Home / घर में चुदाई का खेल / चचेरी बहन का कामसूत्र

चचेरी बहन का कामसूत्र

प्रेषक : आरूष
हाय फ्रेंडस मेरा नाम आरूष है ये मेरी दूसरी स्टोरी है पहले मैं अपने बारे में बता दूँ मेरी उम्र 22 साल है और मैं मध्यप्रदेश से हूँ मेरे लंड का साइज़ 7 इंच है मैं अपनी स्टोरी हिन्दी में लिख रहा हूँ जिससे ज़्यादा लोगो को समझ में आये ये हादसा 2 महीने पहले का है मेरी बहन की उम्र 21 साल है उसका नाम गीत है वो मेरे ताऊजी की लड़की है दिखने में पूरी आइटम है एकदम रंडी जैसी, कातिलाना फिगर गांड देखो तो ऐसा लगता है की एक झटके से मारो और छेद में मुँह घुसाकर चाट जाओ दूध भी काफ़ी सेक्सी थे कुल मिलाकर वो एक सेक्स बॉम्ब है वो बेंगलूर में पढ़ती है उसका सेमस्टर ब्रेक हुआ था इसीलिये वो घर आई थी मैं उसे करीब 6 महीने के बाद देख रहा था वो एक पूरी आइटम बन चुकी थी.

में उसे देख के बहुत खुश हुआ वो भी मुझे देख के बहुत खुश हुई और आकर मुझसे गले मिलने लगी ना चाहते हुये भी मैने उसके कोमल कोमल दूध को फील किया मेरे मन में उसके लिये कोई ग़लत भावना नही थी हम दोनो काफ़ी फ्रेंक थे और सेम उम्र के होने की वजह से काफ़ी करीब भी थे एक दिन मैं अपने रूम में बैठ कर फोन में चेटिंग कर रहा था इतने में वो आई और आकर दूसरी कुर्सी पर बैठ गई हम दोनो इधर उधर की बाते करने लगे हम दोनो आजू बाजू बैठे थे तभी मेरे मन में उसको छेड़ने की सूझी तो में उसके कान के पीछे मोर के पंख से गुदगुदी करने लगा वो एकदम हड़बड़ा गई मुझे बड़ा मज़ा आ रहा था उसको ऐसा देखने में पर धीरे धीरे वो मज़े लेने लगी उसके चहरे से ऐसा लग रहा था की उसे बहुत मज़ा आ रहा है वो पंख से और चिपक रही थी.

मुझे बिल्कुल आइडिया नही था की उस जगह लड़कियो को छेड़ने से लड़कियां गर्म हो जाती हैं मैने पंख हटाया तो उसने आँख खोली और मुझे देख के आंख मारी मैने उसे एक स्माइल दी इतने में मेरे पापा वहा आ गये और ये एपिसोड यही ख़त्म हो गया हमारे घर में 3 रूम थे एक मम्मी पापा का एक मेरा और एक मेरी रियल बहन मन का रूम था वो गीत मन के रूम में रुकी थी हर रूम में एक अटेच टायलेट और बाथरूम था.
भगवान की दया से उस रात मेरे रूम का टायलेट लीक करने लगा और रूम में पानी भर गया तो मम्मी ने कहा की मैं मन के रूम में ही सो जाऊं मेरी तो जैसे किस्मत ही खुल गई थी ये सुनके गीत ने भी स्माइल दी मेरे तो होश ही उड़ गये थे हमने रात के 10 बजे के आस पास खाना ख़त्म किया और कुछ देर टी.वी देखने के बाद सोने चले गये बेड पर मैं एक कोने में सोया था बीच में मन और दूसरी साइड में गीत थी मैं काफ़ी खुश था की आज ज़रूर कुछ होगा रात के करीब 1 बजे तक मैने सोने का नाटक किया एक बजे मैने मन को चेक किया की वो गहरी नींद में है या नही वो काफ़ी गहरी नींद में सो रही थी फिर मैं उठा और गीत के साइड में गया.

उसकी आँखे बंद थी वो बहुत खूबसूरत लग रही थी तो मैने उसके कान के पीछे से ही उसे छेड़ना शुरू किया पहले मैं उंगली से उसके कान के पीछे गुदगुदी कर रहा था पर उसका कोई रिएक्शन नही था तो मुझे लगा की वो सो रही है मैं फिर उसके कान और उसके पीछे वाले पार्ट को जीभ से लिक करने लगा वो थोड़ा हिली मुझे समझ में आ गया की वो जागी हुई है तो मैने देरी ना करते हुये उसके लिप्स पर अपने लिप्स रख दिये मैं उसके लिप्स चूस रहा था उसे किस करना नही आता था इसीलिये वो भी वही कर रही थी जो मैं कर रहा था मै उसके लोवर लिप्स को चूस रहा था और वो मेरे उपर वाले लीप को क्या रस भरे होंठ थे उसके मैने अपनी जीभ उसके मुँह के अंदर डाल दी और उसकी जीभ पर वार करने लगा फिर मैने उसकी जीभ मुँह में ली और उसे सक करने लगा ऐसा फ्रेंच किस तो मैने ज़िंदगी में कभी नही किया था.

फिर उसने अपनी आँखे खोली और मुझे देखा और कहा आई लव यू आरूष मैने भी स्माइल दी और उसे फिर किस करने लगा किस करते करते मैं उसके बूब्स भी दबा रहा था काफ़ी बड़े थे उसने एक चैन वाला टॉप पहना हुआ था तो मैने उसकी चैन खोल दी रूम में लाइट ज़्यादा नही थी इसीलिये ज़्यादा साफ नही दिख पा रहा था पर उसके निपल हार्ड हो चुके थे मैने उसके बूब्स पर तुरन्त अटेक कर दिया और उन्हे चूसने लगा बूब्स चूसते चूसते मैने अपना एक हाथ उसके लोवर के अंदर डाल दिया और उसकी चूत को एक्सप्लोर कर रहा था हम अपनी रास लीला में मशगूल थे की मेरी बहन मन ने करवट ली जैसे ही उसने करवट ली तो हम दोनो की गांड फट गई में तुरंत भाग के अपनी साइड में गया और सोने का नाटक करने लगा जैसे ही मैं अपनी साइड में पहुँचा तो 5 मिनिट के बाद मन उठ के बाथरूम करने गई.

मैने गीत की तरफ देखा तो वो हँसने लगी मैने उससे कहा बच गये आज तो फिर मन वापस आई और सो गई हम भी पड़े पड़े सो गये सुबह हुई तो देखा घड़ी में 10 बज रहे थे सब कही जाने की तैयारी कर रहे थे मेरे पूछा पर हमारे नौकर ने बताया की सब लोग शिरडी जा रहे हैं मैं थोड़ा निराश हो गया की अब मुझे मौका नही मिलेगा गीत को चोदने का गीत भी थोड़ी दुखी लग रही थी हम सब तैयार हुये जाने के लिये जैसे ही हम घर से निकल रहे थे वैसे ही गीत का सीढ़ियो से पैर फिसल गया और वो 2 सीढ़ियो से गिर गई सब उसकी तरफ भागे उसे पैर में चोट आई थी सबने जाने से मना करना ठीक समझा पर गीत ने उन्हे मना कर दिया गीत ने कहा की आप लोग मेरी वजह से अपनी ट्रिप क्यों बर्बाद कर रहे हो मैने भी मौके पर चौका लगाया और मम्मी से कहा की गीत के साथ मैं रुक जाता हूँ वैसे भी वो कुछ दिनो बाद चली जायेगी इसी बहाने उसके साथ टाइम भी बिता लूँगा.
सब मान गये और हमें अकेला छोड़ के सब चले गये सबके जाते ही मैने गेट बंद किया और गीत को स्माइल दी उसने भी रिटर्न स्माइल दी गीत को ज़्यादा चोट नही आई थी बस हल्की सी मोच थी मैने उसे एक ऑयल मसाज की और वो ठीक हो गई मैं ऑयल रखने किचन में गया और वापस आया तो गीत दीवार की तरफ फेस करकर खड़ी थी मैं गया और उसको पीछे से अपनी बाहों में भर लिया और उसके कान में कहा तुम बहुत खूबसूरत लग रही हो वो शरमाई और कहा “सच” मैने हाँ में सर हिला दिया फिर मै उसकी गर्दन पर अपने होठ फेरने लगा उसकी बॉडी का नशा मुझे मधहोश कर रहा था मैने उसकी गर्दन पर किस करना शुरू किया मैं मधहोश था मैने उसे अपनी तरफ घुमाया तो उसका सिर नीचे था और आँखे बंद मैने उसका सिर उठाया और उसके लिप्स पर किस करने लगा.

हमारा किस धीरे धीरे फ्रेंच किस में बदल गया पहले हम धीरे धीरे एक दूसरे के होठो के रस का मज़ा ले रहे थे फिर सेक्स का खुमार हम पर भारी पड गया और हम जोश में किस करने लगे इतना मज़ा लाइफ में पहले कभी नही आया था मुझे फिर मेरे हाथ उसके बूब्स की ओर चल पड़े उसके बूब्स काफ़ी हार्ड थे और मैं उन्हे दबाने लगा उसकी निपल को टॉप के ऊपर से ही पकड़ के मसलने लगा वो सिसकारियां ले रही थी मैने उसका हाथ पकड़ के अपनी ज़िप के ऊपर रख दिया वो मेरे लंड को पेन्ट के ऊपर से ही रगड़ने और दबाने लगी मैने देर ना करते हुये उसका टॉप उतार दिया.
उसके बूब्स मेरे सामने सिर्फ़ एक ब्रा के अंदर बन्द थे मेरे होश उड़ रहे थे मैने उन्हे ब्रा के ऊपर से ही चूसना शुरू किया मैं किचन में जाकर एक पानी की बोतल लाया और उसके बूब्स के ऊपर डाल दिया और उन्हे पीने लगा वो मज़े में खो गई थी वो सिर्फ़ सिसकारियां ले रही थी मैने उसकी जीन्स भी उतार दी और उसकी चूत को पेंटी के ऊपर से दबाने लगा वो पूरी गीली हो चुकी थी मैने उसकी पेंटी उतार दी क्या चूत थी उसकी बिल्कुल गोरी चिकनी क्लीन शेव मैं नीचे झुका और उसे सूँघा फिर जीभ की नोक से उसे चाटता रहा और उसकी नवल को चाटने लगा वो ऊवू आआआः कर रही थी इस दौरान उसने मेरा पेन्ट खोल दिया था और वो मेरी चड्डी के अंदर हाथ डाल के मेरे लंड को सहला रही थी फिर मैने उसकी पेंटी उठाई और उसमे पानी डाल के उसका पानी पीने लगा वो मेरे लंड से खेल रही थी.

फिर मैने उसे बेड पर लेटाया और उसको अपना लंड चूसने को दिया जैसे ही उसने मेरा लंड मुँह में लिया मैं तो पागल हो गया उसको होठो का मेरे लंड पर ऊपर नीचे होना मुझे अभी भी मूठ मारने पर मजबुर कर देता है हम 69 की पोज़िशन में आ गये मैने जैसे ही उसकी चूत चाटनी शुरू की वो अकड़ गई और उसने रस छोड़ दिया मैने सारा रस चाट लिया वो काफ़ी मज़े से मेरा लंड चूस रही थी और छोड़ ही नही रही थी फिर मैने डिसाइड किया की पहले इसका मुँह चोदूंगा और फिर इसकी चूत तो मैने उसका सिर पकड़ा और ज़ोर ज़ोर से शॉट मारने लगा और 5-6 मिनिट के बाद मैने उसके मुँह को अपने स्पर्म से भर दिया वो पूरा पी गई फिर मैने उसे एक ज़बरदस्त किस दी हमने फिर फोरप्ले स्टार्ट किया अब वो मुझसे भीख माँगने लगी की प्लीज़ डाल दो अपना लंड मेरी चूत में मैने भी उसकी फरियाद सुनी और उसे लेटाया उसकी गांड के नीचे एक तकिया एड्जस्ट किया और उसके पैर फैलाये.

मैने अपना लंड उसकी चूत के होल पर लगाया और मैने अपना लंड उसके होल के आस पास रगड़ना शुरू किया तो उसने खुद ही लंड पकड़ के ज़ोर से चूत की तरफ सरका दिया चूत इतनी गीली थी की लंड का सूपड़ा झट से अंदर चला गया उसकी चीख निकल गई और वो चिल्लाने लगी की बाहर निकालो इसे मुझे नही करना बाहर निकालो मैने उसे शांत करने के लिये उसे किस करने लगा और उसके बूब्स दबाने लगा तो वो थोड़ी रिलेक्स हुई मैं धीरे धीरे अपने लंड को अंदर डालने की कोशिश कर रहा था पर वो नही जा रहा था ऐसा लग रहा था की किसी ने लंड को क़स के मुट्ठी में जकड़ रखा हो.

फिर मैने लिप्स से उसके लिप्स को लॉक किया और एक ज़ोर का धक्का मारा मेरा पूरा लंड अंदर चला गया उसके आँसू निकल आये और वो छटपटा रही थी मैने उसके बूब्स दबाने और चूसने शुरू किये थोड़ी देर में वो शांत हुई और मैने बिल्कुल धीरे धीरे अपना लंड अंदर बाहर करना शुरू किया उसे थोड़ी तकलीफ़ हो रही थी पर अब मज़ा भी आ रहा था वो मेरा साथ देने लगी उसने मेरी कमर पर अपने पैर जमा लिये और मुझे और अंदर पुश कर रही थी मैं भी उसे काफ़ी तेज़ी से चोद रहा था और 15 मिनिट तक चोदने के बाद मैने उसी घोड़ी बनने को कहा.

फिर मैने उसे घोड़ी के पोज़ में चोदा वो मस्ती से मज़े ले रही थी कभी अपनी गांड सिकोडती तो कभी अदा से मुझे देखती वो पूरे टाइम यही कहती रही की भाई आई लव यू चोद मुझे और अंदर मेरे भैया मेरे सैया और 30 मिनिट की चुदाई के बाद वो ढीली पड़ी और मुझसे लिपट गई मैने उसे बाहों में जकड़ लिया और उसी पोज़िशन में उसकी चूत अपने पानी से भर दी तो ये थी मेरी स्टोरी मुझे आशा है की आपको पसंद आयेगी .

धन्यवाद …

One comment

  1. Kya maja aya hoga yrshach me bahut achhi kahani hai ap ki