Home / घर में चुदाई का खेल / जबलपुर मे चोदा मामी को

जबलपुर मे चोदा मामी को

प्रेषक : राजा
सभी सेक्सी चूतों को मेरे लंड का प्रणाम करते हुये मे मेरी पहली सच्ची कहानी लिख रहा हूँ मे 24 साल का हूँ और लम्बाई 5’9 का सुन्दर लड़का हूँ  बात 2 महीने पुरानी है  मेरे मामा एक ख़राब इंसान है और उनकी एक बेटी और बेटे के अलावा खूबसूरत और सेक्सी पत्नी है जो 30  साल की है मेरे मामा की शादी 8 साल पहले हुई और तब से मुझे मामी अच्छी लगती है मे कब से उसे चोदना चाहता हूँ पर मामी थोड़ी गुस्से वाली होने के कारण मे कुछ कह नही पाता हूँ.
 
एक दिन मुझे मामा का फोन आया की वो कही बाहर जा रहे है इसलिये मे मामा के घर पर ही सो जाऊं मे भी यही चाहता था और तुरन्त से हाँ कर दी मे शाम को 6 बजे मामा के घर पहुंचा  और मामा ने मुझे कहा की तू मुझे बस स्टॉप तक छोड़ दे मे उन्हे बस स्टॉप छोड़ कर वापस आया और मामा के घर पर टी.वी देखने लगा और तब तक मामा का लड़का और लड़की भी कोचिंग से आ गये थे और मे उनके साथ खेलने लगा और मामी रसोई मे खाना बना रही थी उन्होने सिल्की गाउन पहना था और उनके बड़े बड़े बूब्स मानो उछल उछल कर बाहर निकलना चाह रहे थे.
दोनो बच्चे कुछ देर खेलने के बाद पढ़ाई करने बैठ गये  और  मे  रसोई मे मामी से बाते करने लगाऔर मेरा लंड तो जैसे मामी की गांड और बूब्स देखकर जैसे मेरी पेन्ट से बाहर  निकलना चाह रहा था पर मामी के ग़ुस्से वाले स्वभाव की वजह से मन मार कर रहना पड़ गया फिर कुछ देर बाद मामी एक बड़ा स्टूल लगा कर एक डिब्बा उतार रही थी और मे भी वही खड़ा था मामी का पैर फिसलने की वजह से वो नीचे गिरने लगी तो मेने उन्हे पकड़ लिया और जल्दी जल्दी मे मेरा एक हाथ उनके बूब्स पर चला गया  और उनका गाउन स्टूल मे फस जाने की वजह से उनकी कमर तक आ गया और मेरा एक हाथ उनकी गांड पर था मै वो गोरी और चिकनी गांड देखकर मे तो पागल हो गया मामी ने लाल कलर की पेंटी पहन रखी थी  फिर मेने मामी को नीचे उतारा और उन्होने मुझे थैंक्स कहा और वो वापस अपना काम करने लग गई.  
अब रात के 9 बज रहे थे और हम खाना खाने के लिये बैठे और सब ने खाना खाने के बाद बच्चे अपने कमरे मे सोने चले गये और मे भी पास वाले कमरे मे लेटे लेटे टी.वी देख रहा था फिर मामी किचन का सारा काम ख़त्म करके अपने बेडरूम मे चली गयी पर मेरा लंड तो रसोई के सीन से पागल हो रहा थाऔर सोने का नाम ही नही ले रहा था मे उठ कर मामी के रूम के पास गया टायलेट का बहाना करके तो देखा की मामी कांच मे देख कर अपनी गांड पर कुछ लगा रही थी  शायद उनको स्टूल की खरोंच लग गई थी  और मेने भी टाइम वेस्ट ना करके मामी के रूम मे घुस गया और एकदम से वापस बाहर निकला और मामी मुझे देख कर गुस्सा हो गई क्योकी मेने उनकी गांड वापस देख ली थी.  
 
फिर वो मेरे रूम मे आई और मुझे एक थप्पड़ लगा दी और कहा की कल तेरे मामा को सब बताउंगी मेरी तो गांड फट गई और मे डरते डरते लेटा हुआ था की मामी अपने रूम मे जा के रूम बंद करके सो गई अब मुझे नींद नही आ रही थी और मे सिर्फ़ कल का इंतज़ार कर रहा था  तब तक रात के 12 बज चुके थे तभी मेने देखा की मामी बाथरूम की तरफ पेशाब करने जा रही है  तो मेने भी मौका देख कर मामी के रूम मे उनके बेड के नीचे जा के छुप गया  और मेने मेरे सारे कपड़े उतार दिये  और  फिर मामी पेशाब करके  वापस आई और रूम और  लाइट बंद करके वापस सो गई.
 
फिर मे ठीक 5 मिनट के बाद वापस बेड के नीचे से धीरे धीरे निकला और मामी के पैरो के पास नंगा बैठ गया और मेरा लंड हिलाने लगा और लाइट का स्विच पास में ही होने की वजह से मेने लाइट चालू कर दी  तब मामी जाग रही थी और लाइट चालू होते ही उन्होने देखा की मे उनके सामने बैठ कर अपना लंड हिला रहा हूँ और मामी ने उठ कर मुझे थप्पड़ मारनी चाही पर मेने उनका हाथ पकड़ कर उन्हे वापस बेड पर पटक दिया और उनका गाउन कमर तक खिसका कर मेरा लंड उनकी पेंटी पर रख दिया और मामी के मुँह मे मुँह डाल कर किस करने लगा  मेने मामी को कहा की आप कल वैसे भी मामा को कहने वाली हो मेरे लिये तो अब कुछ ज़्यादा ही कह देना  फिर मामी के बूब्स दबाने लगा.
मामी थोड़ी देर तो मुझसे दूर होने की कोशिश करती रही पर मेरी पकड़ और उनको आने वाले  आनंद ने सब कुछ नॉर्मल कर दिया  फिर मेने एक हाथ मामी की चूत पर रखा और रगड़ने लगा  मामी बहुत गर्म हो रही थी  फिर मैने एक हाथ उनकी पेंटी मे डाला और मेरी उंगली मामी की चूत मे डालने लगा तो मामी के मुँह से आआहह म्‍म्म्मम, धीरे की आवाज़े आने लगी फिर मेने मामी को वापस बैठा कर उनके सारे कपड़े उतार दिये अब मामी बिल्कुल नंगी थी  फिर मेने मामी की चूत पर अपना मुँह लगा कर मामी की चूत चाटने लगा तो मामी झड़ गई और फिर मुझे कहने लगी राजा आइ एम सॉरी मेने आप को थप्पड़ मारा  तो मेने उन्हे माफ़ कर दिया.
 
अब मामी ने मुझे कहा की सब आप ही करोगे या मुझे भी कुछ करने दोगे..? मेने कहा ठीक है मामी जी जो मर्ज़ी करो तो वो बोली- वो तो मे करूँगी ही  चाहे आप बोलो या ना बोलो फिर उन्होने मेरा 6 इंच का लंड पकड़ा और अपने मुँह मे ले के पागलो की तरह चूसने लगी  और मे मेरा हाथ उसकी चूत मे डाल कर उन्हे वापस गर्म कर रहा था  फिर 15 मिनिट बाद वो एक बार फिर से तैयार हो गई और मे झड़ गया  तो उसका दिमाग खराब हो गया उसने जल्दी जल्दी मेरे लंड को मसलना शुरू किया और मुँह मे लेती रही  और 5 मिनट के बाद मेरा लंड वापस कड़क हो गया मामी बोली- राजा  प्लीज कुछ आगे भी बड़ो ना  तो मेने मामी को सीधा सुला कर मेरे लंड का सूपड़ा उनकी चूत पर रखा और वो सिसकारी भरने लगी राआाजाआअ, ल्ल्लाआ,, डालो ना,,, जल्दी,,,,
फिर मेने एक झटका मारा और मेरा लंड उनकी चूत मे आधा घुस गया  वो दर्द से कराहने लगी क्योकि मामा का लंड छोटा था वो कह रही थी और मेने मेरा लंड उसे छेड़ने के लिये वापस बाहर निकाला तो उन्होने वापस मेरा लंड पकड़ कर उनकी चूत मे घुसाना चाहा मे समझ गया की अब लोहा बहुत ज़्यादा गर्म है  तो मेने 2 झटके मारे और मेरा लंड मामी की चूत मे समा गया और उनकी चूत आज भी एक 18 साल की लड़की की तरह ही थी  मुझे बहुत मज़ा आ रहा था और मामी भी नीचे से अपनी गांड हिला कर मेरा साथ दे रही थी  और कह रही थी आआअहह,,में मर गईईईई और ज़ोर से हाँ जीिइईई,, गगाआा,,,,,की आवाज़े कर रही थी  फिर मेने अपना लंड निकाला और मामी को घोड़ी बनाया तो उन्होने मना कर दिया .
 
वो बोली राजा आप का तो बहुत बड़ा है मुझे बहुत दर्द होगा  तो मेने कहा आप की इच्छा मामी ज़ी उन्होने मेरी निराश मुद्रा देख ली और वापस कहने लगीराजा लो घुसा लो मेरी गांड मे भी पर थोड़ा धीरे धीरे घुसाना प्लीज मेने कहा ठीक है मामी जी फिर उन्होने उनकी गांड के छेद पर अपना थूक लगाया और फिर मेरा लंड पकड़े रखा और घुसाने को कहा  मेने थोड़ा झटका दिया तो उनको हल्का सा दर्द हुआ और उन्होने मेरा लंड अंदर जाने से रोक लिया मुझे लग गया की ये ऐसे तो गांड नही मारने देगी  तो मेने उनका हाथ पकड़ कर नीचे कर दिया और एक जोर का झटका लगाया तो लंड आधा अंदर घुस गया  वो दर्द से कराहने लगी और कहने लगी आआह्ह्ह धीरे और मेने एक और झटका लगाया और लंड पूरा अंदर डाल दिया.
 
फिर कुछ देर मामी की गांड मारने के बाद  मामी ने मुझे नीचे सुला दिया और मेरे खड़े लंड पर बैठ गई और उपर नीचे होने लगी  उनके उछलते बूब्स और खुले बॉल  मे वो क्या सेक्सी लग रही थी  मेरे हाथो को पकड़ कर उन्होने अपने बूब्स पर रख दिया फिर मे बूब्स दबाने लगा वो धीरे धीरे मेरे उपर लेट गई और मे झड़ने लगा तो मामी ने कहा राजा मुझे आप का वीर्य पीना है  प्लीज अंदर मत डालना  तो मेने लंड बाहर निकाला और उनके बूब्स के बीच से होते हुये  उनके मुँह मे चोदने लगा फिर मेरा सारा माल उनके मुँह मे खाली हो गया  और वो भी झड़ गई.  
इस तरह हम दोनो ने रात मे 3 बार सेक्स किया जिसमे मामी 5 और मे 3 बार झड़ गया फिर सुबह जल्दी उठ कर मे अपने कमरे मे चला गया इससे आगे के दिनो की कहानी मे बाद मे लिखूंगा .
धन्यवाद ..