Home / Uncategorized / चुदक्कड़ आंटी के साथ चोदा चोदी (Aunty ki Chut Chudai ki Kahani)

चुदक्कड़ आंटी के साथ चोदा चोदी (Aunty ki Chut Chudai ki Kahani)

bhabhi ki gandहैल्लो दोस्तों, मेरा नाम अरमान है और मेरा रंग गोरा और अच्छी बॉडी रखने वाला स्मार्ट लड़का हूँ, मेरे लंड की साईज़ 7 इंच है और में एक कॉल बॉय हूँ, अब में आपको बोर ना करते हुए सीधे स्टोरी पर आता हूँ.

दो दिन पहले मेरे पास एक मेल आया जो एक आंटी का था. में आपको उनका नाम नहीं बता सकता हूँ, मैंने उन्हें मेरे नम्बर भेजे और उनका मेरे पास फोन आया और 2 मिनट बात करने के बाद उन्होंने मुझे अपने घर का पता दिया और वहां बुलाया. फिर में उनके घर जाकर उनसे मिला. उन्हें देखते ही मेरा लंड खड़ा हो गया, वो क्या माल थी? उनकी उम्र 37 साल है जो मैंने बाद में पूछा था और उनका 36-30-38 साईज का क्या फिगर था? ये भी उन्होंने मुझे बाद में बताया था और उन्होंने मुझे ये भी बताया कि उनके पति ऑफिस गये हुए है और उसका पति उससे सेक्स करता ही नहीं है. फिर उन्होंने चाय बनाई और मेरे पास आकर सोफे पर बैठ गयी और इधर उधर की बातें करने लगी.

फिर मैंने उनसे पूछा कि उन्हें किस टाईप का सेक्स पसंद है, हाँ दोस्तों सेक्स भी कई प्रकार का होता है और में हमेशा सामने वाली के हिसाब से सेक्स करता हूँ ताकि उनको पूरा मज़ा आ सके, जैसे की वाइल्ड सेक्स, एक्सोटिक्स सेक्स, एरोटिक सेक्स, रोमांटिक सेक्स आदि.

फिर उन्होंने कहा कि उन्हें रोमांटिक सेक्स पसंद है, उसके बाद मैंने धीरे से एक हाथ उनकी कमर में डाला और उनको अपनी तरफ खींचा और उनके होंठो को अपने होंठो से चूसने लगा और आंटी भी पूरी तरह से मदहोश हो रही थी और में भी हो रहा था और हम दोनों को ऐसा लग रहा था कि हम दोनों जन्नत में है. फिर 20 मिनट तक में उनके हाथ और गाल को किस करता रहा, फिर उन्होंने कहा कि बेड पर चलते है मेरे राजा और हम दोनों उनके रूम में चले गये और रूम में जाते ही मैंने उन्हें अपनी बाहों में ले लिया और उन्हें पागलों की तरह किस करने लगा. फिर उन्होंने मेरा शर्ट खोल दिया और वो मेरे सीने पर किस करने लगी और उसे अपनी गुलाबी जीभ से चाटने लगी.

फिर मुझे बेड पर धक्का दे दिया और मेरे ऊपर आ गई और मेरे होंठो को चूमने लगी और फिर धीरे- धीरे नीचे आती गयी और पेंट के ऊपर से ही मेरे लंड को सहलाने लगी और एक झटके से मेरी पेंट खोल दी. अब में सिर्फ़ चड्डी में था. अब मैंने उन्हें नीचे किया और फिर में उनके ऊपर आ गया और उनकी ग्रीन साड़ी को खोलकर उनके बूब्स को ब्लाउज के ऊपर से ही दबाने लगा और उनके होंठो को, गले को और गर्दन पर किस करता रहा.

अब मैंने उनका ब्लाउज खोल दिया था और उनके मोटे-मोटे बूब्स को देखकर में पागल सा हो गया था. फिर में उनको पेट के बल लेटाकर उनकी पीठ की मालिश करने लगा और किस करने लगा. आंटी मदहोश हो गयी थी और आआअहहहहहहहाहा मेरे राजजजजजज्जा जैसी आवाज़े निकाल रही थी. फिर मैंने उनकी ब्रा, पेटीकोट, पेंटी सब ऊतार दिए और उनकी चूत को चाटने लगा और आंटी कि तो पूछो मत. अब आंटी ने कहा कि जल्दी से मेरी चूत में अपना हथियार डाल दो, अब मुझसे रहा नहीं जाता.

फिर मैंने मेरी चड्डी ऊतार दी और कंडोम पहन लिया फिर में उनकी चूत में अपना लंड डालने लगा, इस उम्र में भी आंटी की चूत टाईट थी तो वो चिल्लाने लगी. आआआआअहह धीरे से धीरे से तो मैंने मेरी स्पीड कम कर दी और धीरे-धीरे धक्के मारने लगा. फिर कुछ देर के बाद उनका दर्द कम हुआ, तो फिर से में अपनी स्पीड में आ गया. फिर 20 मिनट तक लगातार चूत की ठुकाई करते-करते मैंने आंटी को अपने ऊपर आने को कहा और फिर से हमारा प्रोग्राम शुरू किया.

फिर 45 मिनट के बाद आंटी 3 बार झड़ चुकी थी और में भी झड़ने वाला था तो मैंने अपनी स्पीड बढ़ा दी और फिर में झड़ गया और उसके बाद हम 15 मिनट तक नंगे ही एक दूसरे से चिपक कर लेटे रहे और किस करते रहे. फिर 15 मिनट के बाद फिर शुरू हो गये और कल मैंने उस आंटी को 4 बार जन्नत का सफर कराया. फिर आंटी ने कहा कि उनके बच्चे आने वाले है अब तुम जाओ और मुझे मेरी फीस दी और एक किस दी और फिर बुलाने का वादा भी किया, तो ये थी मेरी स्टोरी जो मैंने आपके साथ शेयर की है.