Home / हास्य रस चुटकुले / इसे कहते है शिकार करना: असली शिकारी

इसे कहते है शिकार करना: असली शिकारी

एक बार 3 शिकारी आपस में गप्पे मार रहे थे और अपने अपने शिकार के किस्से बता रहे थे।

पहला : मैं जंगल में शेर का शिकार करने गया और मेरी बंदूक में 2 ही गोलियां थी और अचानक लेफ्ट और राईट से 2 शेर आ गये।

बाकी शिकारी : अच्छा फिर ?

पहला शिकारी : फिर क्या सामने एक पत्थर पड़ा था। मैंने उसको गोली मारी, गोली के 2 टुकड़े हुए और दोनो शेरो को लग गयी और वो मार गये।

दूसरा शिकारी : ये भी कोई शिकार है, मैं बताता हूँ, एक बार मैं शेर को मारने गया। ना मेरे पास बंदूक ना कोई और हथियार और मेरे पीछे एक शेर पड़ गया।

बाकी शिकारी हैरानी से : फिर ?

दूसरा शिकारी : फिर क्या था? मैं बाग के एक पेड़ पे चढ़ गया और मेरा दर्र के मारे सू सू निकल गया और शेर उस सू सू की रस्सी बनाकर ऊपर चड़ने लग गया।

बाकी शिकारी : फिर ?

दूसरा शिकारी : फिर क्या? जैसे ही वो आधे रास्ते में पहुँचा तो मैंने सू सू बंद कर दिया, वो नीचे गिरकर मर गया।

तीसरा शिकारी : अबे ये तो कुछ भी नहीं, एक बार मैं जंगल में गया तो मेरे पास कोई हथियार नहीं था, मैंने देखा की सामने एक शेर सोया पड़ा है।

बाकी शिकारी : फिर ?

तीसरा शिकारी : फिर क्या? मैंने उसकी गांड में उंगली डाल ही, वो बेचारा शर्म से ही मर गया।