Home / देवर भाभी / भाभी की गांड की चटनी- Bhabhi ki gaand ki chatni

भाभी की गांड की चटनी- Bhabhi ki gaand ki chatni

प्रेषक : राज …

हैल्लो फ्रेंड्स.. में राज आप सभी के सामने अपनी एक और हॉट कहानी लेकर आया हूँ। दोस्तों में आप सभी को अपना परिचय करवा देता हूँ.. मेरा नाम राज है और में अहमदाबाद का रहने वाला हूँ। में 3rd साल बी-कॉम में पढ़ाई कर रहा हूँ और मेरी उम्र 20 साल है। में जब भी किसी लड़की को चोदता हूँ तो उसको जन्नत की सेर करा देता हूँ और एक या दो घंटे तक लड़की को छोड़ता नहीं हूँ। मुझे जब तक उसको चोदने से पूरी तरह सन्तुष्टि नहीं मिलती में बस उसे चोदे ही जाता हूँ। मेरे लंड का साईज़ 8 इंच लंबा 3 इंच मोटा है।

दोस्तों AntarvasnaSEX.Net के बारे में मेरे एक फ्रेंड ने मुझे बताया और फिर में इसका दीवाना हो गया में दिन रात जब भी समय मिलता इस पर कहानियाँ पड़ता और कभी कभी मुठ भी मारता और यह मेरी आज की कहानी को पड़कर ही आपका पानी निकल जाएगा.. तो फिर में जब चोदूंगा तब क्या हाल होगा आप खुद ही सोच लेना। दोस्तों मैंने मेरी भाभी को चुदाई के लिये पटा लिया था और उनकी चूत को कई बार चोद भी चुका था। अब में आज आपको बताने जा रहा हूँ कि कैसे मैंने भाभी की गांड फाड़ डाली। दोस्तों एक दिन में भाभी का कॉल आया..

भाभी : हैल्लो.. क्या कर रहे हो?

में : बस आपको ही याद कर रहा हूँ।

भाभी : अच्छा.. तो फिर आज का क्या प्लान है?

में : बस आपको आज और भी जमकर चोदना और सन्तुष्टि देना का?

भाभी : ठीक है तो आज एक बजे मेरे घर पर आ जाना।

में : ठीक है भाभी।

फिर में भाभी के घर पर जाने के लिए तैयार हो गया और मैंने भाभी के घर पहुंच कर डोर बेल बजाई.. तो भाभी ने दरवाजा खोला.. वाह! दोस्तों में तो उसे देखता ही रह गया.. वो नीले कलर की जालीदार मेक्सी में क्या सेक्सी लग रही थी? फिर मैंने उसको देखकर सोच लिया था कि आज में इस साली की चूत और गांड दोनों फाड़ डालूँगा। फिर वो बोली कि क्या बस ऐसे ही देखोगे या कुछ करोगे भी? तो मैंने कहा कि जानेमन आज तो में तुझे छोड़ने वाला नहीं हूँ.. तू कितना भी चिल्लाए या आंसू निकाले.. आज में तुझे फाड़कर रख दूँगा। फिर वो बोली ओह बड़े आए फाड़ने वाले.. कहने से कुछ नहीं होता कुछ करके भी दिखाओ तब मुझे पता चले कि इस लंड में कितनी ताकत है? तो मैंने झट से उसको पकड़कर मेरी और खींच लिया और किस करने लगा। वाह क्या होंठ थे उसके? यारों इतने रसीले की उन्हें छोड़ने का मन ही नहीं कर रहा था। फिर वो बोली कि चलो अब बेडरूम में चलते है.. तो मैंने उसे अपनी गोद में उठाया और किस करते करते बेडरूम में गया और उसे बेड पर फेंक दिया और उसके ऊपर आ गया।

तो वो बोली कि क्यों आज बहुत जोश में लग रहे हो राज। फिर में उनको किस करता रहा.. क्या मुलायम होंठ थे उनके कि बस पूछो मत। फिर में धीरे धीरे उनकी गर्दन पर और उनकी छाती पर किस करने लगा और उनके 36 के बूब्स दबाने लगा। उस जगह पर मेरा हाथ लगते ही उनके बूब्स के निप्पल टाईट होने लगे। तो में थोड़ा और नीचे आ गया और उनकी नाभि को चूमने लगा। दोस्तों में तो उनकी जांघो को चूमते हुए फिर उनकी चूत के ऊपर से ही रगड़ने लगा और वो सिसकियाँ भरने लगी और वो कहने लगी हाँ बहुत अच्छे.. बस ऐसे ही लगे रहो ऊओसुउउउ अह्ह्ह। फिर मैंने मेक्सी का बूब्स वाला हिस्सा खोल दिया और मैंने देखा कि उसके एकदम सफेद बूब्स थे उनको देखकर किसी के भी मुहं में पानी आ जाए फिर मैंने बूब्स को मुहं में ले लिया और चूसने लगा मुझे बहुत मज़ा आने लगा और वो भी सिसकियाँ लेने लगी अहह उह्ह्ह राज चूसो इनको और चूसो उउईईइ अह्ह्ह उनके निप्पल एकदम गुलाबी थे और में मुहं में लेकर चूस रहा था और बहुत ज़ोर से बूब्स को दबा रहा था।

तो वो बोली कि अह्ह्ह प्लीज थोड़ा धीरे करो बहुत दर्द हो रहा है फिर नाभि को चूसते हुए मैंने उनकी मेक्सी का नीचे का हिस्सा भी उतार दिया और उसकी चूत यारों एकदम साफ शेव की हुई थी। में झट से उनकी चूत को चाटने लगा और वो मेरा मुहं अपनी चूत पर दबा रही थी और चिल्ला रही थी। आह्ह राज और ज़ोर से अह्ह्ह उह्ह्ह्हऑश माँ मर गई अह्ह्ह फिर क्या था वो झड़ गई और फिर उसने मुझको लेटा दिया और धीरे धीरे मेरे कपड़े उतारने लगी और मुझे किस करने लगी। फिर में सिर्फ अंडरवियर में था और वो मेरे लंड को अंडरवियर के ऊपर से ही हिलाने लगी और फिर मुहं में लेने लगी फिर झट से उसे उतार दिया और मेरा 8.5 इंच का लंड देखकर उसके मुहं पर एक ख़ुशी सी नजर आने लगी और वो उसे बस देखे ही जा रही थी। तो मैंने झटके से उसके मुहं में लंड को डाल दिया और वो ना ना करती रही.. लेकिन में कहाँ सुनने वाला था और उसके मुहं में मेरा पूरा लंड समा भी नहीं रहा था.. लेकिन फिर भी वो उसे लोलीपोप की तरह चूसने लगी और मेरा बुरा हाल होता गया.. वो बहुत ज़ालिम की तरह मेरा लंड चूस रही थी। वाह! दोस्तों में क्या बताऊँ में तो जन्नत में था और फिर 5 मिनट बाद में उसके मुहं में झड़ गया.. लेकिन फिर भी उसके मुहं को पकड़कर चोदने लगा और उसके मुहं से पुच पुच की आवाज आने लगी.. उसकी आँखे फटी की फटी रह गयी और वो मुझसे दूर होने की कोशिश करने लगी। में उसके मुहं में लंड को आगे पीछे करे ही जा रहा था और कुछ देर के बाद में बेड पर लेट गया और वो मेरा सारा वीर्य पी गई और मेरा लंड फिर से मुहं में लेकर साफ करने लगी और उसने फिर से मेरा लंड खड़ा कर दिया और बोली कि राज मुझसे अब नहीं रहा जा रहा.. प्लीज अपनी इस रांड को चोद दो और फाड़ दो उसकी यह प्यासी चूत। तो मैंने कहा कि थोड़ा सब्र रखो मेरी जान और में उसकी चूत को चाटने लगा.. दो तीन मिनट चाटने के बाद लंड को उसकी चूत पर रखा और ज़ोर से झटका लगाया तो वो ज़ोर से चिल्ला गई अह्ह्ह ऑश माँ मर गई.. राज थोड़ा धीरे करो.. प्लीज यार तुम जब भी चोदते हो तो नानी याद दिला देते हो.. प्लीज थोड़ा धीरे से करो। तो मैंने कहा कि तभी तो चुदाई का मज़ा आता है मेरी जान.. फिर और ज़ोर से मैंने दूसरा झटका लगया और मेरा पूरा लंड उसकी चूत की दीवारों को चीरता हुआ अंदर चला गया और वो चीखने चिल्लाने लगी और उसकी आँख से आंसू बाहर आ गये और में उसके होंठो को किस करने लगा और जल्दी जल्दी धक्के मारता रहा और वो चिल्लाती रही कि मार डाला.. प्लीज थोड़ा धीरे कर अहह उह्ह। दोस्तों ये कहानी आप AntarvasnaSEX.Net पर पड़ रहे है

फिर मैंने उसको खड़ा किया और उसका एक पैर ऊपर किया और मेरे कंधे पर रख लिया.. वो बोली अरे वाह आज तो नयी नयी पोज़िशन बना रहे हो.. लेकिन प्लीज राज थोड़ा धीरे करो और मैंने ज़ोर से धक्का देकर लंड उसकी चूत में डाल दिया वो चिल्लाने लगी और मुझसे चुदने लगी अह्ह्ह माँ मर गई अह्ह्ह प्लीज बाहर निकालो.. प्लीज निकालो और में झटके देता रहा। फिर वो झड़ गयी और थोड़ी बेहोश जैसे हो गयी और मैंने चूत से लंड को बाहर निकाला और उसके मुहं में डाल दिया और लंड को मुहं में धक्के देकर चोदने लगा और फिर से मुहं में सारा माल डाल दिया। हम दोनों बेड पर लेट गये। फिर थोड़ी देर बाद वो मुझे किस करने लगी और बोली कि आज बहुत दर्द हुआ राज.. लेकिन मज़ा भी बहुत आया.. चलो अब में फ्रेश हो जाती हूँ और वो बाथरूम में गई और में भी उसके पीछे गया। तो वो मुझे देखकर बोली कि प्लीज राज अब नहीं.. मुझमें और ताक़त नहीं है प्लीज़। तो मैंने कहा कि अरे चुदाई जितनी ज़्यादा हो उसकी अगली चुदाई में उतना ही ज्यादा मज़ा आता है मेरी जान।

फिर में उसके बूब्स को चूसने लगा और थोड़ी देर बाद मैंने उसे लंड की तरफ़ इशारा किया और वो उसको चूसने लगी। मैंने कहा कि में आज तुम्हारी गांड मारना चाहता हूँ। तो उसने झट से लंड को बाहर निकाला और बोली कि नहीं राज.. तुम चूत में डालकर हालत खराब कर देते हो और जब गांड में डालोगे तब मेरा क्या होगा? में तो मर ही जाऊंगी और शायद जिंदा बची तो ठीक से चल भी नहीं पाउँगी। फिर मैंने कहा कि अरे जान ऐसा कुछ नहीं होगा.. सिर्फ़ थोड़ा सा दर्द तो होगा.. लेकिन उसके बाद मज़ा भी बहुत आता है और वो फिर भी ना ना करने लगी मैंने और समझाया.. लेकिन फिर भी ना। तो मैंने कहा कि अरे यार एक बार ट्राई तो करो अगर तुम्हे ज्यादा दर्द होगा तो में बाहर निकाल दूँगा। तभी उसने कहा ठीक है.. लेकिन थोड़ा धीरे धीरे ही डालना। फिर क्या था मैंने उसकी 36 की गांड पर एक ज़ोर से थप्पड़ मारा और देखा वो एकदम लाल हो गई थी और में उसको बेडरूम में ले गया और उसकी गांड को थोड़ा चाटा और गांड में एक उंगली डाल दी। वो चिल्ला उठी और बोली कि देखो राज एक उंगली से इतना दर्द हो रहा है तो तेरा लंड जाने से मेरी तो पूरी की पूरी गांड फट जायेगी। फिर मैंने कहा कि क्या यहाँ पर लोशन है? तो वो बोली कि हाँ.. वहाँ पर वो ड्रा खोलो और मैंने लोशन निकाला और उसकी गांड के छेद पर लगा दिया और उसने मेरे लंड को मुहं में ले लिया और थोड़ा मेरे लंड पर लगा दिया। फिर मैंने उसे डॉगी स्टाईल में होने को कहा वो बोली कि ठीक है.. लेकिन राज प्लीज धीरे धीरे। तो मैंने लंड को उसकी गांड के छेद पर रखा और धीरे से धक्का दिया तो मेरा आधा टोपा उसकी गांड में जा चुका था और वो बहुत ज़ोर से चिल्ला रही थी। राज प्लीज़ अह्ह्ह अईईईई में मर गई अहह बाहर निकालो प्लीज़ मैंने सोचा अगर धीरे धीरे डालूँगा तो यह डालने नहीं देगी और उसे दर्द भी ज्यादा होगा और मैंने एकदम ज़ोर से झटका लगाया तो आधा लंड उसकी गांड में चला गया और उसकी हालत देखने जैसी थी। दर्द के मारे वो मुझसे छूटने की कोशिश कर रही थी और उसकी आखों में से आंसू निकल रहे थे और वो मुझे गालियां दे रही थी और बोल रही थी अरे मादरचोद छोड़ मुझे.. में मर गयी, प्लीज भगवान के वास्ते अहह मुझे छोड़ दो प्लीज। में उसके बूब्स को पकड़कर दबा रहा था। फिर मैंने एक और ज़ोर से झटका लगाया तो मेरा पूरा का पूरा लंड उसकी गांड में चला गया और वो बहुत ज़ोर से चिल्लाने लगी अह्ह्ह माँ मर गई और थोड़ी देर बेहोश जैसी हो गई और में भी वैसे ही पड़ा रहा। फिर दो तीन मिनट के बाद उसको होश आया और वो बोली कि राज आज बस बहुत हुआ.. प्लीज इसे बाहर निकालो।

तो में बिना कुछ सुने लंड को धीरे धीरे आगे पीछे करने लगा जिससे थोड़ी देर बाद उसे भी मज़ा आने लगा और वो खुद ही अपनी गांड को आगे पीछे करने लगी और बोली कि राज बहुत मज़ा आ रहा है फाड़ दो आज मेरी गांड। तो क्या अब मैंने भी ज़ोर ज़ोर से झटके लगाने शुरू कर दिए और वो चिल्लाने लगी अह्ह्ह उह्ह्ह हाँ और ज़ोर से मज़ा आ गया राज.. आज में सातवें आसमान पर हूँ उह्ह्ह ह्म्‍म्म्म। तो मैंने लंड को बाहर निकाला और देखा तो उसकी गांड का छेद बड़ा सा हो गया था.. फिर लंड को उसके मुहं में दिया और फिर में लेट गया और उसे मेरे ऊपर बैठने को कहा वो अपनी गांड का छेद लिए मेरे लंड पर बैठ गई और मैंने झट से उसकी कमर पकड़कर आधा लंड उसकी गांड में डाल दिया.. वो चिल्लाने लगी अहह माँ मरी थोड़ा धीरे और में उसकी कमर पकड़कर ज़ोर ज़ोर से झटके लगाता रहा फिर 10 मिनट बाद में झड़ गया और सारा वीर्य उसकी गांड में डाल दिया। तो उसने मेरे लंड को साफ कर दिया और हम लेट गये.. वो बोली कि राज गांड मरवाने में बहुत मज़ा आता है। अगर आज तुम ना होते तो में यह सुख शायद कभी नहीं ले पाती। मुझे आज बहुत मज़ा आया.. आज से तुम मेरी गांड चोदते रहना ।।

धन्यवाद …

One comment

  1. भारत में पहली बार घर बैठे कमाये 15,000 – 50,000 हर महीने बिना किसी खर्च के |
    मोदी जी द्वारा चलाए गए Digital india से जुड़े
    ओर कमाए हर महीने 50,000 रुपए To Send”JOIN” on whats app no(9812394259)