Home / आंटी की चुदाई / बलविंदर का चक्कर

बलविंदर का चक्कर

प्रेषक : निखिल

हैल्लो दोस्तो में निखिल हाज़िर हूँ। एक नई स्टोरी लेकर जो कि मेरी स्टोरी नहीं है ये स्टोरी मेरे फ्रेंड बलविंदर की है। जो कि अंडरगार्मेंट्स का काम करता है। में अपना सारा अंडरगार्मेंट्स और नाइटवियर उसी से खरीदता हूँ। दोस्तों जब मेरी शादी थी, तब बलविंदर ने ही मुझको बहुत सेक्सी ब्रा और पेंटी दी थी।

दोस्तों एक दिन शादी के बाद में उसकी शॉप पर गया उसके पास कुछ नया मेटीरियल आया था। उसने मुझको मसेज कर दिया था कि शॉप पर अंडरगार्मेंट्स और नाइटवियर की नई रेंज आई है।

जब में उसके पास गया तो मैंने देखा कि वो शॉप पर बहुत उदास बैठा हुआ था। तभी मैंने उससे पूछा कि क्या बात है? तो वो बोला कि कोई बात नहीं है फिर मेरे थोड़ा ज़ोर देने पर वो बोला कि तुम से क्या छुपाना बात पांच महीने पुरानी है। जब मेरे पास एक लड़की आती थी जिसका नाम अंजली था। पता नहीं उस लड़की को क्या दिखा कि वो हर रोज़ शॉप पर आने लगी। वो यहाँ पर किसी कॉलेज मे नर्सिंग कर रही थी। अब वो हर रोज़ शॉप पर आने लगी लेकिन वो पर्चेज कुछ नहीं करती थी। वो यहाँ पर आकर कभी कुछ देखती कभी कुछ और बस उसको यहाँ पर डेली दो घंटे बिताने थे। उसे तकरीबन 15 दिन हो गये अब में उससे बोर होने लगा में कहने लगा कि ये लेती तो कुछ भी नहीं है, लेकिन हमारा टाईम बहुत खराब करती है तो मेरी सेल्स गर्ल बोली सर जी वो यहाँ पर कुछ खरीदने करने थोड़ी आती है।

तो मैंने कहा कि सीमा (सीमा मेरी सेल्स गर्ल का नाम है) तो वो यहाँ पर क्या करने आती है? वो कहने लगी सर जी वो तो यहाँ पर आपको मिलने आती है। तभी मैंने कहा कि लेकिन में तो शादीशुदा हूँ, फिर सीमा बोली कि सर जी लेकिन उसको तो नहीं मालूम। मैंने कहा कि कल तुम उसको मेरे बारे मे सब कुछ साफ साफ बता देना। सीमा बोली कि में नहीं बताउंगी और आप भी उसको कुछ नहीं बताना कि आप शादीशुदा हो। तभी मैंने कहा क्यों तो वो बोली कि सर जी आप भी क्या सारा दिन काम ही काम करते हो, कुछ आपको एन्जॉय भी करना चाहिए। जब लड़की खुद आपके पास चलकर आ रही है तो आपको किस बात का डर। मैंने कहा कि बात तो तुम्हारी बिलकुल सही है।

वैसे मेरी पर्सनल्टी बहुत अच्छी है और में बहुत हेंडसम भी हूँ लेकिन आज तक में कभी भी लडकियों के चक्कर मे नहीं पड़ा। मेरी हाईट 5’7″ इंच है और मेरी बॉडी काफ़ी सुडोल है। शुरू से ही मुझे मन लगाकर काम करने का शौक था इसलिये मैंने अपनी फेमेली कारोबार को सम्भाला और दादा जी की डेथ के बाद सारा करोबार मुझ पर ही था। मैंने अपनी मेहनत से अपना कारोबार सिटी मे नंबर वन कर दिया था। मेरे अंदर इतनी खूबिया है जो हर एक अच्छे लड़के में होनी चाहिए।

अंजली ने ये सभी बाते सीमा से पूछ ली थी, मेरी बीवी भी कोई खास सुंदर नहीं और मैंने कभी ध्यान भी नहीं दिया, बस टाईम पास हो रहा था। में मन ही मन बहुत खुश था। अगले दिन वो फिर से आई तो मैंने ही उसे अटेंड किया, लेकिन उसने आज फिर कुछ भी पर्चेज नहीं किया अब एक घंटा हो गया तो मैंने पूछा कि मेडम में आपसे एक बात पूछूँ तो वो बोली कि पूछो, तभी मैंने कहा कि में देख रहा हूँ की आप 15 दिन से हमारी शॉप पर आ रही हो और आप पर्चेज कुछ नहीं कर रही हो, आप सिर्फ़ आपका और हमारा दो घंटे टाईम खराब कर रही हो, तो उसके हाथ पैर कांपने लगे वो कहने लगी दरअसल में में ईईइ मैईई में तो वो बोली में आपसे बहुत प्यार करती हूँ।

तो मैंने बोला यही ना, तो वो हंस पड़ी कि आपको ये कैसे पता चला? मैंने कहा कि जितनी आग तुम में है, उतनी आग मुझ में भी लगी हुई है। तभी मैंने उसको कहा कि आई लव यू, तो वो भी बोली कि आई लव यू, तो इस तरह वो रोज़ मुझसे मिलने रोज आती थी। हम दोनों पीछे बैठकर बहुत देर तक बाते करते, फिर में सचमुच उससे प्यार करने लगा था। दोस्तों ये कहानी आप कामुकता डॉट कॉम पर पड़ रहे है।

तभी एक दिन अंजली बोली कि मुझे अंडरगार्मेंट्स चाहिए तो मैंने कहा कि साईज़ तो बताओ उसने बताया कि 32-34-36 साइज़ है मुझे एक इस साईज़ की ब्रा और एक पेंटी चाहिए। फिर मैंने कहा कि कैसी चाहिए तो वो बोली कि जो तुमको अच्छी लगती है वही दे दो। तो मेरे पास एक बहुत ही सेक्सी सी पेंटी और ब्रा का सेट पड़ा हुआ था, रानी शेड की पेंटी उस पर नेट लगी थी और ब्रा पूरी की पूरी ट्रांसपेरेंट थी। मैंने उसको दी तो वो बोली कि ये कितने की है? तो मैंने कहा कि यह मेरी तरफ़ से तुम्हे गिफ्ट है, वो बोली कि में इसे ऐसे नहीं ले जा सकती आपको पैसे तो लेने ही होंगे प्यार अपनी जगह है और शॉप अपनी जगह।

तभी मैंने कहा कि अगर तुम मेरी बीवी होती तो क्या में तुमसे पैसे लेता? तो वो बोली कि में कौन सी तुम्हारी बीवी हूँ, मैंने कहा कि लेकिन में तो समझता हूँ ना, तो वो बोली कि तुम मुझे इतना प्यार करते हो कि मुझको अपनी बीवी की तरह देखना चाहते हो। तो मैंने कहा कि हाँ तो उसने कहा कि चलो फिर जब तुम मुझसे शादी कर लोगे तब तुम मुझसे पैसे मत लेना लेकिन आज तुम इस अंडर गारमेंट्स का पैसा ले लो मैंने कहा ठीक है।

लेकिन एक शर्त पर में तुमसे पैसे लूँगा, वो बोली कि कौन सी शर्त मैंने कहा कि ये ब्रा सेट तुमको मुझे पहनाकर दिखाना होगा वो बोली कि ठीक है, में कल इसको पहनकर आउंगी और तुमको दिखा दूंगी। अब में बहुत एक्साईटेड था, में कल होने का इंतज़ार करने लगा। फिर ठीक दो बजे वो शॉप पर आई तो मैंने कहा कि तुम कैसी हो, तो वो बोली कि में कल का वादा पूरा करने आई हूँ, तुम जल्दी से देख लो फिर मुझे घर पर जाना है। तभी में उसको अपने रेस्ट रूम जो की हमारी शॉप के पीछे है और उसका शॉप से ही रास्ता जाता है। में उसे वहाँ पर ले गया और वहाँ पर हमने सभी तरह की सुख सुविधा का इंतज़ाम कर रखा है।

फिर हम साथ मे जैसे ही अंदर गए तो अंजली देखकर हंसने लग गयी और कहने लगी कि तुम्हारा रूम इतना खूबसूरत है मैंने कहा कि थेंक्स उसने उस दिन पर्पल कलर का सूट सलवार पहना हुआ था, जिसमें वो कयामत लग रही थी। तभी मैंने कहा कि तुम कुछ लोगी तो वो बोली कि क्या है खाने को तो मैंने कहा कि तुम खुद ही फ़्रिज़ में देख लो तो उसने फ्रिज का गेट और जूस निकाल लिया और जूस पीने लगी तो मैंने कहा कि मुझको नहीं पिलाओगी तो उसने कहा कि में दूसरा पेकेट लाती हूँ, तभी मैंने कहा कि में तो यही पिऊँगा तुम्हारा जूठा तो वो कहने लगी कि क्यों मेरा जूठा क्यों पीना है?

तभी तो मैंने कहा कि में तुम से प्यार जो करता हूँ जो तुम्हारा है वही मेरा भी तो है। तो वो कहने लगी कि तुम मुझसे बहुत प्यार करते हो क्या? मैंने कहा हाँ में तुम्हे बहुत प्यार करता हूँ में अपनी जान तक दे सकता हूँ और ले भी सकता हूँ। तो वो बहुत खुश हो गयी और कहने लगी कि जिस काम के लिये आये हो पहले वो करे तो मैंने कहा हाँ। फिर वो खड़ी हो गयी और अपने सूट की चेन पीछे से खोलने लगी जब सारी चेन खुल गयी तो उसने अपना सूट साईड मे रख दिया अब वो सिर्फ़ ब्रा और सलवार में थी और उसके बूब्स उस रानी कलर की ब्रा मे क्या कयामत लग रही थी।

फिर उसने अपनी सलवार के नाड़े की तरफ़ देखा और अपनी सलवार पूरी खोल दी। अब वो मेरे सामने ब्रा और पेंटी मे ही खड़ी हुई थी। तभी वो कहने लगी कि में कैसी लग रही हूँ, तो मैंने कहा कि तुम्हारी बॉडी तो बहुत खूबसूरत है, आई लव यू जान फिर उसने मुझे केट वॉक करके दिखाया तो मेरा तो लंड एकदम खड़ा हो गया। फिर में बेड पर से खड़ा हुआ और अपने कपड़े निकालने लगा इस पर वो बोली कि ये तुम क्या कर रहे हो? तो मैंने कहा कि जितना तुम्हे मैंने देखा है तुम भी मुझे देख लो अब में सिर्फ़ अंडरवियर और बनियान मे उसके सामने था, तभी वो कहने लगी कि बस अब में कपड़े पहन लूँ तो मैंने कहा कि थोड़ी देर और रूको मुझे तुम्हे जी भरकर देखने तो दो, फिर वो मेरे सामने आकर बैठ गयी।

तभी मैंने उसे कहा कि अंजली थोड़ा अपने पैर खोलो। फिर उसने अपने पैर खोल दिए जिससे उसकी पेंटी और साफ दिख रही थी, पेंटी के बीच में से उसकी चूत की साईज साफ दिख रही थी। फिर मैंने कहा कि क्या तुमने शेव की है, तो वो बोली हाँ। मैंने कहा कि मुझे वो देखना है, तभी वो बोली कि क्यों नहीं अभी लो फिर वो एकदम से खड़ी हो गयी और उसने थोड़ा झुककर अपनी पेंटी निकल दी उसकी चूत बिल्कुल पिंक कलर और बहुत बड़ी थी। तभी मैंने कहा कि अब रह क्या गया है, तुम ये ब्रा भी निकाल दो आज में तुम्हे जी भरकर देखूंगा। तो वो बोली कि जो हुक्म मेरे आका और उसने अपने दोनों हाथ पीछे करके अपनी ब्रा कि हुक खोल दी और जब उसने ब्रा अपने बूब्स से हटाई तो क्या बूब्स थे उसके पिंक निप्पल और बहुत बड़ी साईज़ के बूब्स थे। उसके जब वो पूरी नंगी हो गयी तो मैंने अपना बनियान और अंडरवियर भी निकाल दिया अब हम दोनो एक दूसरे के सामने पूरे नंगे थे। लेकिन हम दोनों में एक दूसरे को टच करने की हिमत नहीं थी।

लेकिन आखिर मुझे ही पहल करनी पड़ी। अब वो मेरा 7 इंच लंबे और 2 इंच मोटे लंड को घूर घूर कर देख रही थी और में उसके बड़े साईज़ के बूब्स को घूर रहा था, आखिर हम दोनों ने एक दूसरे की आँखों मे आंखे डाली और एक दूसरे के नज़दीक होने लगे जब हम बिल्कुल एक दूसरे के नज़दीक आ गये तो मैंने अपने होंठ आगे बड़ा दिये और उसके होंठो पर रख दिये फिर उसने अपना हाथ मेरी गर्दन के पीछे रख दिया और मुझे अपनी तरफ़ खींचने लगी मैंने अपने हाथ उसकी नंगी और पतली कमर की तरफ़ बड़ा दिया जिससे उसके बूब्स मेरे चेस्ट पर आकर दब गये।

उसके सॉफ्ट सॉफ्ट बूब्स मेरे चेस्ट के अंदर दब रहे थे, में तो मानो जन्नत में पहुंच गया। बूब्स का क्या मज़ा होता मुझे आज पता चल रहा था मेरी बीवी के बूब्स तो 30 साईज़ के है। अब मुझे बहुत मज़ा आ रहा था और मेरा लंड उसकी चूत, बूब्स को देखकर और भी कड़क हो गया था और उसकी जांघो के बीच तनकर खड़ा हुआ था। फिर में उसकी गोल हिप्स पर हाथ फिराने लगा और फिर धीरे धीरे एक हाथ में उसके बूब्स पर ले गया वो तो बस मेरा लिप्स चूसने मे मग्न थी और में उसके जोर जोर से बूब्स को दबाने लगा तकरीबन बीस मिनट के लिप किस के बाद हमने एक दूसरे को छोड़ा और अपनी आंखे खोलकर एक दूसरे की नज़रो से नज़र मिलाई तो हम दोनो हंस पड़े।

फिर मैंने उसको अपनी बाँहों में उठा लिया और बेड पर जाकर लिटा दिया और उसके सामने अपना लंड लेकर खड़ा हो गया। अब वो थोड़ा थोड़ा मुस्करा रही थी मैंने कहा कि तुम इसको पकड़ो तो उसने अपना हाथ आगे बड़ा दिया और अपने नर्म नर्म हाथ मेरे लंड पर रख दिया। मुझमे तो करंट दोड़ने लगा, उसका भी वही हाल था फिर अंजली लंड को पकड़ कर आगे पीछे करने लगी, में काफ़ी उत्तेजित होने लगा। फिर में उसके ऊपर आ गया और उसका सारा बदन चूमने लगा कभी में उसकी गर्दन चूमता तो कभी उसके लिप्स कभी उसके गाल और कभी उसके बूब्स, बीस मिनट उसको में बूब्स तक चूसने के बाद में नीचे आ गया और उसके बड़े बड़े बूब्स को चूसने लगा मैंने दोनो हाथों से उसके दोनो बूब्स पकड़ रखे थे और उनको ज़ोर ज़ोर से दबा रहा था फिर में उसके बूब्स को चूमते चूमते उसकी चूत पर आ गया और मैंने अपने होंठ उसकी फुद्दी के लिप्स पर रख दिये और में उसकी चूत को ज़ोर ज़ोर से चूसने लगा और उसने अपने दोनो हाथ मेरे सर पर रख दिये और मेरे मुहं को चूत पर जोर से दबाने लगी।

तभी थोड़ी देर बाद मैंने महसूस किया कि वो अपनी जांघो से मेरा सर को दबा रही है। अब में समझ गया कि वो झड़ रही है, फिर उसने कहा कि झड़ रही हूँ और वो झड़ गई में फिर भी उसकी चूत को चाटता रहा और फिर उसने अपने चूत को ऊपर उठा दिया और आहें भरने लगी और मुझे कहने लगी प्लीज बलविंदर अब बस करो, लेकिन मुझे तो चूत चाटने में बहुत मज़ा आ रहा था। फिर दो तीन बार कहने पर मैंने अपने होंठ उसकी चूत से अलग किये तो अंजली की सांस में सांस आई। मेरा लंड पूरा तनकर खड़ा था। में थोड़ा ऊपर उठा और अपने लिप उसके लिप पर रख दिये। उसने अपने सीधे हाथ से मेरा लंड उसकी चूत पर लगाया और थोड़ा पुश किया तो वो दर्द से रोने लगी मैंने कहा कि क्या हुआ तो अंजली बोली कि में पहली बार चुद रही हूँ इसलिये मुझे चूत मे बहुत दर्द हो रहा है।

मैंने कहा कि तुम चिंता मत करो में बहुत धीरे से करूंगा, तो वो बोली कि मुझे बहुत दर्द होता है फिर जब मैंने थोड़ा और ज़ोर लगाया तो वो दर्द से चीख पड़ी। मैंने कहा क्यों चिल्ला रही हो, तो वो बोली कि दर्द बहुत हो रहा है। मैंने कहा कि एक बात कहूँ तो बोली कि बोलो मैंने कहा कि हम ऐसा करते है कि में एक ही जोर के झटके से लंड चूत के अंदर डाल देता हूँ, इससे तुम्हे एक ही बार दर्द होगा तो वो बोली कि नहीं बहुत दर्द होता है, तो मैंने कहा कि देखो अगर धीरे धीरे करेंगे तो दर्द ज्यादा होगा और बार बार होगा इसलिये एक झटके से दर्द भी कम होगा और एक बार ही होगा तो वो बोली कि ठीक है। फिर मैंने कहा कि तुम रेडी हो जाओ तो मैंने कहा कि तुम अपने दोनों पैरो को जितना हो सकता है पूरा खोल दो, तो फिर उसने अपनी टांगे पूरी पूरी खोल दी और मैंने अपना लंड उसकी चूत पर रख दिया और उसके हाथ अपने हाथो में पकड़ लिये जिससे वो नीचे से अपने हाथो से ज़ोर ना लगा सके।

फिर मैंने मौका देखकर एक जोरदार धक्का लगाया और अपना सारा का सारा लंड उसकी चूत में एक बार में ही डाल दिया वो तो बहुत ज़ोर से चिल्लाई लेकिन मुझे उसके चिल्लाने से कोई डर नहीं लगा क्योंकि उसकी आवाज़ कमरे के बाहर नहीं जाती थी। फिर पूरा लंड डालकर में थोड़ी देर रुक गया क्योंकि उसको थोड़ा रिलॅक्स मिल जाए, लेकिन उसकी आंखे खुली थी और उसमे से आँसू निकल रहे थे थोड़ी देर बाद वो रिलेक्स हुई तो मैंने धीरे धीरे धक्के मारने शुरू किये तो वो आहह आहहह करने लगी में ज़ोर ज़ोर से धक्के मार रहा था वो कह रही थी कि मुझे दर्द हो रहा है, तो मैंने कहा कि अंजली कोई बात नहीं है।

तुम्हे अभी दर्द कम हो जाएगा और थोड़ी देर बाद वही हुआ उसका दर्द कम होता होता खत्म हो गया अब वो अपने दोनों हाथ मेरी पीठ के इर्द गिर्द गुमाने लगी और मुझे ज़ोर से दबाने लगी उसके बूब्स मेरे चेस्ट मे टच होने लगे थे और थोड़ी देर में वो अकड़ने लगी तभी मुझे लगा कि उसका काम हो रहा है। अब उसने मुझे इतनी ज़ोर से पकड़ा कि में उससे छूट नहीं सका। अब वो हाँफने लगी और मुझे कहने लगी कि बस करो अब नहीं सहा जाता और मुझे तो बहुत मज़ा आ रहा था और फिर तीन मिनट बाद में भी झड़ने लगा तो मैंने अपना सारा वीर्य उसकी चूत में ही डाल दिया।

अब मेरे माथे के ऊपर पसीना आ रहा था ओर उसके बूब्स पर गिर रहा था पसीना गिरने से वो और मदहोश हो रही थी। में इस तरह उसके ऊपर ही पड़ा रहा, अब में भी हाँफ़ रहा था और अंजली भी हाँफ़ रही थी, हम दोनों को एक दूसरे की धड़कन साफ सुनई दे रही थी। फिर पांच मिनट बाद हम रिलेक्स हुए तो में उसके ऊपर से हटा और साईड मे बैठ गया। मेरी बेड शीट लाल हो चुकी थी हमारी नज़रे मिली तो हम दोनो मुस्करा दिये हम दोनों संतुष्ट थे।

फिर अंजली ने उठने की कोशिश की तो अब उसे उठा नहीं जा रहा था, तो मैंने उसको अपनी बाँहों में लिया और बाथरूम में छोड़ दिया वहाँ पर हम दोनो ने अपने आपको साफ किया और नंगे ही कमरे में वापस आ गये, लेकिन अंजली से अभी भी चला नहीं जा रहा था तो मैंने उसे सहारा देकर बेड पर पहुँचाया तो उसने अपने घर पर फोन किया कि में आज गर्ल होस्टल मे ही रुक रही हूँ और में कल घर आउंगी। मैंने कहा कि तुम आज घर नहीं जाओगी तो वो बोली कि में बाथरूम से बेडरूम तक तो चल नहीं सकती तो घर पर कैसे जाउंगी और मेरे ऐसे चलने से किसी को भी शक हो गया तो फिर वो बोली कि क्या आज रात में तुम्हारे यहाँ पर रुक नहीं सकती हूँ क्या? मैंने कहा क्यों नहीं मेरी तो ख़ुशी के मारे जान निकली जा रही थी।

फिर मैंने कहा हाँ तो वो बोली कि अब सारा टाईम मस्ती ही करते रहोगे कि कुछ खिलाओगे भी मुझे बहुत भूख लगी है। फिर मैंने कहा क्यों नहीं डार्लिंग तभी मैंने सीमा को बुलाया उसको पैसे दिये और दो पॉंड का चॉकलेट केक लाने को कहा तब तक मैंने कपड़े पहने लिये थे, दोपहर का टाईम था में शॉप पर गया और उसे एक सेक्सी सी मेक्सी लाकर दी मैंने कहा कि तुम ये पहन लो और उसने वो मेक्सी पहन ली। क्या लग रही थी रेड कलर की फर वाली मेक्सी थी और साथ में तंग बिकनी भी थी।

फिर तब तक केक आ गया अंजली बोली कि केक क्यों मँगवाया मैंने कहा कि आज हमारा पहला मिलन है ना तो इसको सेलिब्रेट करते है वो खुश हो गयी, फिर हम दोनो ने मिलकर केक काटा मैंने एक टुकड़ा लिया और उसके मुहं में रख दिया। टुकड़ा ज्यादा बड़ा था उसके मुहं मे नहीं आ रहा था तो मैंने अपने होठ उसके होठो पर रख दिये और उसके मुहं से ही केक खाने लगा और केक का टुकड़ा हम दोनो के अंदर चला गया और हमको पता नहीं चला हम पांच मिनट ऐसे ही किस करते रहे फिर मैंने कहा कि अंजली तुम केक खाओ में दुकान का काम देखकर अभी कुछ देर मे आता हूँ।

फिर 30 मिनट बाद में अंदर रूम मे गया तो देखा कि अंजली ने क्रीम क्रीम छोड़ दी थी और सारी ब्रेड खा चुकी थी, तभी मैंने कहा कि यह क्या है? वो बोली कि मुझे भूख इतनी लगी थी कि मैंने सारा केक खा लिया। फिर मैंने कहा वो तो कोई बात नहीं लेकिन तुमने ये क्रीम क्यों छोड़ दी वो बोली कि में क्रीम नहीं खाती मैंने पूछा क्यों? वो बोली कि क्रीम खाने से में मोटी हो जाउंगी तो मैंने कहा कि ये कौन खाएगा तो वो बोली कि तुम खाओगे मैंने कहा ठीक है लेकिन में ऐसे नहीं खाऊंगा वो बोली कि फिर कैसे खाओगे? तो मैंने कहा कि तुम अपने कपड़े निकालो तो उसने अपनी मेक्सी खोल दी अब वो सिर्फ़ रेड कलर की बिकनी में थी।

मैंने कहा कि इसे भी निकालो, तो उसने वो भी निकाल दी तो मैंने उसे पीठ के बल लिटा दिया केक की सारी क्रीम उसकी बॉडी पर, बूब्स पर, फेस पर, गर्दन पर और चूत के आस पास लेग्स पर लगा दी चॉकलेट क्रीम में वो मुझको पूरी चॉकलेट लग रही थी। फिर मैंने भी अपने कपड़े निकाल दिये और उसके ऊपर टूट पड़ा और उसको चाटने लगा। सबसे पहले मैंने उसके होठो पर से क्रीम खाई फिर मैंने नाक पर से क्रीम खाई उसके बाद मैंने उसकी चीन पर से फिर में उसकी गर्दन पर आ गया फिर बूब्स पर से फिर मैंने बूब्स के नीचे से और आस पास से फिर मैंने उसके पूरे बदन पर से क्रीम खाई और सारी क्रीम खा गया।

अब मेरे चाटने से वो भी बहुत गर्म हो चुकी थी और आहें भरने लगी थी, तभी मैंने अपना लंड हाथ मे पकड़ा और उसकी दोनों टॅंगो के बीच आ गया और एक झटका मारा और पूरा का पूरा लंड चूत मे एक बार मे ही डाल दिया, लेकिन इस बार उसको ज्यादा दर्द नहीं हुआ क्योंकि मैंने उसको 45 मिनट चूसा था और हर एक अंग चूसा था जिससे वो बहुत गीली हो चुकी थी।

अब वो धीरे धीरे पूरी गर्म हो चुकी थी और आहें भर रही थी। अब मैंने करीब दस मिनट तक उसके बूब्स को चूसा और फिर अपना एक हाथ उसकी चूत पर रख दिया था और धीरे धीरे चूत को सहलाने लगा था। वो भी पागलो कि तरह आहें भरे जा रही थी। जैसे ही मैंने उसकी चूत पर हाथ रखा तो मुझे थोड़ा गीलापन महसूस हुआ, अब उसकी चूत पूरी तरह गीली हो चुकी थी और वो कामुक होकर मुझे देख रही थी और फिर में भी चूत को देखकर कामुक हो गया था।

अब में उसकी चूत को सहलाने लगा था। अब वो आहें भर रही थी और तभी मैंने उसकी चूत को चाटना शुरू कर दिया, मैंने उसे कहा कि अब तुम्हे भी मज़ा आएगा, अब मैंने पांच मिनट तक उसकी चूत को चाटा क्या मस्त चूत थी उसकी और फिर में खड़ा हो गया था अब वो मेरा लंड देखकर खुश हो गई थी और कहने लगी कि जल्दी लंड डालो, अब मैंने उससे कहा तुम इसे अपने हाथ मे लो तभी उसने मना कर दिया था। फिर मैंने उसकी चूत मे अपनी उंगली डाली उसकी चूत एकदम टाईट थी और जैसे ही मैंने अपनी एक उंगली डाली वो उछल पड़ी थी और कहने लगी कि मुझे बहुत दर्द हो रहा है।

फिर मैंने उसे कहा कि तुम चिंता मत करो तुम्हे कुछ नहीं होगा। तभी मैंने अपना लंड उसकी चूत पर रखा और अंदर घुसाने लगा, लेकिन चूत टाईट होने की वजह से लंड घुस ही नहीं रहा था। फिर मैंने थोड़ा सा कोल्ड क्रीम अपने लंड पर लगाया और फिर थोड़ा उसकी चूत पर भी लगाया था और अब मैंने धीरे से अपने लंड को चूत पर रखकर हल्का सा धक्का दिया और तभी वो बहुत जोर से चिल्ला उठी और रोने लगी और कहने लगी कि प्लीज मुझे छोड़ दो मुझे बहुत दर्द हो रहा है।

फिर मैंने बोला कि कुछ नहीं होगा जानेमन अभी कुछ देर बाद तुम्हे भी बहुत मज़ा आएगा और फिर में उसे किस करने लगा और कुछ देर के बाद मैंने एक जोरदार धक्का लगाया और मेरा लंड आधा उसकी चूत मे चला गया और उसकी चूत से खून निकलने लगा था और वो चिल्ला रही थी प्लीज छोड़ दो, में मर जाउंगी, तभी मैंने उसके मुहं पर अपने मुहं को लगाया और ज़ोर ज़ोर से उसे किस करने लगा।

अब उसके मुहं से आवाज़ नहीं निकली और तभी मैंने एक और जोर का धक्का दिया था, तभी मेरा पूरा लंड उसकी चूत में समा गया और वो दर्द से छटपटा रही थी कह रही थी। धीरे करो प्लीज मुझे बहुत दर्द है। में किस करता रहा और जब वो शांत हुई तभी मैंने धीरे धीरे धक्के लगाने शुरू कर दिये और में अपने एक हाथ से उसके बूब्स को दबाने लगा। उसे भी दर्द कम हो रहा था और उसे भी मज़ा आने लगा था और तभी कुछ देर के बाद वो भी मेरा पूरा पूरा साथ देने लगी। तभी मैंने कुछ देर बाद अपनी रफ़्तार बड़ा दी और वो भी अपने चूतड़ को हिलाने लगी और आईईइ मर गई में चोदो और जोर से चोदो मुझे फाड़ दो आज मेरी चूत को कहने लगी, आज तुमने मुझे चुदना सिखा दिया है। तभी मैंने उसे पूछा क्यों मज़ा आ रहा है ना और तभी उसने कहा कि हाँ अब मुझे बहुत मजा आ रहा है चोदो और जोर से, करीब दस मिनट की चुदाई के बाद उसने मुझे जोर से पकड़ लिया और तभी मैंने फिर अपनी रफ़्तार बड़ा दी करीब पांच मिनट के बाद में झड़ने वाला था और तभी मैंने कहा कि में अब झड़ने वाला हूँ, तभी उसने भी कहा कि में भी अब झड़ने वाली वाली हूँ।

वो कुछ देर के बाद शांत हो गई वो झड़ गई थी। अब में भी झड़ने वाला था तभी मैंने अपना लंड चूत से बाहर निकाला और बेड पर पूरा वीर्य गिरा दिया था। उसने लंड को मुहं में लिया और चूसने लगी और चूस चूस कर उसने पूरे लंड को साफ कर दिया था। अब वो बहुत खुश दिख रही थी। तभी मैंने उससे पूछा क्या तुम्हे मज़ा नहीं आया? उसने कहा कि मुझे आज पहली चुदाई में दर्द के साथ बहुत मज़ा आया, तुम जब कहोगे में मना नहीं करूंगी।

मैंने उसके सर पर किस किया और उसे गुड नाईट बोला और में भी उसके बूब्स पर हाथ रखकर सो गया। उस रात वो मेरे पास ही रही और हमने चार बार सेक्स किया अब वो रोज़ मेरे पास आती है और में रोज़ उसकी चुदाई करता हूँ। अब मुझे डर लग रहा है कि में उसको कैसे बताऊंगा कि में शादीशुदा हूँ और में उसको छोड़ भी नहीं सकता क्योंकि अब में अंजली से बहुत प्यार करने लगा हूँ और वो भी मुझे बहुत प्यार करती है और में उससे शादी करना चाहता हूँ और में सारी लाईफ उसके साथ बिताना चाहता हूँ। लेकिन क्या करूँ ।।

धन्यवाद …

2 comments

  1. Nice story

  2. Nice stories