैने आंटी को नीचे लेटने को कहा लेकिन आंटी बोली की नही अब में तुम्हे चोदूंगी वो मेरे उपर आ गयी ओर मेरे लंड को अपनी चूत पर एड्जस्ट करते हुये एक ज़ोर का झटका दिया ओर लंड अपनी चूत मे समा गया मेरी रात वाली सुपाडे की स्किन फिर से दर्द करने लगी लेकिन उतनी नही तो मे अब नीचे से अपना लंड उनकी चूत मे अंदर तक पहुँचाने लगा ओर उनके गर्भ तक टच कराने लगा वो भी पूरे ज़ोर से मेरे मोटे लंड पर उछल रही थी.

अब हमें रात से भी ज़्यादा मज़ा आ रहा था ये मेरी बेस्ट पोजिशन थी जो मे पॉर्न वीडियो मे देखता था हमने करीब 30 मिनिट तक चुदाई की ओर इस टाइम मे आंटी दो बार झड़ी उन्होने मुझे गले से लगा लिया मे भी उनसे चिपक गया ओर कहने लगा थैंक्स आंटी आपने मुझे स्वर्ग का रास्ता दिखा दिया और वो कहने लगी की तुमने भी मुझे पूरा मज़ा दिया अब हमें मोका मिलते ही चुदाई करेंगे .

धन्यवाद …

One comment

  1. So good story my name raja Khan Kanpur se my mo n 7275493873