Home / जवान लड़की / बचपन का मजा

बचपन का मजा

प्रेषक : सूरज
हाय दोस्तो आपका और टाइम ख़राब करने के बजाये स्टोरी की तरफ आता हूँ यह उस वक़्त की बात हे जब मैं 18 साल का था और मुझ पर सेक्स का फुल जोश था. मेंरे घर मैरी कजिन नेहा और उसकी माँ और बडा भाई रहने के लिये आये हुये थे. एक दिन जब मेंरी माँ और नेहा की माँ और भाई कुछ खरीदारी के लिये जाने लगे तो नेहा की माँ मेंरे पास आई और कहने लगी नेहा की तबीयत कुछ ठीक नही हे उसे जुखाम हो रही हैं तुम उसका ख्याल रखना हम उसे घर पर छोड़ कर जा रहे हैं मैने कहाँ आप बिल्कुल फ़िक्र ना करे मैं देख लूँगा नेहा की उम्र उस वक़्त 18 साल थी मगर उसकी उठान बिल्कुल 22 या 23 साल की लड़की की तरह थी मैने घर वालो के जाने के बाद अपने कंप्यूटर पर एक ब्लू फिल्म की सी.डी लगा ली और देखने लगा थोडी देर के बाद मेंरे रूम की घन्टी बजी तो मैने सी.डी बंद करके दरवाज़ा खोला तो देखा नेहा दरवाज़े पर खडी थी वो कहने लगी मुझे अकेले मैं डर लग रहा है मैं आपके पास बैठ जाऊं मैने कहाँ हाँ क्यो नही आ जाओ. वो मेंरे बेड पर आकर बैठ गई उसने फ्रोक पहन रखा था और नीचे सिर्फ़ चड्डी पहन रखी थी मैं उसे देखता ही रह गया.
थोडी देर तक इधर उधर की बाते करने के बाद वो कहने लगी मुझे बाथरूम जाना हे मैने कहा हाँ चली जाओ वो तुरन्त बाथरूम की तरफ भागी मगर रास्ते ही मैं उसे एम.सी आ गई और उसकी चड्डी और फिरोक गंदी हो गई बाथरूम मैं जाकर उसने अपनी फिरोक और चड्डी को धोया और फिर मुझे आवाज़ देकर. कहने लगी मेंरे कपड़े गंदे हो गये हैं प्लीज़ आप मुझे दुसरे कपड़े ला दो मैरे रूम से मैने कहाँ इसमें शर्माने वाली क्या बात हे तुम बाहर आ जाओ और खुद ही ले लो मगर वो नही आई तब मै उसके कमरे में जाकर एक फिरोक और चड्डी लाया जब मैं अपने रूम मैं आया तो देखा वो मेंरे कमरे मैं नंगी खडी होकर मैरे कंप्यूटर पर ब्लू फिल्म देख रही थी मैने कहाँ यह क्या कर रही हो तो कहने लगी की आप भी तो देख रहे थे. जब मैने देखा की वो खुद राज़ी है तो मैने कहाँ तुमको अच्छी लगती है तो कहने लगी हाँ मगर मैने आज तक किसी लड़के को नंगा नही देखा मैने कहाँ तुम्हारी यह इच्छा मैं पूरी कर देता हूँ और फिर मैने उसे अपनी गोद मैं नंगा ही बैठा लिया और हम दोनों ब्लू फिल्म देखने लगे फिल्म देखते हुये मेंरा भी लंड तन गया और मैने आहिस्ता आहिस्ता उसके बोबो और चूत पर हाथ फैरना शुरु कर दिया उसे मज़ा आने लगा कुछ देर बाद जब वो पूरी तरह से गरम हो गई तब उसने मेंरी कमीज़ और पैंट उतार दी और मैने भी अपनी चड्डी उतार कर अपना लंड उसके हाथ में दे दिया वो उसे घूर कर देखने लगी और कहने लगी यह क्या चीज है और यह किस काम आती है मैने कहा यह इस सुराख (छेद की तरफ इशारा करके) मैं जाती हे और फिर बहुत मज़ा आता है तो वो कहने लगी यह सुराख तो बहुत छोटा है इसमें यह कैसे जाता होगा मैने कहाँ अभी बताता हूँ और फिर मैने उसे अपनी गोद मैं बिठा कर अपना लंड उसकी चूत के सुराख पर रखा और कहाँ अब आहिस्ता से इस पर बैठ जाओ वो कहने लगी मुझे तकलीफ़ हो रही है.
मैने कहाँ थोडी देर होगा फिर मज़ा आयेगा मगर. उसे ज़्यादा दर्द हो रहा था तो मैने टेबल से ऑयल की बोतल उठाई और अपने लंड और उसकी चूत पर अच्छी तरह से लगाया और एक चॉकलेट का पैकेट खोल कर उसे खाने के लिये दिया और कहाँ इसे आराम से खाओ मैं तुम्हारा मज़ा बड़ाता हूँ और फिर उसे नीचे लिटाकर उसकी चूत मैं अपना लंड डाल कर एक झटका दिया मेरा 4 इंच के लंड का 1 इंच हिस्सा उसकी चूत मैं चला गया मैने जब उसका चेहरा देखा तो उसे ज़्यादा दर्द नही हुआ तो मैने आहिस्ता से अपना लंड और अंदर डालना शुरु कर दिया. अब मेंरा लंड 3 इंच तक अंदर चला गया था. नेहा ने चोकलेट खा ली थी और अब उसे दर्द हो रहा था और वो मुझसे अपना लंड बाहर निकालने के लिये कहने लगी मैने आहिस्ता आहिस्ता लंड को अंदर बाहर करना शुरु कर दिया.
कुछ देर के बाद उसे भी मज़ा आने लगा अब मैने उसके होठों पर किस करना शुरु कर दिया और अपने होठों से अच्छी तरह उसके होंठ मिलाते हुये और चुमते हुये एक जोरदार झटका मारा तो मेंरा पूरा लंड उसकी चूत मैं चला गया उसके मुहँ से भयानक चीख निकली जो मेंरे होठों की वजह से अंदर ही दब गई वो बुरी तरह से तड़पने लगी उसकी चूत की सील टूट चुकी थी और खून आ रहा था मैने कुछ देर तक अपना लंड उसी स्टाइल मैं रखा और उसे किस करने के साथ साथ उसके बोबे भी दबाता रहा कुछ देर बाद जब उसे भी मज़ा आने लगा तब मैने अपना लंड आगे पीछे करना शुरु कर दिया तक़रीबन 10 मिनिट के बाद उसकी चूत से गरम गरम पानी निकल आया और वो ठंडी पड गई मगर मैं अभी झड़ा नही था मैने उसे जोर जोर से चोदना शुरु कर दिया वो कहने लगी मुझे बाथरूम जाना है मुझे पेशाब आ रही है मैने कहाँ यहीं कर दो तो वो कुछ देर तक सहन करती रही और फिर उसने पेशाब नीचे ही कर दी. मगर मैने उसे छोड़ा नही और चोदता रहा और फिर कुछ देर के बाद मैं भी झड़ गया और फिर मैने उसको पेट के बल लेटाकर उसकी गांड का छेद देखा जो की एम.सी की वजह से काफ़ी गंदा हो गया था मगर उसका साइज़ काफ़ी बड़ा था मैने अपना लंड जो की अब फिर से चुदाई के लिये तैयार था उसे उसकी गांड के होल मैं डालना शुरु कर दिया नेहा कहने लगी यह आप क्या कर रहे हो मुझे पोटी भी आ रही है और तकलीफ़ भी हो रही है मैने कहाँ यहाँ डालने से तुम्हारी पोटी आना बंद हो जायेगी और फिर अपने लंड को आहिस्ता से उसके सुराख मैं डाल कर धक्का मारा तो मेंरा लंड 1 इंच अंदर चला गया.
उसकी गांड में एम.सी की वजह से काफ़ी चिकनाहट थी और मेंरा लंड आराम से अन्दर जा रहा था मैने यह देख कर अपना लंड आहिस्ता आहिस्ता पूरा उसकी गांड मैं डाल दिया और अब आहिस्ता आहिस्ता उसकी गांड मारने लगा मुझे बहुत मज़ा आ रहा था और अब नेहा को भी मज़ा आ रहा था मैने आहिस्ता आहिस्ता रफ़्तार तेज करते हुये उसकी गांड मारना चालू रखा तक़रीबन 15 मिनिट के बाद उसकी चूत ने दोबारा पानी छोड़ दिया अब में पूरे मजे ले रहा था और उसे खूब जोर जोर से धक्के लगा रहा था और फिर कुछ देर के बाद में भी झड़ गया और अपना सारा वीर्य उसकी गांड के अंदर ही डाल दिया और अपना लंड उसकी गांड में ही डला रहने दिया और उसके बराबर में ही लेट गया कुछ देर बाद जब लंड सूकड कर छोटा हो गया तब मैने उसे गोद में उठाया और बाथरूम में ले जाकर उसे भी नहलाया और खुद भी नहाया और फिर बाहर फर्श को साफ़ किया और उसे दूध और शहद पीने को दिया और खुद भी पीया. तो दोस्तों यह थी मेरी जवानी की कहानी अब भी नेहा जब हमारे घर आती है मुझसे ज़रूर चुदवाती है और अब तो उसके 3 बच्चे भी हैं जो बिल्कुल नेहा के मेरे हैं क्योकि उसके पति का लंड बहुत छोटा है और ज़्यादा खड़ा भी नही होता.
धन्यवाद …