Home / देवर भाभी / भाभी को चोदा अहमदाबाद में- Bhabhi ko choda ahemdabad me

भाभी को चोदा अहमदाबाद में- Bhabhi ko choda ahemdabad me

Bhabhi Ko Choda Ahmedabad Main

प्रेषक : रॉकी …

हैल्लो दोस्तों.. मेरा नाम रॉकी है और में गुजरात का रहने वाला हूँ और में 25 साल का एक हट्टा कट्टा लड़का हूँ और में एक प्राईवेट कंपनी में नौकरी करता हूँ। दोस्तों आज में अपनी जिंदगी की एक सच्ची घटना आप सभी को AntarvasnaSEX.Net पर सुनाने जा रहा हूँ। वैसे में इस साईट का बहुत धन्यवाद देना चाहता हूँ क्योंकि इसकी कहानियों को पढ़ने के बाद से मुझे थोड़ी हिम्मत मिली और में अपनी कहानी लिखने को तैयार हुआ और अब में पिछले कुछ सालों से इसका बहुत बड़ा फेन हो गया हूँ। दोस्तों वैसे मैंने पहला सेक्स मेरी लाईफ में जब किया में 20 साल का था और तब से मैंने बहुत बार सेक्स किया हुआ है और मुझे सेक्स करना बहुत अच्छा लगता है। दोस्तों वैसे अभी मेरी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है तो में ज़्यादातर फ्री टाईम होता हूँ और में उस समय ऑनलाईन चेट करता हूँ, सर्चिंग करता रहता हूँ कि शायद कोई लड़की या भाभी या आंटी मुझे मिल जाए सेक्स करने को.. लेकिन बहुत दिनों तक लगातार चेट करने पर भी मुझे कोई भी नहीं मिली।

फिर एक दिन मेरा सोया हुआ नसीब जाग गया और में उस शाम को फ्रेश होकर लेपटॉप चालू करके चेट करने के लिए बैठ और थोड़ी देर चेट करने के बाद मेरी एक लड़की से बात हुई। मैंने उसे बताया कि में 25 साल का हूँ और उसने जवाब दिया कि वो एक लड़की है। तो मैंने उससे उसकी उम्र के बारे में पूछा और फिर उसने बताया कि वो 32 साल की एक शादीशुदा औरत है। तो मैंने और उसने ऐसे ही बहुत देर तक नॉर्मल बातें की और उसके बाद मैंने उसको मेरी दोस्त बनने के लिए आग्रह भेजा.. तो उसने मेरा वो आग्रह मान लिया और करीब हमने उस दिन 15-20 मिनट ऐसे ही बातें की और अभी मुझे कोई जल्द बाजी नहीं करनी थी और हो सकता है कि शायद वो बुरा मान जाए और चली जाए। तो उस दिन के बाद हमने दूसरे दिन ऑनलाइन मिलने को बोला और में उसके दिए हुए टाईम को याद करके ऑनलाइन हो गया और जैसे ही में ऑनलाइन हुआ मैंने देखा कि वो पहले से ही ऑनलाइन है और हमने फिर से बातें शुरू की और इतने से समय में ही बातों ही बातों में हमने एक दूसरे के बारे में बहुत कुछ जान लिया था।

मैंने उससे उसकी फेमिली के बारे में पूछा और फिर उसने बोला कि वो, उसके पति और उसकी एक छोटी सी बेटी है जो अहमदाबाद के पॉश एरिया में एक फ्लेट में रहते है और वैसे वो लोग गुजरात के रहने वाले नहीं थे.. वो तो यहाँ अहमदाबाद में उसके पति की नौकरी के वजह से रहते है और अहमदाबाद में उसका और कोई रिश्तेदार भी नहीं है। वो ज़्यादातर ऐसे ही फिल्म देखकर या ऑनलाइन रहकर ही टाईम पास करती है और उसकी बेटी अभी बहुत छोटी है इसलिए वो ज़्यादातर समय सोती ही रहती है। फिर उस दिन बहुत देर बात करने के बाद मेरी उसके साथ बहुत अच्छी दोस्ती हो गयी और मैंने उससे उसका मोबाईल नंबर माँगा.. लेकिन उसने मुझसे साफ मना किया और कहा कि नहीं अभी हम यहीं पर ऑनलाइन बातें करेंगे। तो मैंने उससे ठीक है बोला और वैसे भी में कर भी क्या सकता था? फिर ऐसे ही हमने 8-10 दिन तक लगातार बातें की और मुझे उससे बातें करना बहुत अच्छा लगता था.. दोस्तों में सच बोलूँ तो मुझे उसकी बातों से लगता था कि शायद उसे भी एक फ्रेंड की ही ज़रूरत है.. लेकिन वो जो मेरे दिल में थी वो मनोकामना पूरी करने वाली नहीं है.. लेकिन फिर भी मुझे उससे बातें करना बहुत अच्छा लगता था और ऐसे ही इतने दिन बात करने के बाद उसे मुझ पर पक्का भरोसा हो गया था कि में एक बहुत अच्छा लड़का हूँ और फिर जब मैंने दोबारा से उसका मोबाईल नंबर माँगा तो उस दिन उसने मुझे नंबर दे दिया और वो मुझसे बोला कि तुम अभी कॉल कर सकते हो। तो मैंने तुरंत ही उसको कॉल किया.. उसने हैल्लो बोला और मैंने भी हाय बोला और मुझे उसकी आवाज़ सुनकर ही कुछ कुछ होने लगा। फिर उसने मुझसे बोला कि मुझे तुमसे चेटिंग करके बहुत अच्छा लगा और फिर हमने ऐसे ही इधर उधर की बातें की और अब मुझे उससे एक बार जरुर मिलना था.. लेकिन में उससे बोल नहीं पाया।

फिर दो दिन बाद मैंने ऐसे ही उससे पूछ लिया कि क्या हम मिल सकते है? तो वो मुस्कुराने लगी और बोली कि आप मुझसे क्यों मिलना चाहते है? तो मैंने बोला कि बस ऐसे ही.. क्यों हम दो दोस्त नहीं मिल सकते और उसने मुझे बोला कि हाँ मिल सकते हो.. लेकिन में तुम्हे कल बताउंगी कि हमे कब और कहाँ पर मिलना है? तो दूसरे दिन सुबह जब हमने बात की तो उसने मुझे बताया कि तुम मुझे मेरे घर पर आकर मिल सकते हो.. लेकिन जब मेरे पति घर पर ना हो तब। तो मैंने उससे मिलने का टाईम पूछा और उसने टाईम और अपने घर का पता मुझे बता दिया और मुझे लग रहा था कि आज ज़रूर कुछ होगा.. तो में उसके दिए हुए टाईम और पते पर पहुंच गया और मैंने देखा कि वो एक बड़ा अपार्टमेंट्स है.. उसकी 7th मंजिल पर उसका फ्लेट है और मैंने वहाँ पर जाकर दरवाजे पर लगी हुई घंटी बजाई और उसने जब दरवाजा खोला तो में उसे देखकर एकदम दंग रह गया.. वो क्या लगती थी? और वो एकदम कमाल की दिख रही थी और वो इतनी गोरी भी नहीं थी.. लेकिन उसका शरीर थोड़ा भरा हुआ था और उसके बूब्स कपड़ो के ऊपर से ही बहुत बड़े दिख रहे थे और उसके बाल खुले थे और उसने गुलाबी कलर की ड्रेस पहनी हुई थी। दोस्तों ये कहानी आप AntarvasnaSEX.Net पर पड़ रहे है।

फिर उसने मुझे अंदर आने को कहा और में अंदर जाकर सोफे पर बैठ गया.. उसने मुझे किचन से लाकर पीने को पानी दिया.. लेकिन बस में तो उसे देखे ही जा रहा था और पानी पिए जा रहा था। तो उसने बोला कि क्या देख रहे हो? मैंने बोला कि तुम बहुत अच्छी लगती हो और तुम्हे देखकर बिल्कुल भी नहीं लगता कि तुम 32 साल की हो। फिर उसने थोड़ा मुस्कुराते, शरमाते हुए मुझसे बोला कि आप भी दिखने में बहुत अच्छे लगते हो। फिर मैंने उससे उसकी बेटी के बारे में पूछा तो उसने बोला कि वो इस समय दूसरे रूम में सो रही है और उस समय शायद उसका पति नौकरी पर गया हुआ है और वो रात को ही लोटेगा। फिर वो मेरे सामने बैठ गई और हम बातें करने लगे। में तो उसको पहली बार देखकर ही उसकी तरफ बहुत आकर्षित हो गया था और अब मेरा लंड धीरे धीरे खड़ा हो रहा था और में उससे मेरे खड़े लंड को छुपाने की कोशिश कर रहा था.. लेकिन उसने वो देख ही लिया और मंद मंद मुस्कुरा रही थी और उसके हाव भाव से लगता था कि उसे क्या चाहिए? लेकिन हम दोनों में से कोई भी पहल नहीं कर रहा था। तभी उसने मुझसे कहा कि क्या बार बार मुझे देख रहे हो और अब मुझसे रहा नहीं जा रहा था.. तो मैंने उससे बोला कि आपकी कमर बहुत अच्छी है एकदम पतली। तो वो शरमाने लगी और धन्यवाद बोला। मेरी हिम्मत अब और बढ़ गई.. तो उसने मुझसे बोला कि मेरे शरीर में आपको और क्या क्या अच्छा लगता है? तो मैंने बोला कि आपके होंठ बहुत रसीले है.. आपकी गर्दन पतली सुराही जैसी है.. आपकी आखें एकदम नशीली है और आपके वो तो बहुत ही बड़े बड़े है। तो वो और शरमाने लगी और में बोला कि और क्या क्या बताऊँ आपके सेक्सी जिस्म बारे में.. जिसे एक बार देखकर हर कोई आपका चाहने वाला बन जाए और मुझे पता चल गया था कि अब मेरी लाईन साफ है.. में एकदम से खड़ा होकर उसके पास चला गया और उसे छूकर बोला कि यह आपके बूब्स.. तो वो एकदम से चकित हो गयी और उसने ज़्यादा शरम की वजह से अपना मुहं दूसरी तरफ फेर लिया। तो मैंने उसका मुहं मेरी तरफ करके उसे लिप किस करने लगा और वो मेरी आखों में आखें डालकर मुझे देखने लगी और मुझसे छूटने का नाटक करने लगी.. लेकिन जब कुछ देर विरोध करने के बाद उसे महसूस हुआ कि वो अब मुझसे नहीं छूट सकती.. तो वो भी थोड़ी देर बाद मेरा साथ देने लगी। फिर मैंने उसे कुछ देर किस करने के बाद बोला कि में कब से तुम्हे मिलना चाहता था.. लेकिन में तुमसे यह बात कह नहीं पाता था। फिर उसने मुझसे कहा कि में भी यही सब चाहती थी.. लेकिन आप ही पहले मुझसे मिलने को बोले तो उस बात का कुछ और ही मज़ा है इसलिए में इतने दिन चुप रही। फिर यह सब बातें सुनकर मुझे और जोश आ गया और में उसे अपनी गोद में उठाकर उसके बेडरूम में ले गया और वहाँ पर उसे किस करने लगा और धीरे धीरे उसके बूब्स दबाने, सहलाने लगा और वो भी मेरी पेंट के ऊपर से ही मेरे लंड पर हाथ घुमा रही थी।

फिर मैंने धीरे धीरे करके ऊपर से उसके सारे कपड़े उतार दिए और उसे पूरा नंगा कर दिया और अब में भी अंडरवियर में आ गया और उसने नीचे पेंटी नहीं पहनी हुई थी और में बेड पर लेटाकर उसके पूरे शरीर पर किस करने लगा और बूब्स दबाने लगा। फिर थोड़ी देर बाद हम दोनों एकदम नंगे हो गये और एक दूसरे के जिस्म से खेलते रहे और फिर उसी समय उसने मुझे बोला कि वो अपने पति से आज तक कभी भी उतनी संतुष्ट नहीं हुई है इसलिए वो अब किसी और के साथ सेक्स करना चाहती है। तो मैंने उसको बोला कि मेरी जान तुम बिल्कुल भी चिंता मत करो.. आज हम दोनों एक दूसरे को जी भरकर प्यार करेंगे और हम दोनों एक दूसरे के तड़पते हुए शरीर से खेलते रहे और में उसकी चूत में ऊँगली करने लगा.. जिसकी वजह से उसकी मचलती हुई चूत ने पानी छोड़ना शुरू कर दिया था.. वो मोनिंग किए जा रही थी और वो मेरे लंड को मसाज किए जा रही थी और अब हम दोनों चुदाई के लिए तैयार थे.. मैंने कंडोम निकाला और लंड पर लगाकर उसके ऊपर बेड पर आ गया। उसने मुझसे बोला कि जानू थोड़ा आराम से करना.. तुम्हारा लंड बहुत लंबा और मोटा है और मुझे मेरे पति के अलावा आदत नहीं है इतने बड़े लंड से चुदने की.. तो मैंने बोला कि तुम बिल्कुल भी चिंता मत करो डार्लिंग आज यह तुम्हे थोड़े दर्द के साथ साथ मज़ा भी कराएगा।

फिर मैंने उसके दोनों पैरों को फैला दिया और लंड को चूत पर सेट करके धीरे धीरे धकेलते हुए चूत में डालना शुरू किया और अब लंड धीरे धीरे फिसलता हुआ उसकी चूत की दीवार पर रगड़ खाता हुआ पूरा का पूरा अंदर चला गया। तो उसे थोड़ी तकलीफ़ जरुर हुई.. लेकिन वो हर रोज चुदने वाली थी तो उसे इतना दर्द नहीं हुआ फिर में उसको लिप किस करते करते बहुत तेज़ी से धक्के देकर चोद रहा था। फिर हम ऐसे ही चुदाई करते हुए एक दूसरे की तरफ देखकर हंस भी रहे थे। तो मैंने उसको बोला कि वाह जान क्या चूत है तुम्हारी? और में पहली बार किसी की बीवी को चोद रहा हूँ.. मुझे इस चुदाई में बहुत मज़ा आ रहा है। तो वो भी हंसने लगी और सिसकियाँ लेने लगी और लगातार 15-20 मिनट धक्के देने के बाद में झड़ने वाला था और उस दौरान वो दो बार झड़ चुकी थी। फिर मैंने उसे तेज तेज धक्के देकर चोदना शुरू किया और में थोड़ी ही देर में उसकी चूत में झड़ गया.. मेरे लंड से एक एक गरम वीर्य की बूंद उसकी चूत में टपकने लगी और उसके चेहर से साफ दिखने लगा था कि वो मेरी इस चुदाई से कितनी संतुष्ट है। तो अब हम दोनों ऐसे ही एक दूसरे की बाहों में लिपटकर लेटे रहे.. क्योंकि हम दोनों उस चुदाई से बहुत थककर पसीना पसीना हो गये थे। फिर कुछ देर बाद हम उठकर फ्रेश हुए और हमने खाना खाया और उस दिन हमने दो बार और चुदाई की। दोस्तों अभी वो गुजरात में नहीं है.. लेकिन वो जब तक यहाँ पर थी हमने बहुत समय तक जमकर चुदाई की और आज भी में उससे ऑनलाईन बातें करता हूँ और हम बहुत मज़े करते है ।।

धन्यवाद …

3 comments

  1. girls whom want to sex fully please contact me 7284884188

  2. Wah dost maza aa gaya